खोज

विश्व में अशांति पर चिन्ता जताते हुए सन्त पापा फ्राँसिस, रोम, 08.12.2022 विश्व में अशांति पर चिन्ता जताते हुए सन्त पापा फ्राँसिस, रोम, 08.12.2022  (ANSA)

शांतिदूत बनें, रोज़ारियो महाधर्मप्रान्त से सन्त पापा फ्राँसिस

आर्जेन्टीना के रोज़ारियो महाधर्मप्रान्त में रोज़री माला विनती को समर्पित मरियम की प्रतिमा के आगमन की 250 वीँ वर्षगाँठ के उपलक्ष्य में सन्त पापा फ्राँसिस ने गुरुवार को एक विडियो सन्देश भेजकर रोज़ारियो महाधर्मप्रान्त के विस्वासियों से आग्रह किया है कि वे शांति के मिशनरी बनें।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

आर्जेन्टीना, शुक्रवार, 9 दिसम्बर 2022 (रेई, वाटिकन रेडियो):  आर्जेन्टीना के रोज़ारियो महाधर्मप्रान्त में रोज़री माला विनती को समर्पित मरियम की प्रतिमा के आगमन की 250 वीँ वर्षगाँठ के उपलक्ष्य में सन्त पापा फ्राँसिस ने गुरुवार को एक विडियो सन्देश भेजकर रोज़ारियो महाधर्मप्रान्त के विस्वासियों से आग्रह किया है कि वे शांति के मिशनरी बनें।  

संत पापा ने महाधर्मप्रांत विश्वासियों को प्रोत्साहित किया कि वे मरियम के साथ-साथ आगे बढ़ते हुए "शांति के अस्त्र" बनें ताकि "हमारे दिलों में, परिवारों में, पूरे समाज में शांति लानेवाले येसु मसीह के सन्देशवाहक बन सकें।"

रोज़री की कुँवारी

माँ मरियम की प्रतिमा स्पेन के काडिट्स शहर से 250 वर्ष पूर्व आर्जेन्टीना लाई गई थी।  13 वीँ शताब्दी में रोज़ारियो महाधर्मप्रान्त में रोज़री की कुँवारी मरियम की भक्ति आरम्भ हुई जिसे सन्त पापा पियुस पंचम से 07 अक्टूबर 1571 ई. में लेपान्तो के युद्ध में ओटोमन साम्राज्य पर पवित्र लीग की शानदार विजय के बाद पुनः प्रवर्तित किया था।

विडियो सन्देश में सन्त पापा फ्रांसिस याद किया कि  07 अक्टूबर 2022 से शुरु और वर्ष भर जारी रहनेवाला रोज़री समारोह "हमारी ख्रीस्तीय जड़ों को मजबूत करने, वर्तमान को भावपूर्ण तरीके से जीने और भविष्य को आशा के साथ देखने के लिए के लिए एक आभारी स्मरण है"।

शांति हेतु मरियम के संग

रोज़री को समर्पित वर्ष के आदर्श वाक्य से प्रेरित होकर संत पापा फ्राँसिस ने कहा, "रोज़री की माता के साथ, आइए हम शांति के लिए मिशनरी बनें" तथा "स्वयं के साथ, परिवार में, पड़ोस में और समाज में शांति से रहने" के महत्व पर ध्यान आकर्षित कराया।

साथ ही सन्त पापा ने आर्जेन्टीना में व्याप्त शहरी हिंसा एवं असुरक्षा पर भी खेद व्यक्त किया जिसमें केवल रोज़ारियो महाधर्मप्रान्त में इस वर्ष के आरम्भ से अब तक 240 व्यक्ति मारे गये हैं। उन्होंने इस तथ्य पर चिन्ता व्यक्त की शहरी हिंसा के शिकार प्रायः निर्दोष बच्चे, महिलाएं एवं वृद्ध लोग होते हैं।  

आर्जेन्टीना के परिवारों के लिये प्रार्थना करते हुए सन्त पापा फ्राँसिस ने रोज़ारियो महाधर्मप्रान्त से आग्रह किया कि वह समस्त परिवारों को पवित्र कुँवारी मरियम के संरक्षण के सिपुर्द करे, "विशेष रूप से उन लोगों को जो निर्धनता, अभावग्रस्तता, रोज़गार की कमी और मादक पदार्थों के व्यसन से पीड़ित हैं।"  

स्थानीय कलीसियाई समुदाय को उन्होंने "व्यावसायिक संस्कृति के प्रोत्साहन लिए" काम करने को आमंत्रित किया, जिसमें उन्होंने विवाह संस्कार, समर्पित जीवन, और ईश्वर की माँ के संरक्षण में पौरोहित्य जीवन को रखा। उन्होंने महाधर्मप्रान्त को आमंत्रित किया वह रोज़ारियो मरिमय तीर्थ सम्बन्धी "उपहार का पुनर्मूल्यांकन" करे। उन्होंने कहा कि कलीसिया और कलीसिया के कार्यकर्त्ताओं को उदार दिल एवं सेवामय चेहरे के साथ प्रत्येक तक पहुँचना चाहिये।    

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

09 December 2022, 10:58