खोज

Vatican News
ब्रैंडन बर्नार्ड को इंडियाना के टेरे हाउते प्रायद्वीप में घातक इंजेक्शन द्वारा  मौत पर विरोध प्रदर्शन ब्रैंडन बर्नार्ड को इंडियाना के टेरे हाउते प्रायद्वीप में घातक इंजेक्शन द्वारा मौत पर विरोध प्रदर्शन  (ANSA)

यूएस धर्माध्यक्षों ने मत्युदंड अंत करने की मांग का नवीनीकृत किया

अमेरिकी धर्माध्यक्षों ने संघीय सरकार से मौत की सजा को समाप्त करने का आह्वान किया क्योंकि आगामी हफ्तों में कई मौत की सजा वाले कैदियों को फांसी की सजा का सामना करना पड़ेगा।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाशिगटन, शनिवार 12 दिसम्बर 2020 (वाटिकन न्यूज) : अमेरिका में धर्माध्यक्षों ने मौत की सजा को समाप्त करने की अपनी मांग दोहराई है, क्योंकि ट्रम्प की संघीय सरकार ने शासन के अंतिम दिनों में मृत्युदंड की गति को तेज कर दिया है।

नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बिडेन के 20 जनवरी 2021 को पद में आने से पहले आगामी हफ्तों में पांच मौत की सजा निर्धारित किए गए हैं। अगर पांच को योजना के अनुसार फांसी दे दी गई, तो जुलाई से तेरह कैदियों की मौत हो जाएगी।

यूएस धर्माध्यक्षों के घरेलू न्याय और मानव विकास समिति के अध्यक्ष, ओक्लाहोमा के महाधर्माध्यक्ष पॉल कोकले ने गुरुवार को सीबीएसएन के साथ एक साक्षात्कार में कहा कि कलीसिया मौत की सजा के इस्तेमाल के विरोध में है और संघीय सरकार द्वारा फांसी को फिर से शुरू करने पर बहुत चिंतित है।

धर्माध्यक्षों का कहना है कि "हत्या करना गलत है, सरकार को हत्या करने की अनुमति देना गलत ही नहीं, बल्कि अतार्किक है।" उन्होंने कहा कि "संत पापा फ्राँसिस का सबसे हालिया विश्वपत्र ‘फ्रातेल्ली तुत्ती’, दुनिया भर में मौत की सजा के उन्मूलन के लिए कलीसिया की प्रतिबद्धता की पुष्टि करता है।"

मृत्युदंड फिर से शुरू

संघीय सरकार ने इस सप्ताह गुरुवार और शुक्रवार को एक स्लेट के साथ फिर से मौत की सजा शुरू किया।

सुप्रीम कोर्ट द्वारा उनके मौत पर रोक लगाने से इंकार करने के बाद, 2020 में मौत की सजा मिलने वाले नौंवे कैदी ब्रैंडन बर्नार्ड को इंडियाना के टेरे हाउते प्रायद्वीप में घातक इंजेक्शन द्वारा गुरुवार शाम को मौत के घाट उतार दिया गया।

उन्हें जून 1999 में एक दंपति टॉड और स्टैकी बागले के अपहरण और हत्या का दोषी ठहराया गया था, वे दोनों आयोवा के ख्रीस्तीय युवा कार्यकर्ता थे। जिस बंदूकधारी ने दम्पति पर गोली चलाई इसकी पहचान नहीं हो पाई परंतु बर्नार्ड पर लाइटर तरल पदार्थ खरीदने और दम्पति सहित उनकी कार को आग लगाने का आरोप था। बर्नार्ड उस समय अठारह साल का था।

बर्नार्ड के वकीलों का कहना है कि जुरी में से कुछ लोग यह साबित करने के लिए आगे आए हैं कि वे मामले में मृत्युदंड के समर्थन में नहीं हैं। वकीलों का यह भी दावा है कि कुछ सबूत जो बर्नार्ड की सजा के परिणाम को बदल सकते थे, छिपा दिया गया था।

बर्नार्ड के सह-प्रतिवादी, क्रिस्टोफर वायलवा को सितंबर में मौत का सजा दी गई।

कई मशहूर हस्तियों, जीवन-समर्थक कार्यकर्ताओं, राजनेताओं और प्रसिद्ध हस्तियों ने बर्नार्ड की सजा की वकालत की, लेकिन ट्रम्प प्रशासन पर उनकी अपील का कोई असर नहीं हुआ।

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प लगभग दो दशकों से रोके गये संघीय मृत्युदंड को फिर से शुरू करने वाले पहले अमेरिकी राष्ट्रपति हैं। बर्नार्ड को मृत्यु की सजा राष्ट्रपति के चुनाव और उद्घाटन के बीच की अवधि के दौरान पहली बार किया गया।

12 December 2020, 14:20