खोज

Vatican News
रांची स्थित संत अन्ना की पुत्रियों के मूल मठ में स्थापित ग्रोटो रांची स्थित संत अन्ना की पुत्रियों के मूल मठ में स्थापित ग्रोटो 

संत अन्ना की पुत्रियों के धर्मसंघ राँची की महासभा सम्पन्न

महासभा में धर्मसमाज की चार मुख्य प्रेरिताई कार्यों; सुसमाचार प्रसारण, शिक्षा, स्वास्थ्य सेवा तथा समाज सेवा एवं धर्मसंघ के 11 आयोगों के माध्यम से कलीसिया की सेवा करते हुए भ्रातृत्व की ओर आगे बढ़ने का निर्णय लिया गया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

राँची, मंगलवार, 12 जनवरी 2021 (वीएनएच)- संत अन्ना की पुत्रियों के धर्मसंघ राँची की आठ दिवसीय व्यवसायिक महासभा 2021, संत अन्ना जेनेरालेट लोवाडीह, राँची में 4-11 जनवरी 2021 तक सम्पन्न हुई।

महासभा में चारों प्रोविंस; मध्यप्रदेश, गुमला, राँची एवं जलपाईगुड़ी से कुल 59 धर्मबहनों ने भाग लिया। श्रद्धेय फादर जोसेफ मरियानुस कुजूर ये.स. राँची प्रोविंस ने चैपटर गाईड के रूप में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया।

व्यवसायिक महासभा का मुख्य उद्देश्य था – सम्पूर्ण धर्मसमाज से प्रेषित प्रस्तावों पर चर्चा करते हुए धर्मसमाज को नई दिशा देना। महासभा की प्रतिभागी धर्मबहनों ने संस्थापिका ईश सेविका मेरी बेर्नादेत्त प्रसाद किसपोट्टा के मनोभवों को ध्यान में रखते हुए युग की मांग के अनुसार अपनी प्रेरिताई को अधिक प्रभावी एवं सशक्त बनाने पर विचार-विमर्श किया।  

उन्होंने धर्मसमाज की चार मुख्य प्रेरिताई कार्यों; सुसमाचार प्रसारण, शिक्षा, स्वास्थ्य सेवा तथा समाज सेवा एवं धर्मसंघ के 11 आयोगों के माध्यम से कलीसिया की सेवा करते हुए भ्रातृत्व की ओर आगे बढ़ने का निर्णय लिया। साथ ही स्थानीय, धर्मप्रांतीय, राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी अपनी प्रेरिताई को फलप्रद एवं अधिक प्रखर बनाने का फैसला लिया।

संत अन्ना की पुत्रियों के धर्मसंघ राँची की परमाधिकारिणी श्रद्धेय सिस्टर लीली ग्रेस तोपनो ने व्यवसायिक महासभा की समाप्ति की घोषणा करने के साथ, तीन प्रोविंसों की नई प्रोविंशल सुपीरियर्स की भी घोषणा की। इस प्रकार सिस्टर फ्लोरेंसिया मिंज मध्यप्रदेश प्रोविंस, सिस्टर एमेल्डा सोरेंग गुमला प्रोविंस और सिस्टर मंजुला किंडो राँची की नई प्रोविंशल बनीं।   

 

12 January 2021, 22:35