खोज

वाटिकन संचार विभाग के सदस्यों से मुलाकात करते संत पापा फ्राँसिस वाटिकन संचार विभाग के सदस्यों से मुलाकात करते संत पापा फ्राँसिस  (Vatican Media)

फादर जेम्स मार्टिन ˸ सुसमाचार प्रचार में, लोगों से वहीं मिलना जहाँ वे हैं

वाटिकन संचार विभाग की आमसभा में भाग लेनेवाले जेस्विट पादर जेम्स मार्टिन ने कहा है कि काथलिक संचारकों को आज येसु पर ध्यान केंद्रित करने की जरूरत है तथा संचार की सरल भाषा का प्रयोग करते हुए लोगों के पास पहुँचने की जरूरत है जहाँ वे जीते हैं।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन संचार विभाग का दौरा करते हुए संचार उपकरणों को देखने एवं प्रबंधकों तथा सलाहकारों से मुलाकात करते हुए, अमरीकी फादर जेम्स मार्टिन येसु समाजी ने अपना अनुभव एवं सुझाव साझा किया कि कलीसिया किस तरह अधिक प्रभावशाली ढंग से संचार का काम कर सकती है, एवं सुसमाचार के संदेश के साथ विश्वासियों तथा गैर-विश्वासियों तक पहुँच सकती है।  

फादर मार्टिन न्यूयॉर्क में स्थित अमेरिकी मीडिया में वरिष्ठ पत्रकार हैं, जो अमेरिकी पत्रिका सहित विभिन्न प्रकार के प्रकाशनों के साथ काथलिक कलीसिया, विश्वास और संस्कृति पर संपादकीय सामग्री के प्रमुख प्रदाता हैं।

समावेशी एवं निष्ठापूर्ण संचार

संत पापा ने दल को शनिवार को सम्बोधित किया था एवं पत्रकारों की जिम्मेदारी को रेखांकित किया था।

उन्होंने मीडिया के कर्मचारियों को प्रोत्साहन दिया था कि वे हमेशा सच्चाई की खोज करें, द्वेषपूर्ण भाषण (हेट स्पीच) का सामना करें और आवाजहीन लोगों को आवाज दें। पोप ने इस बात पर भी जोर दिया था कि उनके कार्यों में ईश्वर की आवाज गूँजे।

संत पापा ने कहा था कि पत्रकार बनने का अर्थ है "आगे बढ़ना, यात्रा करना, जोखिम उठाना...इस दृढ़ता के साथ कि मैं अपना जीवन... अपने ख्रीस्तीय एवं मानव मूल्यों के साथ साझा कर रहा हूँ।"

आज सुसमाचार को बांटना

वाटिकन न्यूज के मुख्य कार्यालय का दौरा करते हुए फादर मार्टिन ने सभा में की गई बातचीत पर चर्चा की, जिसमें आधुनिक युग में सुसमाचार को उत्तम रूप में किस तरह बांटा जा सकता है, इसपर चर्ता की गई। 

उन्होंने कहा कि सबसे मौलिक स्तर पर सभी प्रकार के संचार को येसु पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए, खासकर, इस समय जब आंतरिक राजनीतिक सवालों में खोने के प्रलोभन हैं और बहस सुसमाचार के मूल संदेश को साझा करने से विचलित कर सकती हैं।

"येसु पर ध्यान केंद्रित करना महत्वपूर्ण है और इस तरह हम लोगों को अपने विश्वास को गहरा एवं नवीकृत करने की ओर जाने में मदद कर सकते हैं। यह प्रयास हमें दलगत मतभेदों से ऊपर उठने में मदद देगा।

लोगों से वहीं मुलाकात करें जहाँ वे हैं

मीडिया के द्वारा विश्वासियों एवं गैरविश्वासियों तक पहुँचने के संदर्भ में फादर मार्टिन ने कहा कि लोग जहाँ हैं वहीं मिलना है, जैसा कि येसु ने अपने पूरे मिशन काल में किया। इसका अर्थ है डीजिटल मीडिया, फेसबुक या ट्वीटर से बढ़कर, शरीरिक रूप से लोग तक पहुँचना।

दूसरा बिन्दु जिसपर उन्होंने जोर दिया, वह है सामान्य भाषा का प्रयोग, दूसरों को समझने और बातचीत करने योग्य भाषा का प्रयोग, चाहे यह बोली जानेवाली हो अथवा मीडिया की भाषा हो, इसने मानवीय बातचीत की एक नई संस्कृति का निर्माण किया है।  

उन्होंने याद दिलाया कि येसु ने मछुआरों की भाषा में बात की जबकि वे एक बढ़ाई के बेटे थे। उन्होंने बहुत ही सरल शब्दों, दृष्टांतों एवं कहानियों का प्रयोग किया।

उसी तरह काथलिक मीडिया विभिन्न रूपों में सोशिल मीडिया से संलग्न होकर लोगों की भाषा में बात कर सकता है, उन्होंने कहा, "और मुझे लगता है कि अगर हम ऐसा करते हैं, लोगों से मिलते हैं जहां वे हैं और उनकी भाषा में बात करते हैं, तो हम गलत नहीं हो सकते।"

फादर मार्टिन जो एलजीबीटी समुदाय के साथ काम करते हैं, मुलाकात की संस्कृति को बढ़ावा देने के मिशन को प्रोत्साहित किया।

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

15 November 2022, 17:13