खोज

कहानी
Vatican News

लोगों को जीवनदायी सहायता प्रदान करती तंजानिया जल परियोजना

समग्र मानव विकास को बढ़ावा देने वाला विभाग दुनिया भर में काथलिक स्वास्थ्य देखभाल संगठनों के लिए सुरक्षित, स्वच्छ पानी तक पहुंच सुनिश्चित करने के लिए समर्थन कर रहा है। अपने जल, स्वास्थ्य और स्वच्छता परियोजना के हिस्से के रूप में, जिसे "वॉश" कहा जाता है, इस पहल का उद्देश्य इस आवश्यक संसाधन के बारे में जागरूकता बढ़ाना भी है, जिसे सुरक्षित रखा जाना चाहिए और सभी के लिए उपलब्ध कराया जाना चाहिए। हम मसंगा, तंजानिया में एक विशेष परियोजना पर ध्यान केंद्रित करते हैं।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

तंजानिया, बुधवार 30 जून 2021 (वाटिकन न्यूज) : स्वच्छ, पर्याप्त और किफायती पानी तक पहुंच दुनिया भर के अरबों लोगों के लिए एक बड़ी चुनौती है। विश्व स्वास्थ्य संगठन का अनुमान है कि 785 मिलियन लोगों के पास बुनियादी पेयजल सेवा तक की कमी है, जबकि दुनिया की एक चौथाई आबादी के पास केवल दूषित स्रोतों तक पहुंच है, जो व्यापक जल जनित बीमारियों का कारण है। सुरक्षित पानी तक पहुंच और स्वास्थ्य देखभाल संगठनों के लिए पर्याप्त आपूर्ति एक बड़ी समस्या है।

वॉश प्रोजेक्ट

इस चुनौती के जवाब में, 2020 में समग्र मानव विकास को बढ़ावा देने के लिए बने विभाग ने दुनिया भर में काथलिक स्वास्थ्य देखभाल सुविधाओं में "वॉश" नामक पानी, स्वास्थ्य और स्वच्छता से संबंधित स्थिति को संबोधित करने के उद्देश्य से एक परियोजना शुरू की। इस परियोजना ने एक विश्वव्यापी सर्वेक्षण किया और फिर उनकी बड़ी जरुरतों के अनुसार उन लोगों के लिए रणनीतियां और ठोस प्रतिक्रियाएँ विकसित कीं। यह परियोजना आज भी काथलिक रिलीफ सेवा, अंतरराष्ट्रीय कारितास और ग्लोबल वाटर 2020 के साथ साझेदारी में जारी है, ताकि सभी को इस महत्वपूर्ण मुद्दे पर ज्ञान, सर्वोत्तम अभ्यास और फंडिंग नेटवर्क किया जा सके।

मोसांगा, तंजानिया में काथलिक स्वास्थ्य केंद्रों के निदेशक डॉटर्स ऑफ चारिटी सिस्टर बिबिआन बोकाम्बा
मोसांगा, तंजानिया में काथलिक स्वास्थ्य केंद्रों के निदेशक डॉटर्स ऑफ चारिटी सिस्टर बिबिआन बोकाम्बा

महत्वपूर्ण मामला

दुनिया भर में सभी स्वास्थ्य देखभाल केंद्रों के लगभग आधे का संचालन काथलिक कलीसिया द्वारा किया जाता है। गरीबी या दूरस्थ क्षेत्रों में स्वास्थ्य देखभाल प्रदान करने में असमर्थता के कारण वे व्यावहारिक रूप से न के बराबर हैं। इन सेवाओं को प्रदान करने के लिए स्वच्छ, भरोसेमंद और ताजा पानी तक पहुंच आवश्यक है। साफ पानी, सिंक, साबुन, शौचालय और स्वच्छता प्रक्रियाओं के बिना, अरबों रोगियों की  देखभाल करने वाले स्वास्थ्य कर्मचारियों और उनके परिवारों को जोखिम में डाल दिया जाता है क्योंकि उचित, सुरक्षित और गुणवत्ता देखभाल के लिए कोई बुनियादी ढांचा नहीं है।

मोसंगा, तंजानिया में एक जल परियोजना टैंक में सहकर्मियों और छात्रों के साथ सिस्टर बोकाम्बा
मोसंगा, तंजानिया में एक जल परियोजना टैंक में सहकर्मियों और छात्रों के साथ सिस्टर बोकाम्बा

"ताजा पेयजल प्राथमिक महत्व का मुद्दा है, क्योंकि यह मानव जीवन के लिए और स्थलीय और जलीय पारिस्थितिक तंत्र के समर्थन के लिए अनिवार्य है। स्वास्थ्य देखभाल के लिए ताजे पानी के स्रोत आवश्यक हैं। विशेष रूप से गंभीर समस्या गरीबों के लिए उपलब्ध पानी की गुणवत्ता है। हर दिन, असुरक्षित पानी पीने के कारण कई मौतें होती हैं और पानी से संबंधित बीमारियां फैलती हैं, जिनमें सूक्ष्मजीवों और रासायनिक पदार्थों के कारण होने वाली बीमारियां भी शामिल हैं। पेचिश और हैजा, अपर्याप्त स्वच्छता और पानी की आपूर्ति से जुड़े, पीड़ा और शिशु मृत्यु दर का एक महत्वपूर्ण कारण हैं।

संत पापा फ्राँसिस, विश्वपत्र लौदातो सी '§ 28 और 29'

