खोज

Vatican News
वह स्थान जहाँ फादर ओलिवियर माइरे एसएमएम की हत्या  हुई वह स्थान जहाँ फादर ओलिवियर माइरे एसएमएम की हत्या हुई  (AFP or licensors)

फ्रांस के फा. माइरे के निधन पर शोक, उनकी उदारता की याद

फादर ओलिवियर माइरे एसएमएम की हत्या पर फ्रांस की पूरी काथलिक कलीसिया शोकाकुल है। जिनकी हत्या कथित तौर पर एक रवांडा के आप्रवासी द्वारा की गई है, जिसको वे मदद कर रहे थे।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

फ्राँस, मंगलवार, 10 अगस्त 2021 (रेई)- फ्राँस के काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन और धर्मसमाजी समुदायों ने मोंटफोर्ट मिशनरियों के प्रोविंशल सुपीरियर फादर ओलिवियर की हत्या पर गहरा दुःख व्यक्त किया है।

उन्होंने एक विज्ञप्ति जारी कर फादर की हत्या पर अपनी प्रतिक्रया व्यक्त की।

विज्ञप्ति में उन्होंने फादर माइरे के माता-पिता, परिवार, मोंटफोर्ट मिशनरियो, संत-लॉरेंट-सुर-सेवरे में संत लुइस-मैरी ग्रिग्नॉन डी मोंटफोर्ट के महागिरजाघर समुदाय तथा पूरे मोंटफोर्ट धर्मसंघ परिवार के प्रति अपनी हार्दिक संवेदना व्यक्त करते हुए उन्हें अपनी प्रार्थनाओं का आश्वासन दिया है।

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने ट्विटर पर हत्या के शिकार पुरोहित को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने लिखा कि फा. माइरे की "दूसरों के लिए उदारता और प्यार उनके चेहरे पर परिलक्षित होती थी।"

शांति के व्यक्ति

वाटिकन न्यूज के ओलिवियर बोनेल से बात करते हुए, सिस्टर वेरोनिक मार्ग्रोन ने कहा कि फ्रांस के धार्मिक समुदाय को "यह सोचकर बहुत दुःख हो रहा है कि शांति के एक व्यक्ति की हत्या उनके अतिथि सत्कार के नाम पर कर दी गई है।"

फ्राँस में धर्मसंघियों के सम्मेलन की अध्यक्ष दोमिनिकन धर्मबहन ने कहा, "डर के साथ-साथ समझने में असमर्थता एवं शक्तिहीनता का एहसास हो रहा है।"  

उन्होंने कहा कि मोंटफोंट के मिशनरियों ने रूवांडा के व्यक्ति को सुसमाचारी करुणा के कारण शरण प्रदान किया।

सिस्टर मार्ग्रोन ने कहा, "उसके निष्कासन की मांग कर, अभी आग में ईंधन डालने का समय नहीं है क्योंकि उसे निर्वासित नहीं किया गया था क्योंकि वह एक न्यायिक प्रक्रिया के बीच में था। निश्चय ही यह उन धर्मबंधुओं की समस्या नहीं थी जिन्होंने उनका स्वागत किया था।"

आतिथ्य सत्कार और पास्का रहस्य

धर्मबहन ने कहा, "स्वर्गीय फादर माइरे ने जिस व्यक्ति को अपने पास शरण दिया वही उसका हत्यारा बन गया, यह पास्का रहस्य की याद दिलाता है।"  

"हमें याद रखना चाहिए कि आतिथ्य सत्कार एक महान और बाईबिल का पहला सदगुण है। पूरे दूसरे व्यवस्थान में इससे बड़ा कोई सदगुण नहीं है।”

उन्होंने कहा कि मोंटफोंट धर्मबंधु उस व्यक्ति की मदद अनजाने नहीं कर रहे थे। उन्होंने जानबूझकर उसकी मदद की, उसका स्वागत किया, उसे परामर्श दिया फिर भी किसी ने नहीं कहा कि यह इतना खतरनाक हो सकता है।  

उदारता को कार्य में प्रकट करना

धर्मबहन ने सलाह दी कि फ्रांस के ख्रीस्तियों को, आध्यात्मिक रूप से फादर माइरे से जुड़े लोगों के करीब आना चाहिए तथा उनके दुःखों को साझा करना चाहिए एवं उनकी उदारता की याद की जानी चाहिए।

ल्यूकोन के धर्माध्यक्ष, फ्राँसिस जैकोलिन ने भी हत्या के शिकार पुरोहित के काम के लिए उनकी प्रशंसा की।

धर्माध्यक्ष ने कहा, "वे अपनी उदारता के शिकार हो गये। हमें उम्मीद है कि यह त्रासदी आतिथ्य सत्कार एवं बांटने के विचार को नष्ट नहीं करेगा।”

10 August 2021, 16:25