खोज

Vatican News
सुसमाचार के अनुसार प्रेरितिक जीवन, प्रतीकात्मक तस्वीर सुसमाचार के अनुसार प्रेरितिक जीवन, प्रतीकात्मक तस्वीर  (@ Vatican News)

अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलनःकैनन रेग्यूलर धर्मसंघीय इतिहास पर चिन्तन

रोम के मरिया बम्बीना इन्सटीट्यूट में 24-26 नवंबर तक ऐतिहासिक विज्ञान सम्बन्धी परमधर्मपीठीय समिति के तत्वाधान में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन मध्य युग से लेकर आज तक कलीसिया में नियमित कैनन धर्मसंघ के इतिहास का पता लगाएगा।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बुधवार, 24 नवम्बर 2021 9 (रेई, वाटिकन रेडियो): रोम के मरिया बम्बीना इन्सटीट्यूट में 24-26 नवंबर तक ऐतिहासिक विज्ञान सम्बन्धी परमधर्मपीठीय समिति के तत्वाधान में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन मध्य युग से लेकर आज तक कलीसिया में नियमित कैनन धर्मसंघ के इतिहास का पता लगाएगा।

सुसमाचार के अनुसार

सम्मेलन का उदघाटन समर्पित जीवन सम्बन्धी परमधर्मपीठीय धर्मसंघ के अध्यक्ष कार्डिनल होआओ ब्राज़ दे आविज़ करेंगे, जिसका विषय हैः सेकुन्दुम एवान्जेलियुम ख्रीस्ती एत वीताम अपोस्तोलिकामः कैनन रेग्यूलर धर्मसंघ मध्ययुग से आज तक। कैनन रेग्यूलर धर्मसंघ एक अन्तरराष्ट्रीय धर्मसंघ है जिनमें विभिन्न धर्मसमाजों के पुरोहितों एवं धर्मबन्धुओं सहित लोकधर्मी विश्वासी भी शामिल हैं। धर्मसंघ को उक्त नाम सन् 1446 ई. में सन्त पापा यूजीन चौथे द्वारा दिया गया था।  

प्रेमोन्त्रे मठवासी धर्मसंघ

ऐतिहासिक विज्ञान सम्बन्धी परमधर्मपीठीय समिति के तत्वाधान में आयोजित उक्त अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का उद्देश्य सन् 1122 ई. से लेकर 2022 तक, प्रेमोन्त्रे मठवासी धर्मसंघ के नवें शताब्दी समारोह के सन्दर्भ में, एक विशाल एवं विविध कलीसियाई आन्दोलन का व्यापक ऐतिहासिक विवरण प्रस्तुत करना है। प्रेमोन्त्रे वह स्थल है जहाँ 1122 ई. में कैनन रेग्यूलर धर्मसंघ की स्थापना की गई थी।  

वाटिकन की विज्ञप्ति में कहा गया कि उक्त सम्मेलन ईश प्रजा की सेवा में नियमित रूप से कैनन रैग्यूलर के कई धर्मसंघों द्वारा बनाई गई समृद्ध सांस्कृतिक और आध्यात्मिक विरासत को प्रस्तुत करेगा तथा कलीसिया को अर्पित प्रेरितिक जीवन का विवरण प्रदान करेगा।  वह द्वितीय सहस्राब्दि के लिये कलीसियाई जीवन की रूपरेखा को भी प्रस्तुत करेगा। सम्मेलन छः विभिन्न सत्रों में विभाजित है जिनमें तमाम विश्व के विश्वविद्यालयों के शिक्षाविदों और कलीसियाई इतिहास में अपने शोध के लिए प्रसिद्ध अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञ अपने विचार प्रकट करेंगे।

24 November 2021, 10:26