खोज

कहानी
Vatican News

‘लौदातो सी' से प्रेरित विशेष पहुंच प्रदान करती सामुदायिक बेकरी

2018 के बाद से, स्टुपिनिगी का लौदातो सी समुदाय हमारे सामान्य घर की देखभाल पर संत पापा फ्राँसिस के विश्वपत्र के सिद्धांतों का पालन करते हुए गतिविधियों और ठोस पहुँच में लगी हुई है। हाल के वर्षों में, सभी उम्र के लगभग तीस स्वयंसेवकों ने आवास और वित्तीय आपात स्थितियों से निपटने वाले परिवारों के लिए सामुदायिक भोजन का आयोजन किया है। महामारी से उत्पन्न संकट के बावजूद, उन्होंने सामुदायिक बेकरी के माध्यम से अपनी पहुंच जारी रखा है, स्थानीय रूप से उत्पादित अनाज से आटा गूंथना और जरूरतमंद लोगों के लिए रोटी पकाना।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, गुरुवार 20 मई 2021 (वाटिकन न्यूज) : महामारी भी उन्हें रोकने में सफल नहीं हो पाई है। टूरिन के महानगरीय क्षेत्र में स्टुपिनिगी का लौदातो सी समुदाय के स्वयंसेवकों को कोविड आपातकाल से और भी अधिक प्रेरणा मिली है। उन्होंने अपनी कमर कस ली है और कठिनाइयों के बावजूद, "फोरनो सोलिदाले-इम्पास्तियामें उमानिता"   (एकजुटता बेकरी - आइए मानवता को 'गूंथें') प्रोजेक्ट में,  लकड़ी वाले ओवन में रोटी पकाना, प्राचीन अनाज से बने आटे का उपयोग करना जारी रखा है और इसे संकट से सबसे अधिक प्रभावित परिवारों को मुफ्त में वितरित करता है।, स्टुपिनिगी में समुदाय, कार्लो के धर्माध्यक्ष डोमेनिको पॉम्पिली और स्लोफूड मूवमेंट के संस्थापक कार्लों पेट्रिनी द्वारा स्थापित साठ से अधिक लौदातो सी 'समुदायों में से एक है। वे सामुदायिक जीवन की मूल वास्तविकताओं के रूप में संत पापा फ्राँसिस की 2015 के विश्वपत्र की भावना में काम करते हैं, गतिविधियों के माध्यम से अभिन्न पारिस्थितिकी के विषयों को बढ़ावा देने और एक अधिक टिकाऊ समाज के लिए ठोस पहुंच के लिए प्रतिबद्ध हैं।

निकटता और गर्मजोशी से चिह्नित रिश्ते

स्टुपिनिगी के लौदातो सी समुदाय के समन्वयक अलेसांड्रो एज़ोलिना, वाटिकन न्यूज को बताते हैं, "हम 30 हैं और उम्र की दृष्टिकोण से एक बहुत ही विविध समूह है, कुछ बड़े हैं, कुछ युवा और कुछ बहुत छोटे भी हैं।"

स्टुपिनिगी के लौदातो सी समुदाय के सदस्य और उनकी "इम्पास्तियामो उमानिता" बेकरी
स्टुपिनिगी के लौदातो सी समुदाय के सदस्य और उनकी "इम्पास्तियामो उमानिता" बेकरी

अलेसांड्रो ने कहा, "2018 के बाद से हम स्टुपिनिगी के लौदातो सी समुदाय के रूप में "हमारे आम घर की देखभाल पर विश्वपत्र द्वारा व्यक्त किए गए सिद्धांत को अपना खुद का बनाने की कोशिश कर रहे हैं", क्योंकि हम टूरिन के बाहरी इलाके में हैं। हम विशेष रूप से अभिन्न पारिस्थितिकी और सामाजिक गतिविधियों से जुड़ने में सहायता करने का प्रयास करते हैं। हम विशेष रूप से आर्थिक संकट से प्रभावित क्षेत्र में रहते हैं, जो समुदाय और रिश्तों को भी प्रभावित करता है। इसलिए, हम पारिस्थितिकी और पर्यावरण संरक्षण के माध्यम से एक सामाजिक विकास करना चाहते हैं।" लक्ष्य एक है "निकट और गर्म संबंधों" से बना "दैनिक जीवन की पारिस्थितिकी", जैसा कि संत पापा फ्राँसिस ने खुद लौदातो सी में व्यक्त किया था, जहां "पर्यावरण की सीमाओं की भरपाई प्रत्येक व्यक्ति के आंतरिकता द्वारा की जाती है जो महसूस करता है वे एकजुटता और अपनेपन के नेटवर्क का हिस्सा हैं। "इस तरह, कोई भी स्थान पृथ्वी पर एक नर्क से एक सम्मानजनक जीवन में बदल सकता है।" (लौदातो सी '148)।

