खोज

दिविनो आमोरे तीर्थस्थल दिविनो आमोरे तीर्थस्थल   (Armando Iozzi)

रोम धर्मप्रांत द्वारा शांति के लिए तीर्थयात्रा

19 मार्च को संत जोसेफ के पर्व के दिन कार्डिनल अंजेलो दी दोनातिस की अगुवाई में, रोम के विश्वासी रोम के प्रसिद्ध मरियम तीर्थस्थल दिविनो अमोरे (दिव्य प्रेम) की तीर्थयात्रा कर शांति के लिए प्रार्थना करेंगे।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

रोम, शनिवार, 12 मार्च 2022 (रेई) ˸ तीर्थयात्रा की शुरूआत 19 मार्च रात 11.30 बजे रोम के संत जॉन लातेरन से की जायेगी और पैदल यात्रा कर दिविनो आमोरे के कास्तेल दी लेवा प्रार्थनालय में 20 मार्च सुबह 6 बजे ख्रीस्तयाग अर्पित की जायेगी।

तीर्थयात्रा का आदर्शवाक्य है, "तुम में शांति बनी रहे।" (स्तोत्र 122,8) इसका संचालन रोम धर्मप्रांत द्वारा किया जा रहा है। 19 मार्च शाम 8 बजे दिविनो आमोरे की माता मरियम की तस्वीर को संत जॉन लातेरन महागिरजाघर लाया जाएगा और इस अवसर पर महागिरजाघर को प्रार्थना के लिए खुला रखा जाएगा। 11.30 बजे कार्डिनल अंजेलो दी दोनातिस एक समुदायिक प्रार्थना की अगुवाई करेंगे, तत्पश्चात् आधी रात को पैदल तीर्थयात्रा कास्तेल दी लेवा (दिविनो आमोरे) तीर्थस्थल की ओर प्रस्थान करेगी। दूसरे दिन सुबह 6 बजे दिविनो आमोरे के कास्तेल दी लेवा प्रार्थनालय में ख्रीस्तयाग अर्पित किया जाएगा।

कार्डिनल दी दोनातिस ने रोम धर्मप्रांत के विश्वासियों को लिखा है, "हम इस समय बड़ी चिंता के साथ यूक्रेन में युद्ध की स्थिति को महसूस कर रहे हैं। हम शांति चाहते हैं, वह शांति जिसको सिर्फ मानव अपनी शक्ति से नहीं ला सकता। यही कारण है कि हम संत पापा फ्राँसिस के आह्वान का प्रत्युत्तर दृढ़ प्रार्थना एवं प्रायश्चित से देना चाहते हैं। दूसरे अवसरों में, बड़ी कठिनाइयों की घड़ी में रोम के लोगों ने अपने आपको दिविनो आमोरे की माता मरियम को समर्पित किया और उनकी मध्यस्थता द्वारा प्रार्थना की।"  

उन्होंने तीर्थयात्रा का प्रस्ताव रखते हुए कहा, "मैं आप सभी को निमंत्रण देता हूँ कि इस पहल में भाग लें- यह संत पापा के विकर की ओर से रोम धर्मप्रांत के लिए आग्रह है। इस चेतना के साथ कि प्रार्थना में वह शक्ति है जो मनुष्य का हृदय बदल सकता है और इतिहास में ऐसा हुआ भी है।"

धर्मप्रांतीय समुदाय के सभी विश्वासी इस प्रार्थना में भाग ले सकें इसके लिए तीर्थयात्रा को सोशल मीडिया के माध्यम से लाइव प्रसारित किया जाएगा।  

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

12 March 2022, 15:49