खोज

Vatican News
राँची महाधर्मप्रांत के महाधर्माध्यक्ष  टोप्पो रिक्शाचालकों को राशन देते हुए राँची महाधर्मप्रांत के महाधर्माध्यक्ष टोप्पो रिक्शाचालकों को राशन देते हुए 

कलीसिया ने झारखंड के सीएम से की ईसाई मंत्री की अपील

जेसुइट महाधर्माध्यक्ष ने इस साल क्रिसमस सादगी और भव्यता के साथ मनाये जाने और गरीबों की मदद करने को कहा। उन्होंने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से अल्पसंख्यक समुदाय के हितों की देखभाल के लिए अपने मंत्रिमंडल में एक ईसाई मंत्री को नियुक्त करने की अपील की।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

रांची, बुधवार 23 दिसम्बर 2020 (मैटर्स इन्डिया) : रांची महाधर्मप्रांत के महाधर्माध्यक्ष फेलिक्स टोप्पो एस.जे. ने अपने लोगों को यह सुनिश्चित करने की सलाह दी है कि इस साल क्रिसमस सादगी और भव्यता के साथ मनाया जाए। महाधर्माध्यक्ष टोप्पो ने मीडिया को बताया, “हम इस साल पहली बार यहां बालक येसु की चरनी देखने आने वाले लोगों का स्वागत करते हैं, जो इस साल पहली बार सार्वजनिक तौर पर देखने के लिए खोले जाएंगे। महाधर्माध्यक्ष ने उनसे अनुरोध किया कि वे अपने साथ कोई केक, उपहार या फूल न लायें।

ईसाई मंत्री की नियुक्ति हेतु अपील

सहायक धर्माध्यक्ष थियोदोर मस्कारेन्हास ने अल्पसंख्यक शिक्षण संस्थानों को चलाने में कलीसिया के सामने आने वाली कुछ समस्याओं पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा, "हम अपने स्कूलों में शिक्षकों के खाली पदों को नहीं भर सकते हैं, क्योंकि पिछली सरकार ने मंजूरी में देरी के कारण शिक्षण में बाधा डाली थी," लेकिन उन्होंने कहा कि सोरेन सरकार इस मामले को देख रही है।

“झारखंड में कोई ईसाई मंत्री नहीं है। मैं मुख्यमंत्री से अपील करता हूँ कि वे अल्पसंख्यक समुदाय के हितों को देखें।

क्रिसमस सादगी के साथ

महाधर्माध्यक्ष टोप्पो ने काथलिकों को भी सलाह दी कि वे अपने घरों को सजाने या पटाखे फोड़ने पर पैसा खर्च न करें। इसके बजाय, गरीबों को दान करना चाहिए।

धर्माध्यक्ष मस्कारेन्हास ने कहा कि उन्होंने रांची के रिक्शा चालकों को क्रिसमस के मौके पर लोयोला ग्राउंड में दोपहर के भोजन में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया है। यह आयोजन उस सामाजिक कार्य के अनुरूप होगा जिसमें आश्रय गृह और सामुदायिक रसोईघर चलाकर महामारी के दौरान कार्य किया गया है।

महाधर्माध्यक्ष ने यह भी सुझाव दिया कि बेथलहम के एकल तारा को सजाकर और पुरानी सामग्री का उपयोग करके घर पर चरनी तैयार किया जा सकता है ताकि बचाए गए धन को दान किया जा सके। उन्होंने कहा, "यह बहुत कठिन समय है और हम सभी को गरीबों और जरूरतमंदों की मदद करने की अपनी पूरी कोशिश करनी चाहिए।"

धर्माध्यक्ष मस्करेनहास ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण सामाजिक दूरी को देखते हुए अधिक भक्तों को समायोजित करने के लिए अतिरिक्त पवित्र मिस्सा समारोह का आयोजन किया गया है, घर से पवित्र मिस्सा में शामिल होने के इच्छुक लोगों के लिए दो ऑनलाइन मिस्सा भी आयोजित किए जाएंगे। हालाँकि, राज्य सरकार ने गिरजाघरों में 200 से अधिक लोगों को अनुमति नहीं दी है। खुली हवा में पवित्र मिस्सा में  300 विश्वासी भाग ले सकेंगे।

झारखंड के ‘ऑल चर्च लीडर्स काउंसिल’ ने 22 दिसंबर को ‘सिटी होटल’ में क्रिसमस का आयोजन किया जिसमें विभिन्न चर्चों के वरिष्ठ पदाधिकारी और राज्य के विधायक शामिल हुए। बच्चों ने क्रिसमस कैरोल गाया और प्रभु येसु के जीवन और शिक्षाओं के आधार पर अभिनय प्रस्तुत किया।

23 December 2020, 13:07