खोज

Vatican News
मलेशिया में कोविद जाँच करते हुए स्वास्थ्यकर्मी मलेशिया में कोविद जाँच करते हुए स्वास्थ्यकर्मी  (ANSA)

मलेशियाई कलीसिया ने महामारी से लड़ने के लिए दान दिया

मलेशियाई काथलिक धर्माध्यक्षों ने एक कोष में योगदान दिया है जो कोविड -19 महामारी के प्रसार से लड़ने और रोगियों का इलाज करने में मदद कर रहा है। उन्होंने अपने विश्वासियों से भी इसमें योगदान करने को कहा है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

कुआलालंपु, शनिवार 26 जून 2021 (वाटिकन न्यूज) : मलेशिया में काथलिक कलीसिया ने कोविड -19 महामारी से जूझ रहे एकजुटता आंदोलन को मदद दिया है। मलेशियाई काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन (सीबीसीएम) ने मलेशिया सॉलिडेरिटी कोविड-19 फंड में 1 मिलियन मलेशियाई रिंगित (मलेशियाई रुपया) की राशि देने का वादा किया है। कई आस्था-आधारित संगठनों और गैर-सरकारी संगठनों (एनजीओ) ने मलेशियाई त्ज़ू ची फाउंडेशन द्वारा शुरू किए गए इस फंड में योगदान दिया है। यह ताइवान स्थित अंतरराष्ट्रीय मानवीय और गैर-लाभकारी संगठन बुद्ध की करुणा से प्रेरित है और दान, चिकित्सा, शिक्षा और संस्कृति के क्षेत्र में अपने काम के माध्यम से प्रेम फैलाने के लिए समर्पित है। त्ज़ू ची फाउंडेशन का उद्देश्य रोकथाम और उपचार के माध्यम से महामारी से लड़ने के पहलों और कार्यक्रमों का समर्थन करना है।

कलीसिया का प्रयास

चांसलर फादर माइकल चुआ ने कहा, "यह गंभीर रूप से बीमार कोविड -19 रोगियों की उच्च संख्या से निपटने के लिए विभिन्न चिकित्सा उपकरणों की आपूर्ति के लिए हमारे सार्वजनिक अस्पतालों और स्वास्थ्य कर्मियों से सहायता के लिए तत्काल अनुरोध के जवाब में एक आपातकालीन कोष है।" कुआलालंपुर महाधर्मप्रांत के सीबीसीएम के साथ काम करने वाले पुरोहित ने कहा कि धर्माध्यक्षों ने अपने विश्वासियों से मलेशिया सॉलिडेरिटी कोविड-19 फंड में दान देकर इस उद्देश्य का समर्थन करने का आग्रह किया है। त्ज़ू ची फाउंडेशन मलेशिया गारंटी देता है कि जमा किया गया धन 100% उद्देश्यों के लिए ही उपयोग किया जाएगा।

मेलाका-जोहोर के धर्माध्यक्ष बर्नार्ड पॉल ने कहा, "यह एक आपातकालीन कोष है जिसमें हम 142 अस्पतालों के लिए जीवन रक्षक उपकरण उपलब्ध कराने में स्वास्थ्य कर्मियों की मदद करने के लिए योगदान दे रहे हैं।" यह एकजुटता और दान की भावना में है कि मलेशिया में कलीसिया महामारी और इसके प्रभावों का मुकाबला करने के लिए काम कर रही है। कारितास मेलाका-जोहोर ने लॉकडाउन से प्रभावित लोगों के लिए खाद्य सहायता कार्यक्रम शुरू किया है। कई पल्लियाँ फूड बैंक चलाते हैं, जिसमें जमीनी स्तर के कलीसियाई समुदाय जरूरतमंद परिवारों की पहचान करने के लिए सबसे आगे काम करते हैं।

कुचिंग के महाधर्मप्रांत ने सारावाक राज्य में काथलिक लाभार्थियों और दोस्तों के योगदान को सरवाक जनरल अस्पताल को 10,000 फेस मास्क और 6,200 व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (पीपीई) दान किए हैं।

 

कुचिंग के महाधर्माध्यक्ष साइमन पोह ने सिबू धर्मप्रांत के धर्माध्यक्ष जोसेफ ही और मिरी धर्मप्रांत के धर्माध्यक्ष रिचर्ड एनजी के साथ मिलकर एक विशेष संग्रह का समन्वय किया। उन्होंने नई सहयोगी पहल का आह्वान करते हुए कहा, "कोविड -19 की इस अवधि के दौरान सरवाक में फ्रंटलाइन कार्यकर्ताओं को सामग्री और आध्यात्मिक सहायता प्रदान करने की जरुरत है। सद्भावना वाले लोगों की हर छोटी मदद सभी के लिए सामान्य भलाई में योगदान करती है।"

एक अल्पसंख्यक समुदाय

सरकारी आंकड़ों के अनुसार, ईसाई अल्पसंख्यक समुदाय हैं, जो देश के 32.7 मिलियन लोगों में से 9.2 प्रतिशत हैं, जिनमें से 60% इस्लाम को मानते हैं। बौद्धों की संख्या 19.8 प्रतिशत अधिक है। काथलिक जिनकी संख्या 11.7 मिलियन से कुछ अधिक है, वे देश के ६ धर्मप्रांतों और ३ महाधर्मप्रांतों में फैले हुए हैं।

मलेशिया, सिंगापुर और ब्रुनेई के धर्माध्यक्ष मिलकर एक ही धर्माध्यक्षीय सम्मेलन बनाते हैं - मलेशिया, सिंगापुर और ब्रुनेई काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन (सीबीसीएमएसबीआई)। सम्मेलन के सदस्यों में एक धर्माध्यक्ष सिंगापुर से और एक ब्रुनेई से और बाकी सदस्य मलेशियाई हैं। हालाँकि, सीबीसीएम राष्ट्रीय मुद्दों पर निर्णय लेता है।

मलेशिया का कोविद-19 परिदृश्य

मलेशिया के स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को कोविद -19 के 5,812 नए मामले दर्ज किए, जो कुल 722,659 हो गए। पहले तीन मामले 25 जनवरी, 2020 को दर्ज किए गए थे। अब तक कुल 4,803 लोगों की मौत हुई है।

सरकार ने 1 जून को तालाबंदी लागू की, जो 28 जून को समाप्त होने वाली है। इस बीच, बड़े पैमाने पर टीकाकरण कार्यक्रम के हिस्से के रूप में 13 मिलियन से अधिक नागरिकों ने टीकाकरण के लिए पंजीकरण कराया है।

26 June 2021, 16:05