खोज

Vatican News
वाशिंगटन में स्वतंत्रता दिवस वाशिंगटन में स्वतंत्रता दिवस 

अमेरिकी लोकतंत्र में धर्म की भूमिका, कार्डिनल कुपिच

शिकागो के महाधर्माध्यक्ष ने अमेरिका की राजनीतिक व्यवस्था में धर्म की भूमिका पर प्रकाश डाला। उनके विचार एलेक्सिस डी टोकेविल द्वारा 19वीं शताब्दी की पुस्तक "डेमोक्रेसी इन अमेरिका" की समीक्षा में आते हैं।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

शिकागो, शनिवार 10 जुलाई 2021, (वाटिकन न्यूज) : फ्रांसीसी लेखक एलेक्सिस डी टोकेविल ने 1835 में डेमोक्रेसी इन अमेरिका (अमेरिका में प्रजातंत्र) प्रकाशित किया। इस खंड को व्यापक रूप से 19वीं शताब्दी के सबसे प्रभावशाली ग्रंथों में से एक माना जाता है।

बहुसंख्यकों के अत्याचार में लोकतंत्र के विघटन की संभावना के बारे में चिंतित डी टोकेविल समझते थे कि लोकतंत्र भविष्य है, इसलिए 1831 में वे इसे कार्रवाई में देखने के लिए अमेरिका आए। इस खंड में अमेरिकी लोगों, उनकी आशाओं और चुनौतियों और एक लोकतंत्र के रूप में अमेरिका के अस्तित्व का समर्थन करने के लिए साझा प्रतिबद्धता पर उनके अवलोकन और चिंतन शामिल हैं।

शिकागो महाधर्मप्रांत के समाचार पत्र शिकागो काथलिक में प्रकाशित इस लेख में,  शिकागो के महाधर्माध्यक्ष कार्डिनल ब्लेज़ जे. कुपिच, उत्तर अमेरिकी राजनीतिक व्यवस्था को समझने में धर्म की भूमिका पर प्रकाश डालने वाली पुस्तक की समीक्षा करते हैं।

10 July 2021, 11:46