खोज

Vatican News
पवित्र भूमि पवित्र भूमि   (MAZUR)

1 अगस्त ˸ पवित्र भूमि में शांति हेतु प्रार्थना और मिशन दिवस

1 अगस्त को पवित्र भूमि में "शांति हेतु प्रार्थना एवं मिशन" दिवस मनाया जाएगा। उक्त बात की जानकारी ब्राजील के काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के मिशनरी कार्य आयोग ने एड टू द चर्च इन नीड के साथ दी है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

ब्राजील, बृहस्पतिवार, 22 जुलाई 2021 (वीएनएस)- ब्राजील के काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन की वेबसाईट में कहा गया है कि "पवित्र भूमि वह स्थल है जहाँ येसु जीये, उपदेश दिये और मरे। यह महत्वपूर्ण है कि येरूसालेम शहर विश्व के तीन एकेश्वरवादी धर्मों; ख्रीस्तीय, यहूदी और इस्लाम के लिए प्रमुख स्थल है। अतः कई दल इसे अपना शहर मानते हैं और इसके कारण तनाव उत्पन्न हो जाता है।"

अतः धर्माध्यक्षों ने इस क्षेत्र में मेल-मिलाप हेतु संत पापा फ्रांसिस की अपील की याद किया है। संत पापा फ्रांसिस ने 16 मई को स्वर्ग की रानी प्रार्थना के पूर्व कहा था, "ईश्वर जिसने सारी मावन जाति को अधिकार, कर्तव्य और प्रतिष्ठा में एक समान बनाया, उनके नाम पर एक साथ आपस में भाइयों के रूप में रहने का आह्वान करता हूँ। मैं स्थिरता की अपील करता हूँ, जिन्हें इसकी जिम्मेदारी है वे हथियार के कोलाहल का अंत करें तथा अंतरराष्ट्रीय समुदाय की सहायता से शांति के रास्ते पर चलें।"

21 अप्रैल को संत पापा ने वाटिकन के लिए अनिवासी राजदूतों को सम्बोधित की थी तथा येरूसालेम के संत स्तेफन गिरजाघर में समारोह में भाग लेने वाले धर्माध्यक्षों को सम्बोधित कर कहा था कि विश्व के सभी चरवाहे शांति हेतु पेंतेकोस्त जागरण प्रार्थना में भाग लें।"

अंत में, धर्माध्यक्षों ने कहा है कि "प्रार्थना और मिशन का दिन" एक श्रृंखला का हिस्सा है जो प्रार्थना के मूल्य को एक मिशनरी कार्य के रूप में रखता है और प्रस्ताव करता है कि प्रत्येक काथलिक, 24 घंटों तक, दुनिया के एक खास क्षेत्र के लिए प्रार्थना करने हेतु एक पल समर्पित करें।"

22 July 2021, 15:29