खोज

Vatican News
देश से भागने की आशा में हवाई अड्डे में एकत्रित लोग देश से भागने की आशा में हवाई अड्डे में एकत्रित लोग  (ANSA)

अफगानिस्तान के लोगों की मदद हेतु आयरिश धर्माध्यक्षों की अपील

आयरलैंड के काथलिक धर्माध्यक्षों ने आयरलैंड की सरकार से अपील की है कि वह अफगानिस्तान से पलायन करने के लिए मजबूर लोगों की मदद करे तथा इसे उन्होंने आयरलैंड के लिए मानव अधिकार की रक्षा हेतु प्रतिबद्धता का अवसर कहा है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

आयरलैंड, बृहस्पतिवार, 19 अगस्त 2021 (वीएनएस)- आयरलैंड, आयरिश शरणार्थी संरक्षण कार्यक्रम के तहत अफगानिस्तान में तालिबान से भाग रहे 150 शरणार्थियों को स्वीकार करने के लिए प्रतिबद्ध है। अफगानिस्तान पर आपातकालीन सुरक्षा परिषद की बैठक को संबोधित करते हुए, संयुक्त राष्ट्र में आयरिश राजदूत ने भी अपने लोगों के लिए सुरक्षित और विश्वसनीय मानवीय पहुंच की अपील की है।

इस कदम का स्वागत करते हुए, आयरिश काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के न्याय और शांति परिषद के अध्यक्ष धर्माध्यक्ष एलन मैकग्यूकियन ने आग्रह किया है कि नौकरशाही प्रक्रिया को तेज किया जाए और आयरलैंड में अतिरिक्त शरणार्थियों की स्वीकृति को नीतिगत प्राथमिकता के रूप में माना जाए।

धनी देशों को शरणार्थियों की अधिक मदद करनी चाहिए

धर्माध्यक्ष ने बुधवार को कहा, "विश्व के धनी देशों में से एक होने के नाते आयरलैंड को पलायन करने के लिए मजबूर लोगों की अधिक मदद करनी चाहिए ताकि राज्य एवं समुदाय के समर्थन द्वारा उनका स्वागत एवं एकीकरण किया जा सके।" "लोगों को भागते हुए एवं भगदड़ के दृश्य को देखकर हमारा दिल भर गया है, लेकिन सरकारों को कार्रवाई करने के लिए मजबूर करने हेतु ऐसे दृश्यों और परिस्थितियों को नहीं होना चाहिए।"

दुनिया भर में 82.4 मिलियन लोग जबरन विस्थापन के शिकार हैं हालाँकि, “इनमें से 85% की देखभाल सबसे कम धनी देशों में की जा रही है, केवल 15% को आयरलैंड सहित दुनिया के सबसे धनी देशों में समायोजित किया जा रहा है।

आयरलैंड के न्याय एवं शांति आयोग के अध्यक्ष के अनुसार "सामने आया यह संकट आयरलैंड को मानवाधिकारों की सुरक्षा के लिए अपनी प्रतिबद्धता प्रदर्शित करने का अवसर प्रदान करता है, जिसमें सभी लोग शिक्षा तक पहुंच सकें तथा अपने बीच अजनबी का स्वागत कर सकें।"

शरणार्थियों का स्वागत, सुरक्षा, प्रोत्साहन और एकीकरण

संत पापा के आह्वान का हवाला देते हुए धर्माध्यक्ष ने कहा कि शरणार्थियों का स्वागत न्याय और शांति के साथ किया जाना एवं हमारे समुदायों में एकीकृत किया जाना चाहिए।

"हमारी आयरिश आस्था हमें परंपरा के मूल्य सिखाते हैं कि पहुँच, मुलाकात और प्रामाणिक संवाद सच्ची शांति ला सकते हैं जिसकी इस समय दुनिया को जरूरत है।"

धर्माध्यक्ष मैकगुकेन ने लोगों से आग्रह की है कि "अफगानिस्तान एवं विश्व के अन्य युद्धग्रस्त क्षेत्रों के लोगों की सुरक्षा हेतु प्रार्थना की जाए।"

19 August 2021, 15:32