गरीबी और बेरोजगारी

स्टुपिनिगी", स्थानीय लौदातो सी 'समुदाय के समन्वयक अलेसांड्रो बताते हैं, "हम शहर की परिधि में काम करते हैं,  "निकेलिनो नगर टूरिन के बाहरी इलाके में स्थित है, जो एक श्रमिक वर्गों का नगर है। यह क्षेत्र में गरीबी की उच्चतम दर है।" एज़ोलिना हाथ में डेटा लिये बताते हैं कि निकेलिनो, इस क्षेत्र का दूसरा सबसे गरीब नगर है: औसत आय प्रति वर्ष 19 हजार यूरो है, सबसे कम आय वाला शहर वालेंज़ा है। वर्षों से मजदूर वर्ग के क्षेत्र में औद्योगीकरण का एक सपना देखा गया है जो अक्सर साकार होने में विफल रहा है। कोरोनावायरस ने स्थिति को और खराब कर दिया है। "सोशल आउटरीच के साथ हम लौदातो सी 'समुदाय के रूप में कार्य करते हैं, हम 50 हजार निवासियों वाले क्षेत्र में भोजन और आपातकालीन वित्तीय और आवास सहायता के साथ लगभग 600 परिवारों की सेवा करते हैं।"

सामुदायिक भोजन

पर्यावरण और इसके संरक्षण पर शैक्षिक बैठकों के अलावा, पीएमोंटे समूह विभिन्न सामाजिक गतिविधियों को अंजाम देता है। उनमें पहला पहल महामारी के कारण होने वाले प्रतिबंधों से पहले हो रहा है, "वर्ष के अलग-अलग समय पर सामुदायिक भोजन का तैयारी" से जुड़ा हुआ है, एज़ोलिना कहती है, "100-150 लोगों को एक साथ लाना,  जैविक उत्पाद जिसमें पर्यावरण, भोजन, खाद्य आपूर्ति और भूख एवं आर्थिक कठिनाइयों से प्रभावित परिवारों को समर्पित है। परिवारों को भोजन के लिए कुछ भी भुगतान नहीं करना पड़ता है, वे अपने द्वारा बनाई गई कला का एक काम, एक गीत, एक कविता, या बच्चे द्वारा बनाई गई एक ड्राइंग लाते हैं। एक युगल था उसने उपहार के रूप में अपने रिश्ते का इतिहास लाया, जो चुनौतियों और जटिलताओं से भरा, लगभग एक फिल्म की तरह था।”

सामुदायिक बेकरी

दूसरी पहल सामुदायिक बेकरी है: रविवार को, फिर से कोविड विरोधी उपायों के अनुपालन में, "हम स्थानीय जैविक आटा गूंधते हैं,  हमारे पास लकड़ी से जलने वाला ओवन है जो लगभग 200-300 लोगों के लिए रोटी पकता है। गूंधने और रोटी पकाने के बाद, हमारे स्वयंसेवक इसे जरूरतमंद लोगों को वितरित करते हैं। अपने फ़ेसबुक पेज पर, स्टुपिनिगी के लौदातो सी समुदाय संचालकों साथ की गई प्रतिबद्धता की बात करते हैं, "हमारे हाथों में जो कुछ भी है: पानी, आटा, खमीर, आग, लकड़ी, चलने के लिए हमारे पैर और दूसरों का सामना करने के लिए आँखें, इस सबके द्वारा हम अपने लक्ष्य प्राप्त करने में आंशिक रूप से सफल हो रहे हैं। समन्वयक अलेसांड्रो कहते हैं कि हम परिवारों को रोटी के उत्पादन करने और उसके वितरण दोनों में शामिल कर रहे हैं। हम हमेशा एक सक्रिय दृष्टिकोण की तलाश में रहते हैं। संत पापा फ्रांसिस के विश्वपत्र में कहा गया है कि कुछ क्रियाएं हमेशा "वैश्विक समस्याओं" को हल नहीं कर सकती हैं, लेकिन पुरुष और महिलाएं अभी भी सकारात्मक रूप से हस्तक्षेप करने में सक्षम हैं" और "हमारी सभी सीमाओं के बावजूद, उदारता, एकजुटता और देखभाल के संकेत को हम अपने तक सीमित नहीं रख सकते, क्योंकि हम प्यार के लिए बनाये गये हैं।" (लौदातो सी '58)।

समुदाय द्वारा रोटी तैयार
समुदाय द्वारा रोटी तैयार

हर संदर्भ में

अलेसांड्रो वार्ता समाप्त करते हुए कहते हैं, लौडाटो सी 'समुदाय का अनुभव, "अलग-अलग पृष्ठभूमि वाले लोगों को एक साथ लाता है, जिनके पास एक बुनियादी आम "जीवन शैली" है जो संत पापा के विश्वपत्र (लौदातो सी '111) में प्रस्तावित है। "सब कुछ जुड़ा हुआ है, हम सभी एक दूसरे से जुड़े हुए हैं," एज़ोलिना ने संत पापा को उद्धृत करते हुए दोहराया। "यह वही है जिसे हमें हर संदर्भ में समझने की जरूरत है: टूरिन के बाहरी इलाके से लेकर बड़े जनसंख्या केंद्रों तक।"

19 May 2021, 16:18