खोज

Vatican News
तिमोर में बाढ़ तिमोर में बाढ़ 

बाढ़ के बाद घरों के पुनर्निर्माण में मदद करती तिमोर-लेस्ते कलीसिया

तिमोर के काथलिक धर्माध्यक्षों ने सरकार के साथ मिलकर एक माह पहले चक्रवाती बारिश के कारण हुए विनाश के बीच पुनःनिर्माण एवं पुनर्वास के कार्य को आगे बढ़ाने का कार्य कर रहे हैं।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

तिमोर-लेस्ते, बृहस्पतिवार, 6 मई 2021 (वीएनएस)- तिमोर लेस्ते (पहले पूर्वी तिमोर) की काथलिक कलीसिया सरकार के साथ मिलकर एक माह पहले आये बाढ़ से क्षतिग्रस्त घरों का पुनःनिर्माण करने का काम कर रही है जिसमें करीब 40 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी एवं हजारों लोग सुरक्षा की खोज में भागने के लिए मजबूर हुए थे।

कलीसिया का प्रयास

तिमोर के काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के महासचिव फादर लेओनाद्रो मरिया अलवेस ने बतलाया कि यह प्रयास सम्मेलन एवं कलीसिया के अन्य संस्थाओं के द्वारा सीधे किया जा रहा है। उन्होंने उका न्यूज को बतलाया कि सीईटी ने घरों के निर्माण में पूरी मदद नहीं दी है बल्कि निर्माण के संसाधनों को उपलब्ध कराया है। उन्होंने कहा, "उपलब्ध धन के अनुसार, हम केवल लगभग 15 घरों के लिए सहायता राशि आवंटित करने का लक्ष्य रख सकते हैं।"

इस बीच, कलीसिया के सामाजिक सेवा विभाग ने 58 घरों के पुनः निर्माण का लक्ष्य रखा है जिनमें से 10 बुरी तरह ध्वत हैं, 23 उससे कम और 25 में थोड़ी क्षति हुई है। फादर अलवेस ने कहा कि यह कठिन समय में बाढ़ पीड़ितों को काथलिक धर्माध्यक्षों की ओर से राहत देने का प्रयास है। 5 बच्चे जिनकी माताएँ बाढ़ में मौत की शिकार हो गई उन्हें कलीसिया द्वारा संचालित अनाथालय में लिया जाएगा।

इंडोनेशिया एवं तिमोर लेस्ते में सेरोजा तूफान के कारण 29 मार्च से 4 अप्रैल (पास्का रविवार) तक हुई भारी वर्षा से भयंकर बाढ़ आ गई थी और भूस्थलन हुए थे। तिमोर-लेस्ते में राजधानी डिली एवं आसपास के निचले इलाकों में कुल 8 नगरपालिकाएं प्रभावित हुईं थी। तिमोर-लेस्ते कुल 41 मौतें और इंडोनेशिया में 181 में मौंतें दर्ज की गई थी।

फादर अलवेस ने गौर किया कि डिली के महाधर्माध्यक्ष विर्जिलियो दो कार्मो दा सिल्वा खुद पीड़ितों के पास पहुँचे तथा खुद राहत सामग्रियों का वितरण किया। धर्माध्यक्षीय सम्मेलन पीड़ितों को तार्किक सहायता प्रदान कर रहे हैं। उन्होंने बतलाया कि करीब 50,000 डॉलर के द्वारा धर्माध्यक्ष 15,000 बाढ़ पीड़ितों को भोजन, कपड़े एवं अन्य आवश्यक वस्तुएँ प्रदान की हैं।

फादर अंजेलो सलशिना ने बताया कि डिली महाधर्मप्रांत के समाज सेवा विभाग उन परिवारों की विशेष मदद कर रही है जिनके सदस्य मर गये हैं। वर्तमान में 5 बच्चों को कलीसिया के अनाथालय में भेज दिया गया है।

कोविड-19 संक्रमण

बाढ़ से पहले सरकार कोविड-19 को नियंत्रित करने का प्रयास कर रही थी। तिमोर लेस्ते ने 7 अप्रैल से टीकाकरण अभियान शुरू किया है। जबकि देश इस समय महामारी की अधिक बुरी स्थिति का अनुभव कर रही है। कोविड-19 से पहली मौत 21 मार्च को हुई थी। इस समय देश में करीब 1,315 मामले हैं।

ऑस्ट्रेलिया ने 5 मई को देश के कोविड -19 वैक्सीन समर्थन के रूप में तिमोर-लेस्ते को 20,000 टीकों की प्रारंभिक डिलीवरी प्रदान की थी।

काथलिक बहुल देश तिमोर लेस्ते ने 2002 में आजादी प्राप्त की है। जिसमें करीब 1.3 मिलियन आबादी के 95 प्रतिशत लोग काथलिक हैं।

 

06 May 2021, 16:22