खोज

Vatican News
पेरिस महाधर्मप्रांत के विकर जेनरल  यहूदी सारा के लिए न्याय की मांग करते हुए पेरिस महाधर्मप्रांत के विकर जेनरल यहूदी सारा के लिए न्याय की मांग करते हुए  (AFP or licensors)

पूर्वी ख्रीस्तियों के साथ एकजुटता में शामिल फ्रांसीसी काथलिक

फ्रांस में काथलिक पश्चिमी और पूर्वी ख्रीस्तियों के बीच संबंधों को मजबूत करने के तरीके के रूप में पूर्वी-संस्कार काथलिकों के साथ एकजुटता दिखाने हेतु शामिल हो रहे हैं।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

पेरिस, शनिवार 8 मई 2021 (वाटिकन न्यूज) : रविवार, 9 मई को, फ्रेंच काथलिक संघ ‘ओयूवेरे दी ओरिएंट’ पूर्वी ख्रीस्तियों के साथ अपने चौथे अंतर्राष्ट्रीय एकता दिवस का आयोजन करेगा।

इस अवसर पर, आर्मेनियाई काथलिकों, खलदेई काथलिकों, कॉप्टिक काथलिकों, इथियोपियाई और इरीट्रियाई काथलिकों (अफ्रीका में), ग्रीक मेलकाइट काथलिकों, मारोनाइट काथलिकों, सीरियन काथलिकों, सिरो-मालबार काथलिकों (भारत में), और सिरो-मलंकरा काथलिकों (भारत में) को रोम के धर्माध्यक्ष के साथ पूर्वी कलीसियाओं की प्रार्थना में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया जाता है।

पूर्व और पश्चिम के बीच संबंध

पहल का उद्देश्य पश्चिमी और पूर्वी ख्रस्तियों के बीच के संबंध को मजबूत करना है, जिनमें से कई अभी भी सताए जा रहे हैं और दुनिया के कई देशों में अपने अस्तित्व के लिए लड़ रहे हैं।

ओयूवेरे दी'ओरिएंट के अध्यक्ष फ्रांसीसी धर्माध्यक्ष पास्कल गोल्निस्क ने अपने संदेश में कहा, "इस दिन, हम एक दूसरे के लिए आशा के संकेत लाने के लिए और भ्रातृ भाव में प्रार्थना करने के लिए आमंत्रित किए जाते हैं।"

उन्होंने जोर देकर कहा कि "पूर्वी ख्रीस्तियों का इतिहास हमारी सभ्यता का इतिहास है, मिस्र और मेसोपोटामिया, बाइबिल, यूनानियों और रोमन लोगों के बिना यूरोप अपनी पहचान नहीं समझ सकता है।"

एकजुटता के कार्य

इसलिए काथलिकों को एकजुटता के विशेष दिन में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया जाता है, वे या तो दिन के मतलब के लिए प्रार्थना कर सकते हैं, या एक आभासी नोविना प्रार्थना में भाग ले सकते हैं, या एक विशेष प्रार्थना बनाकर ओयूवेरे दी'ओरिएंट को भेज सकते हैं।

ओयूवेरे दी'ओरिएंट संघ 160 वर्षों से अधिक समय से मध्य पूर्व के 23 देशों, अफ्रीका के हॉर्न, अफ्रीका, पूर्वी यूरोप और भारत के ख्रीस्तियों की मदद कर रहा है।

संघ शिक्षा, स्वास्थ्य देखभाल ,सामाजिक सहायता और सामुदायिक कार्रवाई एवं संस्कृति और विरासत इन चार क्षेत्रों में धर्माध्यक्षों, पुरोहितों और धर्मसमाजों के कामों में सहायता प्रदान करता है।

08 May 2021, 13:10