खोज

यूक्रेनी शहर खारकीयेव का एक ध्वस्त स्कूल घर यूक्रेनी शहर खारकीयेव का एक ध्वस्त स्कूल घर  (ANSA)

यूरोपीय धर्माध्यक्षों ने यूक्रेन में शांति और यूरोप में एकता की अपील की

यूरोपीय काथलिक धर्माध्यक्षों ने रूस से एक जोरदार अपील की है कि वह यूक्रेन के प्रति अपनी शत्रुता को तत्काल रोके और उन्होंने सभी पक्षों से आग्रह किया है कि वे युद्ध के समाधान के लिए एक साथ कार्य करें।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

यह जोरदार अपील, यूरोप में शांति के लिए पोप फ्राँसिस की बार-बार की गई अपील और प्रार्थनाओं के साथ "पूर्ण सहभागिता" है जिसके द्वारा यूरोपीय संघ के धर्माध्यक्षों ने चिंता व्यक्त की है एवं यूक्रेन के पीड़ित लोगों के प्रति अपनी निकटता प्रकट किया है।

दुःख और चिंता

यह कहते हुए कि वे "रूसी अधिकारियों द्वारा शुरू किए गए क्रूर सैन्य आक्रमण से यूक्रेन के लोगों पर भयानक मानवीय पीड़ा" के लिए गहरा दुःख महसूस करते हैं, धर्माध्यक्षों ने भी अपनी चिंता व्यक्त की है कि हाल की कार्रवाइयों से मानवता के लिए "विनाशकारी परिणामों के साथ युद्ध के आगे बढ़ने का खतरा गया है"”।

बयान को यूरोपीय संघ के धर्माध्यक्षों के 2022 शीत आमसभा की पृष्टभूमि पर जारी कया गया है जिसमें धर्माध्यक्षों ने रूस से सीधे अपील की है कि वह यूक्रेन के खिलाफ शत्रुता रखना बंद करे।  

समझौता

धर्माध्यक्षों ने यह भी अपील की है कि सभी पक्ष, न्यायपूर्ण शांति के 'गंभीर प्रस्ताव' के समझौते के लिए अपने आप को खोलें और संघर्ष के समाधान के लिए एक साथ कार्य करें, जिसके द्वारा अंतरराष्ट्रीय कानून एवं यूक्रेन की क्षेत्रीय अखंडता का सम्मान हो। 

उन्होंने उन लाखों शरणार्थियों एवं युद्ध के पागलपन के कारण पीड़ित लोगों के प्रति अपना सामीप्य व्यक्त किया है।  

यूरोप की एकता

यूक्रेन में जारी युद्ध पर गंभीर चर्चा करते हुए और यूरोप एवं उसके बाहर के नागरिकों को प्रभावित करनेवाले इसके उत्तेजक सामाजिक-आर्थिक प्रभाव, के मद्देनजर यूरोपीय संघ के धर्माध्यक्षों ने "यूरोपीय संघ के गहरे मूल्य और इसके संस्थापक के दृष्टिकोण" पर जोर दिया है। उन्होंने राजनीतिक नेताओं से दृढ़तापूर्वक अपील की है कि वे अपनी एकता बनाये रखें एवं यूरोपीय परियोजना के लिए प्रतिबद्ध बने रहें। 

सभा

शीतकालीन आमसभा जो 12 से 14 अक्टूबर को सम्पन्न हुआ, धर्माध्यक्षों ने तीन अतिथियों का स्वागत किया जिनके साथ उन्होंने अपने विचार साझा किये।

वे थे, यूरोपीय संसद के महासचिव क्लौस वेल्ले, डब्लिन विश्वविद्यालय के मानव मूल्य एवं अंतरराष्ट्रीय संबंधों के धर्म केंद्र के निदेशक फिलीप मैकडोनागह तथा विश्व व्यापार संगठन के महानिदेशक पास्कल लामी। 

यूरोप के लिए ख्रीस्तयाग

सभा के प्रथम दिन, यूरोपीय संघ के धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के अध्यक्ष कार्डिनल जीन क्लौदियो होल्लेरिक ने नोट्र डेम देस विक्तोरिस औ सब्लोन गिरजाघर में यूरोप के लिए ख्रीस्तयाग अर्पित किया।

27 यूरोपीय संघ के सदस्य देशों के धर्माध्यक्षों के प्रतिनिधियों ने ख्रीस्तयाग में भाग लिया।

अगली सभा

यूरोपीय संघ के धर्माध्यक्षों की अगली सभा रोम में होगी जिसमें यूरोपीय संघ के धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के अध्यक्ष का चुनाव किया जाएगा।

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

15 October 2022, 17:36