खोज

Vatican News
झान प्रांत के काथलिक धर्माध्यक्ष झान प्रांत के काथलिक धर्माध्यक्ष 

झान के काथलिक धर्माध्यक्षों द्वारा विश्वासियों के लिए प्रार्थना

झान के काथलिक धर्माध्यक्षों ने अपने विश्वासियों के लिए प्रार्थना की, अपने कार्डिनल को सम्मानित किया एवं लघु बसिलिका की तीर्थयात्रा की।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

राँची, बृहस्पतिवार, 1 जुलाई 2021 (वीएन हिन्दी)- कोविड-19 महामारी ने झारखंड और यहाँ के निवासियों को बुरी तरह प्रभावित किया है। हजारों लोग इससे संक्रमित हुए और अनेक लोगों ने अपनी जान गवाँ दी।

कलीसिया ने गुमला के धर्माध्यक्ष पौल अलोईस लकड़ा एवं कई पुरोहितों, धर्मसमाजियों एवं विश्वासियों को खो दिया। महामारी ने धार्मिक क्रिया-कलापों, बच्चों की पढ़ाई तथा लोगों की जीविका को तबाह कर दिया है। कलीसिया के संगठन और संस्थाएँ सभी अस्त-व्यस्त हो गये हैं।

झान प्रांत के काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन जिसमें झारखंड और अंडामन निकोबार द्वीप समूह के धर्माध्यक्ष आते हैं, उन्होंने 29 नवम्बर को राँची स्थित महाधर्माध्यक्षीय आवास में एक सभा में भाग लिया। सभा का मुख्य उद्देश्य था कोविड-19 की दूसरी लहर से उत्पन्न परिस्थिति का अवलोकन करना। उन्होंने महामारी में लोगों की कठिन परिस्थिति पर गौर किया और विश्वासियों को किस तरह से मदद दी जाए, इसपर विचार किया।

इस बीच, राँची के महाधर्माध्यक्ष फेलिक्स टोप्पो एस जे ने सभा में पोर्ट ब्लेयर के नये धर्माध्यक्ष के रूप में फादर विस्वासम सेलवाराज की नियुक्ति की घोषणा की।

दूसरे दिन 30 जून को सुबह 6.30 बजे धर्माध्यक्षों ने गुमला के धर्माध्यक्ष पौल लकड़ा, सभी मृत पुरोहितों, धर्मसमाजियों एवं विश्वासियों की आत्मा की अनन्त शांति हेतु पावन ख्रीस्तयाग अर्पित किया। ख्रीस्तयाग के दौरान उन्होंने कलीसिया एवं परिवारों में उनकी समर्पित सेवा की याद की तथा उसके लिए ईश्वर को धन्यवाद दिया।

ख्रीस्तयाग के उपरांत झान के धर्माध्यक्ष संत अन्ना अस्पताल उल्हातु गये जहां उन्होंने महामहिम कार्डिनल तेलेस्फोर पी. टोप्पो से मुलाकात की और उनके साथ कुछ समय बिताया एवं प्रार्थना की। वहाँ से निकलकर उन्होंने उल्हातु में मरियम की दिव्य ममता महागिरजाघर की तीर्थयात्रा की। इस तीर्थयात्रा में उन्होंने अपने सभी विश्वासियों के लिए प्रार्थना अर्पित की।

01 July 2021, 16:21