खोज

Vatican News
दक्षिण कोरिया ,बुसान दक्षिण कोरिया ,बुसान 

दक्षिण कोरिया के शहीद तीर्थ स्थल को वाटिकन द्वारा मान्यता मिली

हैमी शहीद स्थल में लगभग 2,000 सताए गए काथलिकों के महान विश्वास की गवाही है। मध्य दक्षिण कोरिया के सेओसन में स्थित हैमी शहीद पवित्र स्थल को वाटिकन द्वारा एक अंतरराष्ट्रीय तीर्थ स्थल के रूप में मान्यता दी गई।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

द. कोरिया,सेओसोन, बुधवार 10 मार्च 2021 (रेई) : दक्षिण कोरिया के काथलिक विश्वासी एक अंतरराष्ट्रीय तीर्थ स्थल के रूप में हजारों शहीदों को समर्पित एक पवित्र स्थल की वाटिकन द्वारा आधिकारिक मान्यता का उत्सव मना रहे हैं।

डैजोन के धर्माध्यक्ष लेज़ारो यू हींग-साइक ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि मध्य दक्षिण कोरिया के सेओसन में स्थित हैमी शहीद पवित्र स्थल को वाटिकन द्वारा एक अंतरराष्ट्रीय तीर्थ स्थल घोषित किया गया।

धर्माध्यक्ष लेज़ारो ने कहा कि वाटिकन की मान्यता 1 मार्च को प्रसिद्ध धर्मशास्त्री और स्थानीय मिशनरी पुरोहित, फादर थॉमस चोई यांग-ईओपी के जन्म की 200 वीं वर्षगांठ के अवसर पर सार्वजनिक की गई थी, जो संत प्रकरण की राह पर हैं। वाटिकन घोषणा "कलीसिया की याद में हमेशा के लिए रहने वालों के जीवन को उज्ज्वल करती है।" "विश्वास के तीर्थ स्थल पर चलते हुए, आइए हम उन शहीदों से मिलें जो अपने जीवन और मृत्यु के माध्यम से ईश्वर के मुक्ति कार्य के लिए एक वसीयतनामा हैं।"

हैमी का तीर्थ राजधानी सियोल से लगभग 280 किलोमीटर दक्षिण में दक्षिण चुंगचेओंग प्रांत में सेओसान नगरपालिका में स्थित है। यह तीर्थालय लगभग 2,000 काथलिकों के महान विश्वास की गवाही देता है, जो 1866 और 1882 के बीच जोसियन राजवंश के शासकों द्वारा कोरियाई ख्रीस्तियों के सामूहिक उत्पीड़न के दौरान जेल में बंद करदिये गये थे, वहाँ क्रूर अत्याचार में उन्हें मार डाला गया और वहीं दफन किया गया था।

कहानियों द्वारा जीवन परिवर्तन

बिशप यू ने कहा कि वेटिकन ने पिछले साल 29 नवंबर को आधिकारिक तौर पर तीर्थ स्थल के रूप में होमी के तीर्थालय को मंजूरी दी थी और इसके उद्घोषणा के लिए कदम उठाए गए थे।

सैकड़ों अज्ञात शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए हैमी मैदान में कलीसिया के प्रयास से 16 मीटर का एक स्मारक टॉवर स्थापित किया गया था। कलीसिया के रिकॉर्ड में केवल 132 काथलिकों के नाम और बपतिस्मा लेने वाले ख्रीस्तियों नाम हैं जिन्होंने हैमी में शहादत को स्वीकार किया।

नवीन सुसमाचार प्रचार हेतु गठित परमधर्मपीठीय सम्मेलन के अध्यक्ष महाधर्माध्यक्ष सल्वातोर फिशिकेला ने डिक्री में कहा कि कोरियाई कलीसिया कई शहीदों की गवाही "वंशजों के प्रति विश्वास और शिष्यों का एक जीवित समुदाय है और येसु मसीह के लिए उनकी गवाही सच है।”

सियोल काथलिक तीर्थालय के बाद हैमी तीर्थालय वाटिकन द्वारा अंतरराष्ट्रीय तीर्थ स्थल के रूप में मान्यता प्राप्त  दूसरा कोरियाई स्थल है और एशिया में तीसरा है।

प्यू रिसर्च सेंटर के अनुसार, दक्षिण कोरिया के लगभग 46 प्रतिशत लोग किसी भी धर्म का पालन नहीं करते हैं, जबकि 29 प्रतिशत ख्रीस्तीय और 23 प्रतिशत लोग लगभग 51.8 मिलियन आबादी बौद्ध है।

जबकि प्रोटेस्टेंट बहुमत बनाते हैं, काथलिक  कलीसिया की भी महत्वपूर्ण संख्या है, अनुमानित 11 प्रतिशत आबादी या लगभग 5.6 मिलियन लोग काथलिक हैं।

10 March 2021, 14:28