खोज

Vatican News
टोकियो में क्रिसमस की तैयारी टोकियो में क्रिसमस की तैयारी  (ANSA)

'क्रिसमस की तैयारी में रचनात्मकता दिखाएं': क्यूबा धर्माध्यक्ष

क्यूबा के धर्माध्यक्षों का कहना है कि इस साल महामारी के कारण क्रिसमस प्रतिबंध विश्वास में बढ़ने का अवसर है। उन्होंने काथलिकों को इस साल क्रिसमस और नए साल को "अभूतपूर्व" तरीके से मनाने के लिए "रचनात्मकता" दिखाने हेतु आमंत्रित किया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

क्यूबा, बुधवार16 दिसम्बर 2020 (वाटिकन न्यूज) : क्यूबा के कथलिक धर्माध्यक्षों ने आगमन काल में अपने प्रेरितिक संदेश में काथलिकों को इस साल क्रिसमस और नए साल को "अभूतपूर्व" तरीके से मनाने के लिए "रचनात्मकता" दिखाने हेतु आमंत्रित किया और वे वर्तमान में चल रही स्वास्थ्य बाधाओं को अपने विश्वास में बढ़ने और जीने के "अवसर" के रूप में मानते हैं।

क्यूबा काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के अध्यक्ष धर्माध्यक्ष क्रिस्टियन रोडेम्बर्ग लिखते हैं, "हालांकि हम परिवार और दोस्तों के साथ क्रिसमस का अच्छा समय बिताना चाहते हैं, परंतु खुद की और एक दूसरे की रक्षा के लिए, हमें इन संपर्कों को यथासंभव सीमित करना चाहिए। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि  कोविद -19 प्रतिबंध "निष्क्रिय" नहीं होना चाहिए।"

पीड़ितों के लिए प्रार्थना

 धर्माध्यक्षों का कहना है कि सबसे पहले विश्वासियों को उन परिवारों को याद करते हुए प्रार्थना करनी है जिन्होंने अपने प्रियजनों को खो दिया है, या कोविद -19 से गंभीर रूप से बीमार है और सभी स्वास्थ्य कार्यक्ताओं के लिए प्रार्थना, जो रोग प्रभावित लोगों की सेवा में समर्पित हैं। धर्माध्यक्ष रोडेम्बर्ग ने "उन श्रमिकों के लिए प्रार्थना की, जिन्होंने अपनी नौकरियाँ खो दी हैं, वे व्यापारी जो दिवालिया घोषित कर दिये गये हैं, वे लोग जो अलगाव से पीड़ित हैं, जो सप्ताह के अंत में एक साथ मिलने का प्रबंध नहीं कर सकते हैं और गरिमामय जीवन नहीं जी पा रहे हैं।" धर्माध्यक्ष रोडेम्बर्ग उन छात्रों के लिए भी चिंतित हैं जिनके अध्ययन बाधित हो गए हैं और सभी बुजुर्ग लोग जो महामारी की चपेट में हैं और जिनमें से कई अकेलेपन से पीड़ित हैं।

वैश्विक भाईचारा

इसलिए यह संदेश सभी काथलिकों को क्रिसमस और नव वर्ष में संत पापा फ्राँसिस द्वारा उनके विश्वपत्र "फ्रातेल्ली तुत्ती" में प्रस्तावित वैश्विक भाईचारे के आदर्श को अपने परिवार, समाज और कार्यस्थलों में जीने के लिए आमंत्रित करता है। गिरजाघऱों में विश्वासियों की संख्या की सीमाओं का उल्लेख करते हुए, धर्माध्यक्ष कहते हैं कि इस वर्ष क्रिसमस मनाने के लिए स्थानीय धर्मप्रांतो और पल्लियों ने वैकल्पिक तरीकों की व्यवस्था की है।

अंत में इस कठिन समय में विश्वासियों के प्रति अपनी एकजुटता और आध्यात्मिक समर्थन व्यक्त करते हुए, क्यूबा के धर्माध्यक्ष याद दिलाते हैं कि क्रिसमस आशा का संदेश लाता है: “इज़राइल के लोगों ने एक विजयी मसीहा की प्रतीक्षा की, जबकि ईश्वर ने बेथलेहम की गौशाले में जोसेफ और मरियम की बाहों में एक बच्चे के रुप में मानवता में प्रवेश किया।”

16 December 2020, 14:39