खोज

Vatican News
पवित्र मिस्सा समारोह में कार्डिनल राय पवित्र मिस्सा समारोह में कार्डिनल राय 

कार्डिनल राय ने संत चारबेल को लेबनान सौंपा

पिछले रविवार को मनाए गए संत चारबेल के पर्व दिवस पर, अन्ताखिया के मारोनाइट प्राधिधर्माध्यक्ष कार्डिनल राय ने लेबनान के संत की मध्यस्थता से प्रार्थना की, ताकि देश को अब तक के सबसे खराब आर्थिक और राजनीतिक संकटों से उबरने में मदद मिल सके।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

बेरुत, बुधवार 21 जुलाई 2021(वाटिकन न्यूज) : अन्ताखिया के मारोनाइट प्राधिधर्माध्यक्ष कार्डिनल बीचारा राय ने लेबनान को संत चारबेल को सौंपा। उनकी मध्यस्थता राष्ट्र को अपने इतिहास में सबसे खराब संकटों से बाहर निकालने में मदद कर सकती है। संत चारबेल का पर्व रविवार, 18 जुलाई को मनाया गया। इस अवसर पर अपने उपदेश में कार्डिनल राय ने कहा कि संत चारबेल "लेबनान का पतन नहीं होने देंगे" और विश्वासियों को उनके माध्यम से, "हमारे उद्धार के चमत्कार" की तलाश करने के लिए प्रोत्साहित किया।" लेबनान में आर्थिक और राजनीतिक संकट एक नए चरण में प्रवेश कर गया है, पिछले हफ्ते राष्ट्रपति माइकल औन के साथ कई महीनों तक चली संघर्षपूर्ण बातचीत के बाद, नई सरकार बनाने के लिए नामित प्रधान मंत्री साद हरीरी ने अपना पद त्याग दिया।

कार्डिनल राय ने "बिना चरवाहे की भेड़ों की तरह गरीबों, उत्पीड़ित, भूखे और खोए हुए लोगों की ओर से" सभी राजनीतिक ताकतों से एक ऐसा प्रधान मंत्री चुनने का आग्रह किया जो लेबनान के सामने आने वाली भारी चुनौतियों का सामना करने में सक्षम हो। उन्होंने जोर देकर कहा, "यह जिम्मेदारी लेने का समय है, पीछे हटने का नहीं। देश की सरकार एक सामान्य संकट का सामना नहीं कर रही है, लेकिन एक प्रणालीगत संकट "जिसके लिए सभी के ठोस प्रयासों की आवश्यकता है" और "स्वार्थ, हितों और संकीर्ण चुनावी गणनाओं पर काबू पाते हुए राजनीतिक पार्टियों का ध्यान सर्वोच्च राष्ट्रीय हित पर होनी चाहिए।"

लेबनान लगभग एक साल से बिना सरकार के रहा है और पिछले कुछ समय से एक गंभीर राजनीतिक, आर्थिक और सामाजिक संकट से गुजर रहा है। अगस्त 2020 में महामारी और बेरूत के बंदरगाह पर हुए विस्फोटों से स्थिति और  भी खराब हो गई है, जिसने 55% आबादी को गरीबी रेखा से नीचे ले लाया है। इस नाटकीय संदर्भ में, कार्डिनल राय ने बार-बार संयुक्त राष्ट्र के तत्वावधान में लेबनान के लिए एक अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन के लिए अपने प्रस्ताव को फिर से शुरू किया है, जिसमें लेबनानी "तटस्थता" की पुष्टि और रक्षा करने की तात्कालिकता पर बल दिया गया है ताकि देश क्षेत्रीय शक्तियों के बीच संघर्ष में न आ जाए। इस प्रकार इसकी विशिष्ट बहुलवादी पहचान की रक्षा करता है।

लेबनान के लए वाटिकन में प्रार्थना

लेबनान के ख्रीस्तीय समुदायों के नेताओं के साथ वाटिकन में 1 जुलाई को संत पापा फ्राँसिस ने लेबनान के लिए प्रार्थना की थी। संत पापा फ्राँसिस ने लेबनान की मदद करने के लिए अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से एक अपील भी की थी। विशेष रूप से, संत पापा ने राष्ट्रीय राजनीतिक नेताओं से देश की सेवा में खुद को लगाने का आह्वान किया, न कि अपने हितों के लिए। और खुद लेबनानी लोगों को अपने उज्जवल भविष्य के निर्माता बनने का मौका देने हेतु बाहरी हस्तक्षेप को समाप्त करने की अपील की।

4 अगस्त को, बेरूत बंदरगाह में विस्फोटों की पहली बरसी पर, लेबनान के लिए फ्रांसीसी राष्ट्रपति इम्मानुएल मैक्रों की पहल पर एक नया अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन आयोजित किया जाएगा। वे अवरुद्ध अंतर्राष्ट्रीय सहायता जारी करने और आवश्यक सुधारों को लागू करने के लिए एक राष्ट्रीय एकता सरकार की त्वरित स्थापना हेतु दबाव डाल रहे हैं।

21 July 2021, 15:33