खोज

ऑस्ट्रेलिया में क्रिसमस ऑस्ट्रेलिया में क्रिसमस  (ANSA)

क्रिसमस काल 2022 : हमारा प्रेम सिर्फ शांति के राजकुमार से प्रवाहित होता है

येसु का जन्म ही भय और अनिश्चितता की छाया से अंधेरी दुनिया में सबसे प्रभावशाली चिन्ह और आशा का संदेश है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

क्रिसमस 2022 के संदेश में, ऑस्ट्रेलिया के काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के अध्यक्ष, पेर्थ के महाधर्माध्यक्ष तिमोथी कोस्तेलोए ने कहा है कि शांति के राजकुमार हमारे जीवन में एक छोटे शिशु के रूप में प्रवेश करना चाहते हैं जिन्हें हमारे सहर्ष स्वागत की आवश्यकता है।

महाधर्माध्यक्ष कोस्तेलोए ने वाटिकन रेडियो के श्रोताओं को सम्बोधित करते हुए कहा, पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया के पेर्थ शहर से आप सभी का अभिवादन। जहाँ हम गर्मी की ऊंचाई में क्रिसमस मना रहे हैं। जबकि आपमें से कई श्वेत क्रिसमस की कल्पना कर रहे होंगे। हम यहाँ ऑस्ट्रेलिया में एक गर्म क्रिसमस दिवस का आनंद ले रहे हैं और मध्याह्न भोजन के बाद समुद्र तट पर हैं।

जब हम शांति के राजकुमार का जन्म दिवस मना रहे हैं, हम सभी सचेत हैं कि विश्व के विभिन्न हिस्सों में जंग, हिंसा, अत्याचार या अत्यधिक गरीबी एवं क्षय की स्थिति है। जहाँ हम पूछ सकते हैं कि शांति के राजकुमार को कैसे पाया जा सकता है? प्रभु की शांति की प्रतिज्ञा को क्या हो गया? क्या वे सच्ची आशा न होकर सिर्फ खाली शब्द हैं?

शायद इन परेशान करनेवाले सवालों का जवाब इस अनुभव में मिल सकता है कि ईश्वर जो शांति देते हैं वे वास्तव में एक उपहार हैं। यह मुफ्त में दिया जानेवाला ईश्वर का वरदान है। किन्तु हर उपहार की तरह, इसे कृतज्ञता के साथ स्वीकार किया जाना है। ख्रीस्तीयों के रूप में हमारे लिए ईश्वर का सबसे महान वरदान हैं स्वयं येसु ख्रीस्त। हम उन्हें शांति के राजकुमार कहते हैं लेकिन वास्तव में वे उससे बढ़कर हैं।

वे हमारी शांति हैं। जिनका स्वागत हम अपने मन, हृदय एवं जीवन खोलने और उन्हें अपने जीवन के मार्ग, सत्य एवं जीवन के रूप में स्वीकार करने के द्वारा कर सकते हैं, शांति निर्माता बन सकते हैं जिन्हें वे धन्य कहते हैं। हम ख्रीस्त और सिर्फ उन्हीं का अनुसरण करते हैं क्योंकि वे हमारे मार्ग हैं। हम विश्वास और भरोसे में उन्हें खुद को समर्पित करते हैं क्योंकि वे हमारे सत्य हैं। हम उनके साथ जीते हैं क्योंकि वे ही हमारे जीवन हैं।

उन्हीं से सब कुछ प्रभावित होता है। हमारे परिवार, हमारे मित्रों और हमारे प्रियजनों के लिए हमारा प्रेम, बिना किसी अपवाद के हर इंसान की जन्मजात गरिमा के लिए हमारा सम्मान, आमघर ईश्वर के रचनात्मक प्रेम के लिए हमारा सम्मान। बहिष्कृत, हाशिये पर जीवनयापन करनेवालों एवं गरीबों के लिए हमारी चिंता और संवेदना। और युद्ध एवं उग्रता के एजेंट बनने की अपेक्षा, अपनी इच्छा से शांति निर्माता बन सकते हैं।

ख्रीस्त हमारी शांति के बिना हम अपने आपमें, हमारे परिवारों में, समाज में, कलीसिया या पूरे विश्व में गहरी एवं स्थायी शांति नहीं पा सकते। जब हम चरनी पर पड़े असहाय बालक येसु को देखते हैं, हमारा हृदय खुला हो ताकि हम उन्हें अपने जीवन में ग्रहण कर सकें, जिससे कि हम शांति के उपहार बन सकें, और उसे दूसरों को बांट सकें। ख्रीस्त जयन्ती मुबारक हो।

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

27 December 2022, 16:11