खोज

Vatican News
डब्लिन में प्रभु के स्वर्गारोहन का  बालाल्ले पारिश गिरजाघर डब्लिन में प्रभु के स्वर्गारोहन का बालाल्ले पारिश गिरजाघर  

कोविड-19 एवं ब्रेकसिट याद दिलाते है कि हम आपस में जुड़े हैं, आयरिश कलीसिया

आयरिश कलीसिया के धर्मगुरूओं ने अपने नये साल के संदेश में कोविड-19 एवं ब्रेकसिट को हमारे आपसी संबंध का स्मारक कहा है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

आयरलैंड, बृहस्पतिवार, 31 दिसम्बर 20 (वीएनएस)- नूतन वर्ष के लिए प्रकाशित अपने संयुक्त संदेश में आयरलैंड के विभिन्न ख्रीस्तीय समुदायों के 4 नेताओं तथा कलीसियाओं की आयरिश परिषद के अध्यक्ष ने मनुष्यों के आपसी संबंध की याद दिलायी है।

विश्वास : शक्ति एवं समर्थन का स्रोत

संदेश में यह भी याद दिलाया गया है कि इस कठिन समय में विश्वास, शक्ति एवं समर्थन का स्रोत है : याजक, पुरोहित और लोकधर्मियों ने महामारी की चुनौतियों का जवाब सहानुभूति से दिया है।

नयी चुनौतियों एवं अवसरों की ओर इंगित किया है जिनका आयरलैंड एवं उत्तरी आयरलैंड 2021 में प्रतीक्षा कर रहे हैं अर्थात् ब्रेकसिट द्वारा लाये गये परिवर्तन का इंतजार, जो आपसी संबंध का एक दूसरा अनुस्मारक है। ब्रेकसिट जो नयी पृष्टभूमि लानेवाली है वह निर्माणात्मक रूप में एक साथ कार्य करने की मांग करती है।   

उत्तरी आयरलैंड शतवर्षीय जयन्ती

याद करते हुए कि आगामी वर्ष में उत्तरी आयरलैंड की स्थापना एवं 1921 में विभाजन की शतवर्षीय जयन्ती मनायी जाएगी, चार कलीसियाओं के धर्मगुरूओं का कहना है कि शताब्दी वर्ष "हमारे समुदायों के बीच अधिक चंगाई और मेल-मिलाप एवं एक-दूसरे को अधिक समझने के लिए अवसर प्रदान करेगी।" उनके अनुसार यह जिम्मेदारी से असफल होने एवं पूरे द्वीप में हिंसा पर भी एक साथ चिंतन करने का अवसर प्रदान करेगी।  

वैश्विक समुदाय से जुड़ाव

संदेश इस बात पर जोर देता है कि हमारे समुदाय से बाहर वैश्विक समुदाय तक, विशेषकर, गरीबी में जीवनयापन करनेवाले लोगों के लिए, जिनकी दैनिक चुनौतियाँ कोविड-19 संकट से भी बड़ी हैं, पड़ोसी प्रेम पर येसु के शब्द प्रासंगिक हैं जो कहते हैं कि अच्छे पड़ोसी होने के लिए हमारी एकजुट प्रतिबद्धता में, हम समुदायों और समाज के निर्माण में सुसमाचार के सेवक के रूप में अपनी भूमिका निभाते हैं जिसमें सभी जानते हैं कि वे महत्वपूर्ण हैं और जिसमें सभी समृद्ध हो सकते हैं।”

"जब हम इस नये साल की शुरूआत कर रहे हैं हम उम्मीद करते हैं कि यह साकार हो सके कि हम आपस में एक-दूसरे से जुड़े हों और बेहतर विश्व के निर्माण के लिए कार्य कर सकें। ख्रीस्तीय धर्मगुरूओं के रूप में हम उस आशा से खड़े हो सकें जिसको येसु ने हमारे लिए प्रकट किया है जो संसार की ज्योति हैं।"  

31 December 2020, 16:34