खोज

Vatican News
मुंबई में कोविद -१९ का टीकाकरण मुंबई में कोविद -१९ का टीकाकरण  (ANSA)

भारत में 7 अगस्त को कोरोना पीड़ितों के लिए प्रार्थना सभा

भारत में कोरोनावायरस के पीड़ितों, उनके प्रियजनों और अस्पताल में भर्ती बीमारों के लिए सीसीबीआई ने शनिवार 7 अगस्त को भारतीय समय अनुसार 20.30 से 21.30 तक राष्ट्रीय स्तर पर प्रार्थना सभा की घोषणा की है। यह प्रार्थना सभा संत थॉमस, संत फ्राँसिस जेवियर और संत मदर तेरेसा की कब्रों पर और बांद्रा (मुंबई), सरधना (मेरठ), हैदराबाद, शिवाजीनगर (बैंगलोर) और वेलांकनी की माता मरियम महागिरजाघरों में आयोजित किया जाएगा। इसे काथलिक टेलीविजन पर और वेब पर सीधा प्रसारित किया जाएगा।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

गोवा, सोमवार 12 जुलाई 2021 (वाटिकन न्यूज) : भारत में बिना रुके कोरोनावायरस की दौड़ जारी है,  विशेष रूप से तथाकथित "डेल्टा संस्करण" के कारण: आज तक,  30.5 मिलियन से अधिक मामले दर्ज किये गये हैं, जबकि मौतों की संख्या 405 हजार से अधिक है। दुनिया में संक्रमण से मौतों की संख्या के अनुसार संयुक्त राज्य अमेरिका और ब्राजील के बाद भारत तीसरे स्थान पर आता है और संक्रमण के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका के बाद भारत दूसरे स्थान पर है। भारत में टीकाकरण अभियान16 जनवरी को शुरू हुआ और धीरे-धीरे आगे बढ़ रहा है। अब तक आबादी का केवल 5 प्रतिशत से अधिक को टीका लग चुका है, जबकि नए प्रकोप, कम से कम एक हजार प्रतिदिन, दक्षिणी राज्य केरल में पाए जाते हैं,  वहां अभी 102 हजार से ज्यादा संक्रमित हैं।

7 अगस्त की प्रार्थना सभा

इस नाटकीय परिदृश्य का सामना करते हुए, गोवा और दामन के महाधर्माध्यक्ष फेलिप नेरी फेराओ की अध्यक्षता में लैटिन रीति के काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन (सीसीबीआई) ने शनिवार 7 अगस्त को भारतीय समय अनुसार 20.30 से 21.30 तक राष्ट्रीय स्तर पर प्रार्थना सभा की घोषणा की है। यह प्रार्थना सभा चेन्नई में संत थॉमस,  गोवा में संत फ्राँसिस जेवियर और कलकत्ता में संत मदर तेरेसा की कब्रों पर और बांद्रा (मुंबई), सरधना (मेरठ), हैदराबाद, शिवाजीनगर (बैंगलोर) और वेलांकन्नी के मरियम तीर्थालय महागिरजाघरों में आयोजित किया जाएगा। काथलिक टेलीविजन पर और वेब पर सीधा प्रसारित किया जाएगा।

प्रार्थना सभा में शामिल होने की अपील

धर्माध्यक्षों ने एक नोट में लिखा है, "हम सभी बहुत कठिन समय से गुजर रहे हैं और हम में से कई चल रहे कोविद-19 महामारी के कारण गंभीर रूप से चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों का सामना कर रहे हैं, जिन्होंने अपने प्रियजनों को खो दिया है। अपने रिश्तेदारों और दोस्तों के दुखद अंतिम संस्कार में भी वे भाग नहीं ले सके। कई अभी भी अस्पतालों में हैं, जहां वे एक अदृश्य दुश्मन से लड़ रहे हैं, जबकि अन्य ने अपनी नौकरी खो दी है और उन्हें अपने परिवार का पेट भरने में कठिनाई हो रही है।" इसलिए, 7 अगस्त की प्रार्थना "मृतक आत्माओं की अनंत शांति", "शोक में परिवारों और समुदायों के साथ एकजुटता" और "दुनिया के स्वास्थ्य के लिए" समर्पित होगी।

धर्माध्यक्षों ने धर्मसंघी समुदायों और परिवारों से प्रार्थना सभा में शामिल होने के लिए अपील करते हुए लिखा,"हम सभी से, विशेष रूप से परिवारों और धार्मिक समुदायों से अपील करते हैं कि इस कार्यक्रम को उन लोगों के साथ भी साझा किया जाए जिनके परिवार के सदस्य और समुदाय के सदस्य विदेश में हैं, ताकि वे भी भाग ले सकें।" एक और अपील- "धर्मप्रांतों, धार्मिक संस्थाओं, संघों, क्षेत्रीय और राष्ट्रीय आंदोलनों को भी संबोधित की जाती है, ताकि वे उस दिन किसी भी बैठक का आयोजन न करें, ताकि अधिक से अधिक लोग सक्रिय रूप से राष्ट्रीय प्रार्थना सभा में भाग ले सकें।” प्रार्थना सभा का विस्तार विवरण बाद में दिया जाएगा।

12 July 2021, 15:36