खोज

यूक्रेन में बमबारी के दौरान मेट्रो में शरण लिए हुए लोग यूक्रेन में बमबारी के दौरान मेट्रो में शरण लिए हुए लोग  (ANSA)

यूक्रेन ˸ लगातार खतरे के बावजूद कारितास की मदद जारी

कारितास डोनेस्क के संचार अधिकारी मिला लेओनोवा ने लोगों से अपील की है कि वे यूक्रेन में युद्ध के अंत के लिए प्रार्थना करें, जब रूस यूक्रेन के कई पश्चिमी शहरों में बम बरसा रहा है। उन्होंने बतलाया कि कारितास ने तब भी लोगों की मदद करना नहीं छोड़ा है जब दूसरे एजेंसियों ने काम करना बंद कर दिया है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

जब यूक्रेन में यूद्ध जारी है, कलीसिया के स्थानीय मानवीय सहायता दल ने यूक्रेन में पीड़ित लोगों की मदद करना नहीं छोड़ा है।  

कारितास डोनेस्क के संचार अधिकारी मिला लेओनोवा, जो इन दिनों निप्रो शहर के बाहर कार्य कर रही हैं, उन्होंने मानवीय सहायता प्रदान करने में कारितास की प्रतिबद्धता की पुष्टि दी है, बावजूद इसके लिए क्षेत्र में रूसी आक्रमण जारी है।   

सोमवार की सुबह यूक्रेन के कई शहरों में बड़ी संख्या में रूसी रॉकेटों ने हमला किया, यहाँ तक कि कई हफ्तों में पहली बार राजधानी कीव के केंद्र पर भी हमला हुआ।

कीएव पर हमला

बम हमले के बाद वाटिकन न्यूज की स्वेतलाना दुखोवेक से बात करते हुए लेओनोवा ने कहा कि जब रॉकेट हमला हुआ तब वे अपने काम से अस्थायी रूप से कीएव में ही थीं।

"मैं एक काम पर कीएव में थी और वास्तव में, यह एक शांत सुबह थी लेकिन जब में मेट्रो में थी तभी धमाके की आवाज सुनी।"

उन्होंने बताया कि उसने जो विस्फोट सुना, वह कीएव के केंद्र से लगभग आधा किलोमीटर दूर था।

लोग मर रहे हैं

मेट्रो में घंटे भर इंतजार करते हुए लेओनोवा ने अपने फोन पर हवाई हमले के रिपोर्ट देखे।  

उन्होंने कहा, "लोग वहीँ पर अथवा सड़कों में मर गये थे। यह खौफनाक था क्योंकि मेट्रो काम करना बंद कर दिया था और यह लोगों के लिए बम शेल्टर बन चुका था।"

उन्होंने कहा, "यह सचमुच खतरनाक था क्योंकि हमें बहुत सारे समाचार दूसरे शहरों से मिल रहे थे – निप्रो, जहाँ मैं रहती हूँ, खारकीव और ओदेस्सा से। उन सभी शहरों में एक ही समय में हवाई हमले हो रहे थे, कई रॉकेट और कई विस्फोटों के साथ।"

उन्होंने बतलाया कि यह अनुभव निश्चय ही खौपनाक था किन्तु यूक्रेन के लोग इससे भयभीत नहीं हैं क्योंकि वे आजाद हैं और नहीं धमकाये जायेंगे।    

हालांकि उन्होंने बतलाया कि कई सहायता संगठन हैं जिन्होंने सुरक्षा कारणों से अपने मानवीय राहत कार्यों को स्थगित कर दिया है। फिर भी, लेओनोवा ने कहा, लगातार खतरों का सामना करते हुए भी कारितास के स्वयंसेवकों एवं कर्मचारियों ने काम करना नहीं छोड़ा है।

उन्होंने बतलाया कि लोग उनके पास आ सकते हैं और कहा कि हमें लोगों के लिए चिंता करना है। साथ ही उन्होंने शांति एवं रूसी हमले के अंत के लिए प्रार्थना करने का आह्वान किया।   

"हमें प्रार्थना करना और काम करना जरूरी है क्योंकि हम इस आक्रमण से सचमुच मुक्त होना चाहते हैं।"

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

11 October 2022, 16:33