खोज

Vatican News
दिल्ली के लाडो सराय में गिरजाघर किया गया ध्वस्त, तस्वीरः 13.07.2021 दिल्ली के लाडो सराय में गिरजाघर किया गया ध्वस्त, तस्वीरः 13.07.2021 

गिरजाघर ध्वस्त होने पर धर्माध्यक्षों ने की प्रधान मंत्री से अपील

महाधर्माध्यक्ष भरानीकुलंगरा ने नई दिल्ली स्थित लिटिल फ्लावर गिरजाघर के ध्वस्त किये जाने पर आश्चर्य एवं दुख व्यक्त किया है तथा प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी से हस्तक्षेप की अपील की है। उनका कहना है कि गिरजाघर के ध्वस्त किये जाने से काथलिक विश्वासियों को धक्का लगा है।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

नई दिल्ली, शुक्रवार, 16 जुलाई 2021 (ऊका समाचार): महाधर्माध्यक्ष भरानीकुलंगरा ने नई दिल्ली स्थित लिटिल फ्लावर गिरजाघर के ध्वस्त किये जाने पर आश्चर्य एवं दुख व्यक्त किया है तथा प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी से हस्तक्षेप की अपील की है। उनका कहना है कि गिरजाघर के ध्वस्त किये जाने से काथलिक विश्वासियों को धक्का लगा है।

प्रधान मंत्री से अपील

प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी से गिरजाघर के पुनः निर्माण की अपील के बारे में फरीदाबाद के काथलिक महाधर्माध्यक्ष कुरियाकोज़ भरानीकुलंगरा ने ऊका समाचार से कहा, "हमने भारतीय प्रधान मंत्री मोदी से इस मामले को देखने और आवश्यक कार्रवाई करने की अपील की है क्योंकि यह एक बहुत ही गंभीर चिंता का विषय है और यदि इसे गंभीरता से नहीं लिया गया तो यह गलत संदेश दे सकता है।"

उन्होंने कहा, "गिरजाघर की ज़मीन पर हमारे कागजात बिलकुल सही हैं और अतीत में ऐसा कोई मुद्दा नहीं था। इस घटना ने हमारे लोगों को बहुत दुखी किया है, जो सदमे की स्थिति में हैं।"

लाडो सराय में सिरो-मालाबार कलीसिया द्वारा संचालित लिटिल फ्लावर गिरजाघर को 12 जुलाई को दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) के एक आदेश पर ध्वस्त कर दिया गया था। नौ जुलाई को गिरजाघर की सीमा पर एक नोटिस लगाया गया था जिसमें कहा गया था कि गिरजाघर का निर्माण अवैध ज़मीन पर किया गया था। 

डीडीए द्वारा गिरजाघर ध्वस्त

12 जुलाई को दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) के कर्मचारी पुलिस के साथ आये तथा उन्होंने गिरजाघर को ध्वस्त कर डाला। महाधर्माध्यक्ष ने कहा कि गिरजाघर को ढहाते हुए देखना बहुत निराशाजनक था, विशेष रूप से, इसलिये कि डीडीए ने गिरजाघर के अधिकारियों को अपना रुख स्पष्ट करने का समय भी नहीं दिया था।

विध्वंस की निंदा

सम्पूर्ण धर्माध्यक्ष ने कहा कि चर्च को ढहाते हुए देखना बहुत निराशाजनक था, खासकर जब डीडीए ने चर्च के अधिकारियों को अपना रुख स्पष्ट करने का समय भी नहीं दिया।

भारत के कलीसियाई एवं राजनीतिक नेताओं ने विध्वंस की निंदा की है। वेरापोली के महाधर्माध्यक्ष जोसेफ कलाथीपराम्बिल ने कहा कि उक्त विध्वंस ने "देश की धर्मनिरपेक्ष प्रकृति पर कलंक लगाया है। उन्होंने कहा कि कई वर्षों से लगभग 450 परिवारों के लगभग डेढ़ हज़ार  विश्वासी प्रार्थना के लिए इस गिरजाघर पर निर्भर थे।"

इसी प्रकार केरल में जैकोबाईट चर्च के महाधर्माध्यक्ष कुरियाकोज़ थेयोफिलिस तथा गुवाहाटी के महाधर्माध्यक्ष जॉन मूलाचिरा ने भी दिल्ली में गिरजाघर के ध्वस्त किये जाने की कड़ी निन्दा की है तथा दिल्ली सरकार से मांग की है कि वह श्रद्धालुओं की आराधना के लिये वैकल्पिक व्यवस्था करे।

इसी बीच, दिल्ली के मुख्य मंत्री अरविन्द केजरीवाल ने मीडिया से कहा कि दिल्ली विकास प्राधिकरण ने गिरजाघर को ध्वस्त किया है जो केन्द्रीय सरकार के अधीन है तथापि उन्होंने मामले में मदद एवं समर्थन का आश्वासन दिया है।  

16 July 2021, 10:47