खोज

Vatican News
फिलीपींस में गोनी तूफान से तबाही फिलीपींस में गोनी तूफान से तबाही  (ANSA)

सुपर तूफान गोनी से पीड़ित हजारों लोगों की मदद करती कलीसिया

फिलीपींस में 1 नवम्बर को आये सुपर तूफान गोनी से बुरी तरह प्रभावित लोगों को शरण देने हेतु फिलीपींस के गिरजाघरों के द्वार खोल दिये गये हैं।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

फिलीपींस, मंगलवार, 3 नवम्बर 2020 (ऊकान्यूज)- अधिकारियों के अनुसार यह तूफान विश्व में सबसे तेज तूफान रही है जिसमें 20 लोग मारे गये और करीब 3,50,000 लोगों को अपने घरों से भागना पड़ा है।

सुपर टाइफून हैयान द्वारा 2013 में 6,000 से अधिक लोगों के मारे जाने के बाद, 278 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार के साथ, यह फिलीपींस के सबसे शक्तिशाली तूफानों में से एक है।

अलबे के राज्यपाल फ्राँसिस बिकारा ने कहा, "हमारे प्रांत में करीब 7 लोग मारे गये। उनमें से दो, पाँच साल के थे और उनके पिता बाढ़ में डूब गए, जबकि कई अन्य ज्वालामुखी की कीचड़ के साथ बह गए।"

उन्होंने बतलाया कि भूस्थलन ने घरों को दफना दिया, सेतुओं और सड़कों को नष्ट कर दिया। क्षेत्र में कई लोगों को बिजली के बिना रहना पड़ा है।  

फिलीपीन्स सरकार ने प्रांत के कृषि क्षेत्र में लगभग 1.1 बिलियन पेसोस (यूएस $ 22 मिलियन) के नुकसान का अनुमान लगाया, जिसमें चावल के खेत नष्ट हो गए और कई नारियल के पेड़ उखड़ गए।

कृषि विभाग के सचिव विलयम डार ने कहा, "करीब 20,000 हेक्टर खेत और 20,000 किसान प्रभावित हुए हैं।

सोरसोगोन धर्मप्रांत के फादर त्रेब फूटोल ने कहा कि उनकी पल्ली ने सूप किचन खोला और उसके माध्यम से उन लोगों को भोजन प्रदान किया, जिन्हें अपने घरों को छोड़ना पड़ा है और जो सब संतों का पर्व मना रहे थे।  

तुग्वेगाराओ धर्मप्रांत के फादर रनहिलियो अक्वीनो ने तूफान से प्रभावित लोगों की मदद करने की अपील की है। उन्होंने सोशल मीडिया के माध्यम से कहा, "अनेक लोग...ठंढ से ठिठुर रहे हैं, न बिस्तर है और न घर। कई लोग अपने प्रियजनों को खोने के कारण शोक मना रहे हैं जबकि अपने पास जो थोड़ा है उसे बचाने की कोशिश में लगे हैं।"

कारितास के प्रमुख धर्माध्यक्ष जोश कोविन बागाफोरो ने कहा कि कलीसिया का सामाजिक विभाग, राहत सामग्रियाँ प्रदान करने में स्थानीय कारितास कार्यालयों की मदद कर रहा है।

उन्होंने कहा कि वे पीड़ितों को राहत वस्तुओं के तेजी से और कुशल वितरण को सुनिश्चित करने के लिए तूफान से प्रभावित धर्मप्रांतों में सामाजिक कार्य केंद्रों के संपर्क में है।

धर्माध्यक्ष ने कहा, "कारितास, इससे (तूफान) क्षतिग्रस्त धर्मप्रांतों को, यदि और जब आवश्यक हो, वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए तैयार है।"

03 November 2020, 15:37