खोज

Vatican News
रियो नदी पार करते हुए मेक्सिको के प्रवासी रियो नदी पार करते हुए मेक्सिको के प्रवासी 

मेक्सिको:प्रवासियों के उत्पीड़न के खिलाफ येसु संघियों ने अपील की

मेक्सिको में पुलिस द्वारा प्रवासियों को कथित रूप से लूटने के बाद, जेसुइट प्रवासी सेवा ने मेक्सिको में प्रवासियों और शरणार्थियों के उत्पीड़न की जांच की मांग की।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

मेक्सिको सिटी, बुधवार 28 जुलाई 2021 (वाटिकन न्यूज) : मेक्सिकन अधिकारियों को जेसुइट शरणार्थी सेवा और मानव अधिकार केंन्द्र 'जॉन जेरार्डी डी टोरेओन' दो संस्थाओं ने एक संयुक्त नोट में, मेक्सिको में प्रवासियों और अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा की मांग करने वालों का सम्मान किये जाने और उनके मानवाधिकारों की गारंटी दिये जाने की मांग की है।

उत्पीड़न की निंदा

दोनों संस्थाओं ने विशेष रूप से, मेक्सिको में प्रवासियों के उत्पीड़न, अपराधीकरण और मनमाने ढंग से हिरासत में लेने की निंदा की है और इसे एक आवर्तक स्थिति के रूप में वर्णित किया है। उनका कहना है कि वास्तव में, राज्य और नगरपालिका सुरक्षा बलों को प्रवासन कार्यों में भाग नहीं लेना चाहिए क्योंकि उनका हस्तक्षेप विधायी प्रावधानों के विपरीत है। साथ ही, दोनों संस्थाओं ने सुरक्षा मंत्रालय से 'अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार संधियों का सम्मान करने और मानवाधिकार रक्षकों या मानवीय कार्यकर्ताओं के कामों में बाधा न डालने का आग्रह किया।

पुलिस की आक्रामकता

दोनों संगठनों के नोट 22 जुलाई की दोपहर को हुई घटना से प्रेरित थे, जब केंद्र के बारह प्रवासियों की चार पुलिसकर्मियों ने आक्रामक रूप से तलाशी ली, जिन्होंने उनके पैसे और निजी सामान चुरा लिया। मानवीय स्वयंसेवकों ने हस्तक्षेप करने की कोशिश की, लेकिन एक अधिकारी ने उन्हें हिंसक रूप से खदेड़ दिया, जिन्होंने दावा किया कि प्रवासियों के पास ड्रग्स है। यह आरोप किसी भी तरह से सिद्ध नहीं हुआ। प्रवासियों को बचाने के क्रम में स्वयंसेवकों को भी पुलिस अधिकारियों ने भद्दी गालियाँ और मारा पीटा। पुलिस की हिंसा को रिकॉर्ड करने वाले स्वयंसेवकों के मोबाइल फोन को पुलिस ने जब्त कर तोड़ दिया।

इसलिए दोनों संगठनों ने देश के अटोर्नी जनरल श्री गर्ट्ज़ मनेरो से घटना की प्रभावी जाँच करने की मांग की है, जबकि राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग को सामान्य रूप से, शरण चाहने वालों और प्रवासियों के खिलाफ सभी मानवाधिकारों के उल्लंघन की जांच, साथ ही पुलिस अधिकारियों द्वारा मानवाधिकार रक्षकों के खिलाफ किए गए हिंसा की जाँच करने की भी मांग की।  

मानव अघिकार केंद्र

मानव अधिकार केंद्र 'जॉन जेरार्डी डे टोररेन' 1999 से कोआहुइला के ला लगुना डे टोररेन क्षेत्र में शांति और मानवाधिकारों के सम्मान की संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए काम कर रहा है। इसके कार्य के वर्तमान क्षेत्रों में मध्य अमेरिकी स्थानांतरगमन, जल और पर्यावरण संरक्षण, और मानवाधिकार शिक्षा शामिल हैं। यह संगठन गुमशुदा व्यक्तियों के मामलों का भी दस्तावेजीकरण करता है और संयुक्त राज्य अमेरिका के रास्ते में टॉरेन से गुजरने वाले प्रवासियों को मानवीय सहायता प्रदान करता है।

28 July 2021, 15:37