खोज

Vatican News
52वाँ अंतर्राष्ट्रीय यूखरीस्तीय कांग्रेस का उद्घाटन 52वाँ अंतर्राष्ट्रीय यूखरीस्तीय कांग्रेस का उद्घाटन 

बुडापेस्ट में अंतर्राष्ट्रीय यूखरीस्तीय कांग्रेस का उद्घाटन

यूरोप के धर्माध्यक्षीय सम्मेलनों की परिषद के अध्यक्ष कार्डिनल एंजेलो बन्यास्को के प्रवचन के साथ बुडापेस्ट में अंतर्राष्ट्रीय यूखरीस्तीय कांग्रेस कार्यक्रम की शुरुआत रविवार 5 सितम्बर हुई, जिसने पूरे कलीसिया को इस विषय पर चिंतन करने के लिए कहा: "मेरे सभी स्रोत आप में हैं"। कार्डिनल बन्यास्को ने कहा - "यूखरीस्त सभी अकेलेपन, सभी दूरी और सभी उदासीनता से परे है।" संत पापा फ्राँसिस 12 सितम्बर को कांग्रेस का समापन मिस्सा का अनुष्ठान करेंगे।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 6 सितम्बर 2021 (वाटिकन न्यूज) : "ईश्वर हमें इन दिनों में महसूस करने में सक्षम होने के लिए अपनी कृपा देते हैं कि यूखारिस्त में मसीह हमारे साथ है। यह कलीसिया, लोगों और मानवता को अकेला नहीं छोड़ता है।" इन शब्दों के साथ हंगरी के धर्माध्यक्ष कार्डिनल पीटर एर्डो ने बुडापेस्ट में 52 वीं अंतर्राष्ट्रीय यूखारिस्तीय कांग्रेस का उद्घाटन पवित्र मिस्सा समारोह से शुरु किया, जो पिछले साल महामारी के कारण स्थगित कर दिया गया था।

यूरोप के दिल तक पहुँचती एक आवाज

बुडापेस्ट के हीरोज स्क्वायर में मनाए जाने वाले पवित्र मिस्सा में यूरोप के धर्माध्यक्षीय सम्मेलनों की परिषद के अध्यक्ष कार्डिनल अंजेलो बन्यास्को द्वारा दिये गये उपदेश को हंगेरियन भाषा में अनुवाद किया गया।

इस आदर्श मंच से, धर्माध्यक्षों की आवाज़, यूरोप के लोगों के दिलों में - विनम्र और हर्षित - दस्तक देना चाहती है और पृथ्वी के सबसे दूरस्थ बिंदुओं तक पहुँचने के लिए आगे बढ़ना चाहती है।

एक आवाज जो "कमजोर है, लेकिन सदियों से गूँजती है और शहीदों के खून से चिह्नित है", "अपने बच्चों की सीमाओं और छाया के बावजूद," यहाँ से येसु की घोषणा करने और याद रखने की ताकत आती है।

कोई अकेला नहीं है

वह आवाज, "आत्मा की सांस में एक पाल की तरह खुल गई", आज के मानव को एक महान सच्चाई बताती है: आप एक शत्रुतापूर्ण ब्रह्मांड में अकेले नहीं हैं, आप जीवन के अद्भुत रहस्य के सामने अकेले नहीं हैं, आप स्वतंत्रता और अनंत काल की अपनी प्यास के साथ अकेले नहीं हैं। आप कहीं भी हों, आप अदृश्य नहीं हैं, ईश्वर आपको प्यार से देखते हैं, आप अनाथ नहीं हैं, ईश्वर आपके पिता हैं, आप येसु के लहू, संसार के मुक्तिदाता और अनन्त जीवन की रोटी के योग्य हैं। इसलिए न डरें : प्रभु येसु मरे नहीं है, पवित्र संस्कार में उपस्थित येसु, सभी अकेलेपन, सभी दूरी, सभी उदासीनता से परे हैं।

और इसलिए वही आवाज कलीसिया को चुप रहने के लिए नहीं बुलाती है, चुप रहने के लिए नहीं बल्कि "हर आदमी को पुनर्जीवित मसीह की महिमा देने" के लिए बुलाती है।

ईश्वर युवा है

प्रथम परमप्रसाद संस्कार और दृढीकरण संस्कार ग्रहण किये हुए किशोरों और युवाओं को देखते हुए, कार्डिनल बन्यास्को उनके दिल की सादगी को याद करते हैं जो येसु का स्वागत करते हैं। वे काथलिक स्कूलों के युवाओं को बताते हैं कि विश्वास और तर्क एक साथ चलते हैं और "ईश्वर आपकी स्वतंत्रता का प्रतियोगी नहीं है और विश्वास निषेधों की एक श्रृंखला नहीं है, बल्कि आनंद के लिए एक बड़ी हां है, भले ही यह आपसे त्याग की मांग कर रहा हो क्योंकि प्रेम एक गंभीर बात है।"

उन्होंने कहा, आप याद रखें कि कलीसिया को आपकी, आपकी जवानी, आपके उत्साह की जरूरत है और आपको येसु की जरूरत है। हर चीज जल्दी बूढ़ी हो जाती है, केवल ईश्वर हमेशा युवा रहते हैं और कलीसिया भी युवा है क्योंकि वह मसीह के शरीर के संस्कार की रक्षा करती है। यूखरिस्त आपके दैनिक जीवन का केंद्र हो सकता है।

हर दिल में मौजूद

अंत में जो लोग अपने जीवन में क्रूस के भार को महसूस करते हैं, रोते हैं या न्याय के लिए सताए जाते हैं, जो बेघर और बेघर महसूस करते हैं, उन्हें कार्डिनल बान्यास्को ने साहस के साथ प्रभु के चरणों में जाने के लिए निमंत्रित किया, क्योंकि ईश्वर उनके पास आने वालों के दिल में मौजूद हैं, वे उनहें कभी नहीं छोड़ते।

कलीसिया के पास येसु मसीह की घोषणा करने और आराधना करने के अलावा और कोई दूसरा नाम नहीं है: याद रखें: उसका चेहरा सुसमाचार है और उसकी उपस्थिति यूखारिस्त है।

06 September 2021, 15:29