खोज

Vatican News
 वारिसपुरा जिले के एक सामाजिक कार्यकर्ता रेहान मसीह  खड़े हैं और नियमत ऑटो में वारिसपुरा जिले के एक सामाजिक कार्यकर्ता रेहान मसीह खड़े हैं और नियमत ऑटो में 

फैसलाबाद में एक भला समारी रेहान

फैसलाबाद के वारिसपुरा जिले में एक सामाजिक कार्यकर्ता का एक छोटा संगठन लोगों को नकद देकर नहीं, बल्कि व्यवसाय शुरू करने के लिए उपकरण खरीदकर उनकी मदद करता है। पिछले छह महीनों में गरीब ख्रस्तीय परिवारों के लिए 10 से अधिक छोटे उद्यम बनाए गए हैं। वित्तीय सहायता अमेरिका में दो चचेरे भाइयों से आती है जो केवल ईश्वर द्वारा चुकाए जाने की उम्मीद करते हैं।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

फैसलाबाद, बुधवार 2 जून 2021 (एशिया न्यूज) : वारिसपुरा जिले के एक सामाजिक कार्यकर्ता रेहान मसीह द्वारा शुरू किया गया एक छोटा सा एनजीओ भला समारी संसाधन केंद्र, गरीबों को सीधे पैसा नहीं देता है, लेकिन उन्हें जीविकोपार्जन के लिए व्यवसाय शुरू करने में मदद करता है।

इस दर्शन से प्रेरित और सीमित संसाधनों के साथ, केंद्र ने भले समारी के दृष्टांत और "उसकी देखभाल पर ध्यान दिया। जो कुछ मैं ने तुझे दिया है, यदि तू उससे अधिक खर्च करे, तो लौटते समय मैं तुझे उसका बदला दूंगा।” (लूक10 :35)

मसीह को जीवन ने सिखाया है कि किसी को मछली देने से बेहतर है, कि उसे मछली पकड़ना सिखाया जाए। इसलिए, वह लोगों को रिक्शा, छोटी दुकानें, सिलाई मशीन, ब्यूटी सैलून आदि छोटी गतिविधियों को शुरू करने में मदद करता है। यहां तक कि उन्होंने उन लोगों को गाय और बकरियां भी दीं जो उन्हें लाभप्रद तरीके से उपयोग करना जानते थे।

भला समारी संसाधन केंद्र

भला समारी संसाधन केंद्र की मदद से लोग सड़कों पर भीख मांगने या कर्ज से दबे होने के बजाय सम्मानजनक काम करने और खुद का समर्थन करने में सक्षम हुए हैं।

मसीह बताते हैं कि केंद्र किसी को पैसा देने के बजाय, आवश्यक उपकरण खरीदता है और उसे सौंप देता है, इस प्रकार यह सुनिश्चित करता है कि धन का उपयोग अन्य उद्देश्यों के लिए नहीं किया जाता है। लोगों को वह अपने व्यवसाय के लिए आवश्यक चीज़ों को चुनने में मदद करता है और इसे वितरित करता है।

अमेरिका में उनके दो चचेरे भाई हैं, नायर और इसाक, जो उनके वित्तीय समर्थक हैं। उनके लिए, एकमात्र इनाम उस तरह की आंतरिक संतुष्टि है जिसे केवल ईश्वर ही दे सकते हैं। पिछले छह महीनों में उन्होंने गरीब ख्रीस्तीय परिवारों द्वारा चलाए जा रहे 10 से अधिक छोटे काम को शुरू करने में मदद की है जबकि अन्य 50 प्रतीक्षारत हैं।

रेहान का लक्ष्य परिवारों को उतना ही देना है जितना उन्हें "बिना किसी ब्याज के" मिला - वास्तव में, वह अपने लिए एक भी रुपया नहीं रखता है, सब कुछ लाभार्थियों की गतिविधियों में चला जाता है।

अब वह अन्य छोटे व्यवसाय प्रयासों में मदद करने की योजना बना रहा है, एक मामले में एक बारबेक्यू प्रदान करना, जिसमें लगभग दस परिवार संभावित उद्यमों के लिए उससे बात करने के लिए तैयार हैं।

लाभार्थियों की गवाही

एक दर्जी बनने की इच्छा रखने वाले विकलांग व्यक्ति इरफान मसीह ने कहा, "उन्होंने मुझे अपने दो पैरों पर खड़े होने में मुश्किल समय में मदद की।" उन्होंने एशिया न्यूज को बताया, "रेहान और उनकी टीम ने मुझे कपड़ा मशीन, धागे और कपड़े मुहैया कराए।" अब वह पुरुषों और महिलाओं के लिए परिधान और स्कूल यूनिफॉर्म बनाता है, जो प्रति दिन कम से कम 20 अमेरिकी डॉलर की कमाई करता है, जिससे वह अपने परिवार का भरण-पोषण कर सकता है।

एक अन्य लाभार्थी नियमत मसीह बताते हैं कि वह कई इमारतों में चौकीदार का काम करता था। उसने रेहान से मुलाकात की और ऑटो रिक्शा चलाने के बारे बात की। कुछ महीनों के बाद रेहान ने उसे एक रिक्शा दिया, जिसकी बदौलत अब वह अपने परिवार के लिए एक सम्मानजनक जीवन यापन करता है।

02 June 2021, 15:27