खोज

Vatican News
बाढ़ और भूस्खलन के उपरान्त राहत कर्मी मलबे को साफ़ करते हुए, 08. 04.2021 बाढ़ और भूस्खलन के उपरान्त राहत कर्मी मलबे को साफ़ करते हुए, 08. 04.2021  (ANSA)

बाढ़ पीड़ितों के लिये इन्डोनेशियाई कलीसिया की अपील

इन्डोनेशिया की काथलिक कलीसिया ने देश के काथलिक बहुल प्रान्त पूर्वी नूसा तेन्गारा में विगत सप्ताह बाढ़ एवं भूस्खलन से पीड़ित लोगों की मदद की अपील की है।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

इन्डोनेशिया, शुक्रवार, 9 अप्रैल 2021 (ऊका समाचार): इन्डोनेशिया की काथलिक कलीसिया ने देश के काथलिक बहुल प्रान्त पूर्वी नूसा तेन्गारा में विगत सप्ताह बाढ़ एवं भूस्खलन से पीड़ित लोगों की मदद की अपील की है।  

राष्ट्रीय आपदा न्यूनीकरण एजेंसी ने गुरुवार को कहा कि उष्णकटिबंधीय चक्रवात सेरोजा के परिणामस्वरूप हुई मूसलाधार वर्षा ने ईस्टर रविवार को नूसा तेन्गारा के 12 शहरों एवं ज़िलों को प्रभावित किया है, जिनमें कम से कम 138 लोगों के प्राण चले गये हैं। 61 लोग लापता हैं तथा 271 मकान एवं 99 सार्वजनिक इमारतें क्षतिग्रस्त हो गई हैं। लगभग 8000 लोगों को उनके घरों के परित्याग तथा अन्यत्र शरण लेने के लिये बाध्य होना पड़ा है।  

धर्माध्यक्षों की अपील

इन्डोनेशिया के काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के अध्यक्ष तथा जकार्ता के कार्डिनल इग्नेशियुस सुहार्यो हरजाओमोदियो ने नूसा तेन्गारा प्रान्त के लोगों के लिये मदद की अपील करते हुए बुधवार को एक विडियो सन्देश में कहा कि धर्माध्यक्षीय सम्मेलन की ओर से वे इन्डोनेशिया तथा विश्व के काथलिकों से आग्रह करते हैं कि वे बाढ़ एवं भूस्खलन से पीड़ित लोगों की हर सम्भव मदद करें। उन्होंने कहा कि ज़रूरतमन्द के प्रति दया ही हमारे विश्वास को ठोस रूप प्रदान करती तथा आशीष में परिणत होती है।   

कारितास

विश्वव्यापी काथलिक उदारता संगठन कारितास की इन्डोनेशियाई शाखा "कारिना" के अध्यक्ष पालेमबाँग के महाधर्माध्यक्ष आलोइस सुदार्सो ने भी एक विडियो सन्देश जारी कर दया के ठोस कार्यों की अपील की है। उन्होंने कहा, "इन्डोनेशिया की कलीसिया उदासीन नहीं रह सकती, वह उन सब का ध्यान रखने के लिये प्रतिबद्ध है जो ईस्टर रविवार की बाढ़ एवं भूस्खलन से पीड़ित हैं। कारितास "कारिना" सभी से दया एवं उदारता के कृत्यों की अपील करती है।"  

कारितास की इन्डोनेशियाई शाखा "कारिना" के अध्यक्ष ने ऊका समाचार को बताया कि अब तक बाढ़ पीड़ितों के लिये उन्हें एक अरब इन्डोनेशियाई रुपये यानि लगभग 71 हज़ार अमरीकी डॉलर मिल चुके हैं। उन्होंने बताया कि कारितास द्वारा एकत्र अनुदान बाढ़ पीड़ितों के पुनर्वास के लिये खर्च किये जायेंगे।    

09 April 2021, 11:11