खोज

Vatican News
संत मार्था प्रार्थनालय में प्रवचन देते हुए संत पापा फ्राँसिस संत मार्था प्रार्थनालय में प्रवचन देते हुए संत पापा फ्राँसिस  (ANSA)

पवित्र आत्मा हमारे जीवन का नायक है, संत पापा

पवित्र आत्मा हमें अपनी कमजोरियों और मृत्यु से ऊपर उठाता है, हमें इसके लिए अपने जीवन में स्थान देना चाहिए। पवित्र आत्मा के बिना ख्रीस्तीय जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, मंगलवार 30 अप्रैल 2019 (रेई) : हमारे पापमय अस्थित्व और कमजोरियों से हमारा पुनर्जन्म उसी शक्ति के द्वारा हो सकता है जिस शक्ति ने प्रभु येसु को पुनर्जीवित किया। प्रभु ने हमारे लिए पवित्र आत्मा को भेजा पवित्र आत्मा हमें अपनी कमजोरियों और मृत्यु से ऊपर उठाते हैं।" ये बातें संत पापा फ्राँसिस ने मंगलवार को वाटिकन के अपने प्रेरितिक निवास संत मार्था के प्रार्थनालय में पवित्र मिस्सा के दौरान प्रवचन में कही।

संत पापा ने संत योहन के सुसमाचार से लिए गये पाठ (3: 3-15) पर चिंतन किया जहाँ निकोदेमुस और येसु के बीच वार्ता में येसु ने निकोदेमुस के प्रश्नों का उत्तर दिया था। येसु ने स्वर्ग राज्य को देखने के लिए फिर से जन्म लेने की बात कही थी। इसपर निकोदेमुस ने बुढ़ा होने पर किस तरह से माँ के गर्भ में दुबारा प्रवेश कर जन्म लेने की बात कही। संत पापा ने कहा कि इसी तरह का सवाल हम भी पूछते हैं। संत पापा ने पुनरुत्थान और फिर से पैदा होने के संदेश के बीच इस कड़ी को गौर करते हुए कहा, “प्रभु के पुनरुत्थान का संदेश "पवित्र आत्मा का यह उपहार" है। वास्तव में, रविवार को जी उठने के बाद प्रेरितों के सामने पहली बार उपस्थित होकर येसु ने उनसे कहा, "पवित्र आत्मा को ग्रहण करो"। “यह शक्ति है! हम आत्मा के बिना कुछ नहीं कर सकते।” ख्रीस्तीय जीवन केवल अच्छा व्यवहार करने या अच्छा करने का जीवन नहीं है, लेकिन ख्रीस्तीय का जीवन आत्मा से पुनर्जन्म होता है और इसलिए हमें इसके लिए अपने जीवन में जगह बनाना चाहिए।

संत पापा ने कहा पवित्र आत्मा हमें अपनी कमजोरियों और मृत्यु से ऊपर उठाता है, हमें इसके लिए अपने जीवन में स्थान देना चाहिए। येसु दवारा निकोदेमुस को दिया गया संदेश ही पुनरुत्थान का संदेश है हमें पवित्र आत्मा में फिर से जन्म लेना है। वह ख्रीस्तीय जो पवित्र आत्मा को अपने जीवन में स्थान नहीं देता, उसे अपने जीवन में कार्य करने नहीं देता वह ख्रीस्तीय होते हुए भी गैर-ख्रीस्तीय जीवन जीता है। पवित्र आत्मा ख्रीस्तीय जीवन का नायक है। जो हमारे जीवन को बदल देता है। पुनरुत्थान के बाद प्रभु येसु ने जीवन में साथ-साथ चलने के लिए पवित्र आत्मा को दिया। “पवित्र आत्मा के बिना एक ख्रीस्तीय जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती है, पवित्र आत्मा "हर दिन का साथी" है, पिता का उपहार और येसु का उपहार है।”

संत पापा ने अंत में हर किसी से आत्मजाँच करने के लिए आमंत्रित किया, “आइए ,हम खुद से पूछें कि पवित्र आत्मा को अपने जीवन में कौन-सा स्थान देते हैं। “पवित्र आत्मा के बिना कोई भी ख्रीस्तीय नहीं हो सकता।” इस संदेश को समझने के लिए हम प्रभु से कृपा मांगे।

30 April 2019, 16:50
सभी को पढ़ें >