मसंगा में आउटरीच

इस वास्तविकता का एक ठोस उदाहरण केन्या की सीमा से लगे उत्तर-पश्चिम के एक सुदूर शहर, तंजानिया के मसंगा में एक कलीसिया द्वारा संचालित स्वास्थ्य केंद्र है, जिसकी प्रमुख सिस्टर बिबिआन बोकाम्बा है। स्वास्थ्य केंद्र के बगल में एक स्वास्थ्य "ड्रीम सेंटर" भी चलाती हैं। अफ्रीका में एचआईवी/एड्स के इलाज और रोकथाम के लिए संत एजीदियो समुदाय के सहयोग से स्थापित एक स्वास्थ्य कार्यक्रम है, पिछले कुछ वर्षों में अफ्रीका में सार्वभौमिक स्वास्थ्य को बढ़ावा देने का ड्रीम सेंटर  का उत्कृष्ट और उन्नत साधनों के माध्यम से रोग राहत का दायरा व्यापक हो गया है।"

पास के स्कूली बच्चों के साथ दो अन्य जल भंडारण टैंक
पास के स्कूली बच्चों के साथ दो अन्य जल भंडारण टैंक

सिस्टर बोकाम्बा द्वारा चलाई जाने वाली संस्थाएँ कार द्वारा तीन घंटे की दूरी के निकटतम शहर के साथ क्षेत्र में पाई जाने वाली संस्थाएँ हैं। संस्थाएँ बुनियादी देखभाल और परामर्श के अलावा, चाहने वालों के लिए प्रति माह लगभग 400 चिकित्सा यात्राओं की सुविधा प्रदान करते हैं। पास में ही एक प्राथमिक विद्यालय भी है। क्षेत्र में अर्थव्यवस्था और कम आबादी वाले छोटे गांव मुख्य रूप से कृषि पर निर्भर करते हैं, अधिकांश के लिए अस्तित्व एक बड़ी चुनौती है। एक साल पहले तक, पानी की किल्लत थीं।  यह देखते हुए कि उनके पास पर्याप्त कुएं या पानी इकट्ठा करने के तरीके नहीं थे। इसके अलावा, सुरक्षित पेयजल सुनिश्चित करना संभव नहीं था। तब सिस्टर बोकाम्बा ने समुदाय के साथ काम किया और क्षेत्र में काम करने वाले कई उदार गैर सरकारी संगठनों के साथ भागीदारी करके पानी और स्वच्छता के बुनियादी ढांचे के उन्नयन में शामिल होने के लिए, साथ ही साथ समग्र मानव विकास को बढ़ावा देने वाले विभाग के साथ काम किया।

एक नया पानी का कुआं, स्थानीय लोगों के लिए एक और जीवन रेखा
एक नया पानी का कुआं, स्थानीय लोगों के लिए एक और जीवन रेखा

नए पानी के कुओं और टैंकों से जान बचाना

इन प्रयासों के बदौलत, पचास हजार से अधिक लोगों को अब स्वच्छ पानी उपलब्ध है, जो उनकी सेवाओं के लिए आवश्यक स्वास्थ्य और ड्रीम केंद्रों की आपूर्ति करता है। सिस्टर बोकाम्बा अब कहती हैं, “हमारे पास साफ पानी है। हमने एक कुआं बनाया। हमने बारिश से पानी इकट्ठा करने के लिए टैंक भी खरीदा, ताकि हम इसे रख सकें और इसका इस्तेमाल कर सकें।” वर्षा जल संग्रह उन्हें शुष्क गर्मी के महीनों में मदद करता है। एक नए कुएं से जुड़े तीन टैंकों के साथ ड्रिल किए जाने से पहले  यह संभव नहीं था। अब स्थिति में काफी सुधार हुआ है, वे और अधिक कुओं को जोड़ने की उम्मीद कर रही हैं, क्योंकि आबादी की जरूरतें बहुत अधिक हैं।

सिस्टर बोकाम्बा कहती हैं, "हमें और पानी जमा करने की जरूरत है। हम एक कुआं बना सकते हैं जैसे हमने अस्पताल में बनाया था। इसलिए मुझे लगता है कि हमें पानी जमा करने के लिए फिर से मदद की जरूरत है।” वहीं, स्वास्थ्य और ड्रीम केंद्रों में जलापूर्ति ने अनगिनत लोगों की जान बचाई है। हमारा अस्पताल बहुत से लोगों की मदद कर रहा है और "हमारे लिए सब कुछ वास्तव में आबादी के लिए एक बड़ी मदद है।"

सिस्टर बोकाम्बा स्थानीय स्कूली बच्चों के साथ एक पानी की टंकी के पास
सिस्टर बोकाम्बा स्थानीय स्कूली बच्चों के साथ एक पानी की टंकी के पास

समग्र मानव विकास को बढ़ावा देने के लिए विभाग ने पिछले साल एक दस्तावेज जारी किया जिसका शीर्षक था: "आक्वा फोन्स विताए - पानी पर अभिविन्यास, गरीबों के रोने और पृथ्वी के रोने का प्रतीक"। यह संत पापा फ्राँसिस और स्थानीय कलीसियाओं की सामाजिक शिक्षा को देखता है और सभी के लिए पानी के महत्व को एक आवश्यक संसाधन के रूप में रेखांकित करता है जिसे संरक्षित किया जाना चाहिए। सिस्टर बोकाम्बा अपने स्वयं के जीवन के अनुभव और मसंगा, तंजानिया में सेवा करने वालों के आधार पर खुले दिल से इसके बारे बताती हैं।

30 June 2021, 15:35