खोज

Vatican News
नव -नियुक्त धर्माध्यक्ष फादर ख्रीस्तीयन कार्लास्सारे अपने समुदाय के साथ नव -नियुक्त धर्माध्यक्ष फादर ख्रीस्तीयन कार्लास्सारे अपने समुदाय के साथ 

दक्षिणी सूडान : नवनियुक्त धर्माध्यक्ष पर गोली चलायी गई

सूडान के रमबेक काथलिक धर्मप्रांत के नव-नियुक्त धर्माध्यक्ष फादर ख्रीस्तीयन कार्लास्सारे को अज्ञात बंदुकधारियों ने गोली मारकर घायल कर दिया है। इटली में जन्मे कोम्बोनी मिशनरी फादर ख्रीस्तीयन कार्लास्सारे पर रविवार को हमला किया गया था।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

दक्षिणी सूडान, मंगलवार, 27 अप्रैल 2021 (वीएनई)- बंदुकधारी लोगों ने फादर के आवास जाकर, उनके शयनकक्ष के दरवाजे पर तब तक गोली चलायी जबतक कि वे द्वार नहीं खोले और जब वे बाहर निकले तब उनके दोनों पैंरों पर गोली मार दी।

पैरों के निचले भाग में गोली मारी

फादर ख्रीस्तीयन (नवनियुक्त धर्माध्यक्ष) ने स्थानीय मीडिया को बतलाया कि "रात के करीब 1 बजे कुछ लोग मेरे दरवाजे पर आये और अंदर घुसने की कोशिश की। उन्होंने मेरे दरवाजे पर गोली मारी। जब दरवाजा खोला और मैं बाहर निकला तथा पूछा कि वे क्या चाहते हैं तब उन्होंने मेरे पैर के नीचले भाग में गोली मारना शुरू किया।" नवनियुक्त धर्माध्यक्ष को चिकित्सा के लिए नाईरोबी लिया गया है। उन्होंने कहा, "आप मेरे लिए तथा रमबेक के लोगों के लिए प्रार्थना करें। हम इस तरह के कृत्यों को अंजाम देनेवालों को माफ करते हैं। हम किसी तरह की शिकायत नहीं रखते हैं।"

दक्षिणी सूडान में किसी को मालूम नहीं है कि इस तरह से गोली मारे जाने का वास्तविक कारण क्या है।

वाटिकन प्रेस कार्यालय के निदेशक मात्तेओ ब्रूनी ने वाटिकन रेडियो को इस बात की पुष्टि दी कि पोप फ्राँसिस गोली मारे जाने की घटना के प्रति सचेत हैं एवं फादर कार्लास्सारे एवं दक्षिणी सूडान के लोगों के लिए प्रार्थना कर रहे हैं।

खामोश बंदुक बढ़ने में मददगार

रमबेक के ला साले स्कूल के निदेशक ब्रादर जोसेफ अलक ने वाटिकन न्यूज़ को बतलाया कि "इस समय कोई संघर्ष नहीं है। युद्धविराम संधि जारी है। हम उम्मीद करते हैं कि शांति लम्बे समय तक बनी रहेगी। युद्ध में वापसी से बेहतर है सशस्त्र संघर्ष न हो। बंदुक खामोश हैं और हम भविष्य के लिए आशावान हैं।

युद्ध का अंत होने पर, ला साले एवं रमबेक समुदाय के ब्रादरों ने लड़कों के लिए एक स्कूल खोला है। पर दुर्भाग्य से, दक्षिणी सूडान के कई युवाओं के हाथों में बंदुक है।

क्षमाशीलता का पास्का

इस साल के पास्का रविवार को और जब दक्षिणी सूडान ने कोविड-19 वैक्सिन लेने की योजना बनायी है जुबा के महाधर्माध्यक्ष स्तेफन अमेयू मार्टिन मूला ने प्रार्थना की कि यह पास्का दक्षिणी सूडान के लोगों में क्षमाशीलता की भावना लाये।

उन्होंने वाटिकन न्यूज को बतलाया, "क्षमाशीलता ही पास्का है और पास्का क्षमाशीलता है। इस क्षमाशीलता को हमसे शुरू होना चाहिए। हमें एक-दूसरे को दिल की गहराई से क्षमा कर देना चाहिए। क्षमाशीलता तब साकार होता है जब हम दूसरों को क्षमा कर देते हैं। ख्रीस्त के क्रूस एवं पुनरूत्थान द्वारा हम भी अपने जीवन में स्वर्ग की अनुभूति पा सकते हैं।"

दक्षिणी सूडान के लिए संत पापा की चिंता

11 अप्रैल 2019 को, वाटिकन द्वारा दक्षिणी सूडान के राजनीतिक नेताओं के लिए आयोजित आध्यात्मिक साधना के बाद संत पापा फ्रांसिस ने घुटनों के बल दक्षिणी सूडान के नेताओं के पैर चूमकर आग्रह किया था कि युद्ध का अंत किया जाए।

संत पापा ने नेताओं से कहा था, "आपने एक प्रक्रिया शुरू की है, इसका अंत अच्छा हो। आपके बीच असहमति हो सकती है किन्तु ये आपके कार्यालयों के दायरे में हो, जबकि लोगों के सामने, आप हाथ जोड़ें। इस तरह आप देश के एक साधारण नागरिक होने के बदले राष्ट्र के पिता बनेंगे। एक भाई के रूप में, मैं आपसे आग्रह करता हूँ कि शांति बनाये रखें। मैं अपने दिल की गहराई से कहता हूँ कि आइये हम आगे बढ़ें। इसके लिए कई चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा किन्तु आप घबरायें नहीं।"

24 दिसम्बर 2020 को क्रिसमस के अवसर पर कैंटरबरी के महाधर्माध्यक्ष जस्टिन वेलबे एवं स्कॉटलैंड में प्रेस्बितेरियन कलीसिया के मोडेरेटर मार्टिन फेर को लिखे पत्र में संत पापा ने दक्षिणी सूडान के राजनीतिक नेताओं को प्रोत्साहन दिया था कि वे शांति को बनाये रखें। उन्होंने लिखा, "हम खुश हैं कि आपने थोड़ी प्रगति की है किन्तु जान लीजिए कि यह आपके लोगों के लिए पूर्ण शांति का एहसास करने के लिए काफी नहीं है। जब हम दौरा करेंगे तो देश को बदला हुआ देखना चाहेंगे।"  

 

27 April 2021, 18:14