खोज

यूक्रेन में युद्ध यूक्रेन में युद्ध  (ANSA)

ग्रेट ब्रिटेन एवं आयरलैंड की कलीसियाओं में यूक्रेन के लिए प्रार्थना

यूक्रेन के बूचा शहर में रूसी सेना द्वारा किए गए कथित अत्याचारों पर बढ़ते अंतरराष्ट्रीय आक्रोश के बीच ब्रिटेन और आयरलैंड के ख्रीस्तीयों ने यूक्रेन में शांति हेतु प्रार्थना में भाग लिया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

यूक्रेन, मंगलवार, 4 अप्रैल 2022 (रेई) ˸ रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध के 39वें दिन भी युद्ध थमने का कोई निशान नहीं दिखाई देने पर रविवार को ब्रिटेन एवं आयरलैंड की विभिन्न कलीसियाओं ने शांति तथा युद्ध में पीड़ित लोगों के लिए ख्रीस्तीय एकता प्रार्थना अर्पित की।  

बूचा में अत्याचारों की खबरें

प्रार्थना तब की गई जब कीएव के उपनगर बूचा में रूसी सैनिकों द्वारा कथित रूप से किए गए नागरिकों के सामूहिक हत्या की खबरें फैलनी शुरू हुईं। शहर को यूक्रेनी बलों द्वारा वापस लेने के बाद, विभिन्न मीडिया रिपोर्टों की तस्वीरों में,सैकड़ों लाशों के साथ सामूहिक कब्रें दिखाई दे रही हैं और कई मृत नागरिक सड़कों पर पड़े हैं – कुछ लोगों के हाथ बंधे हुए हैं - जिन्हें निकट से गोली मारे जाने का अनुमान लगाया जा रहा हैं।

यूक्रेन के अधिकारियों ने जाँच शुरू की है और यूक्रेन के विदेशमंत्री दिमित्रो कुलेबा ने कहा कि रूसी सैनिकों ने जानबूझकर शहर में आम नागरिकों को मारा है। राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने अपनी ओर से कहा कि यदि रूसी सेना को अन्य कब्जे वाले क्षेत्रों से खदेड़ दिया जाता है तो नागरिकों के खिलाफ और अत्याचारों का खुलासा हो सकता है।

दहशत और निंदा

इन खबरों के सामने आने के बाद लोगों में दहशत है और इस कृत्य की कड़ी आलोचनाएँ हो रही हैं और संभव है कि रूस पर अधिक कड़े प्रतिबंध लगाये जा सकते हैं जो यूक्रेन के आरोपों से इंकार कर रहा है।

इस खुलासे पर कीएव के महाधर्माध्यक्ष स्वातोस्लाव शेवचुक ने टिप्पणी करते हुए कहा कि "यूरोप ने ऐसा दृश्य केवल नाज़ी से मुक्ति में देखा है। आज इसे यूक्रेन देख रहा है और यह बहुत महत्वपूर्ण है कि इसे पूरा विश्व देखे एवं सुने।"

[कीएव के केंद्र से लगभग दस किलोमीटर दूर, मुक्त किये गये शहर में हमने भयंकर युद्ध अपराध देखा। सैंकड़ों मृत शवों की सामूहिक कब्रें। सड़कों पर बिखरे पड़े मारे गये लोगों के शव, जिनमें से कुछ के हाथ बंधे हुए थे, महिलाओं के नंगे शरीर पड़े हैं जिन्हें जलाने के लिए उनके पास समय नहीं था।]    

उन्होंने कहा, "रूसी सेना को यूक्रेन से लूटी गई संपत्ति को ट्रक लोड करके बाहर ले जाने की कोशिश कर रही रूसी सेना को देखना हृदयविदारक है।”

महाधर्माध्यक्ष शेवचुक

कीएव से अपने दैनिक वीडियो संदेश में यूक्रेन के ग्रीक काथलिक कलीसिया के शीर्ष ने पुनः एक बार अपनी कृतज्ञता व्यक्त की है उन लोगों के प्रति जो विश्व के विभिन्न हिस्सों में यूक्रेन के साथ प्रार्थना कर रहे हैं।   

उन्होंने यूरोप के मरियम तीर्थ संघ को विशेष धन्यवाद अर्पित किया है जिन्होंने पिछले सप्ताह युद्ध की निंदा करते हुए रूसी राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन को कड़ी आलोचना के साथ एक पत्र भेजा था तथा यूक्रेन में रक्तपात रोकने की मांग की थी।  

युद्ध रोकने हेतु जो कुछ किया जा सकता है सब कुछ करने के लिए तैयार

2 और 3 अप्रेल को माल्टा में प्रेरितिक यात्रा के साथ-साथ संत पापा फ्राँसिस ने भी युद्ध के शीघ्र अंत की जोरदार अपील की है और युद्ध को उन्होंने अपवित्र कृत्य की संज्ञा दी है।  

संत पापा ने खेद प्रकट करते हुए कहा है कि हमने कभी नहीं सीखा, हम युद्ध और काईन के मनोभाव से आसक्त हैं।

माल्टा की प्रेरितिक यात्रा के बाद रोम लौटते समय, विमान में पत्रकारों द्वारा पूछे जाने पर कि क्या कीएव में उनके दौरे की संभावना है तब संत पापा ने जवाब दिया कि "जो कुछ भी किया जा सकता है वे सब कुछ करने के लिए तैयार हैं," उन्होंने कहा कि युद्ध अमानवीय है तथा इसकी तुलना काईन के मनोभाव से की।   

26 फरवरी को यूक्रेन द्वारा दायर एक आवेदन के बाद, रूस वर्तमान में अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय (आई सी जे) की जांच के दायरे में है।  16 मार्च, 2022 को, आई सी जे ने रूस को अपने सैन्य अभियानों को तुरंत निलंबित करने का आदेश दिया है।

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

05 April 2022, 16:21