खोज

Vatican News
बाढ़ में डूबा वियतनाम का एक प्रांत बाढ़ में डूबा वियतनाम का एक प्रांत  (HOCAU091532709)

वियतनाम के धर्माध्यक्षों द्वारा बाढ़ पीड़ितों की मदद की अपील

वियतनाम के ग्यारह केंद्रीय प्रांत बाढ़ और भूस्खलन की मार झेल रहे हैं। मोलवे तूफान इस क्षेत्र में सिर्फ अक्टूबर में तबाह करनेवाला चौथा तूफान है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वियतनाम, शनिवार, 31 अक्टूबर 2020 (वीएन)- वियतनाम के काथलिक धर्माध्यक्षों ने तूफान और बाढ़ से पीड़ित लोगों की मदद करने का आह्वान किया है।

वियतनाम आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने 29 अक्टूबर को बतलाया कि 28 अक्टूबर को तूफान ने तबाही मचायी जिसके कारण घातक भूस्खलन की एक श्रृंखला शुरू हो गई। तेज़ हवा और विनाशकारी बाढ़ में वियतनाम के 11 केंद्रीय प्रांतों के लगभग 40 लोग मारे गए, करीब 45 लोग घायल हो गये और 47 लोग लापता हैं। 1,00,000 घर तथा 200 सार्वजनिक सुविधाएँ ध्वस्त अथवा क्षतिग्रस्त हो गये हैं। करीब 5,500 हेक्टर जमीन की फसल नष्ट हो चुकी है।  

हा तिन्ह धर्मप्रांत

हा तिन्ह धर्मप्रांत तीन सबसे अधिक प्रभावित धर्मप्रांतों में से एक हैं, वहाँ के धर्माध्यक्ष पौल गुएन थाई होप ने विश्व के लोगों एवं नजदीक की पल्लियों की सराहना की है जो 6 अक्टूबर से ही बाढ़ से प्रभावित लाखों लोगों को मानवीय सहायता प्रदान कर रहे हैं।  

धर्माध्यक्ष ने कहा कि आपातकालीन राहत आपूर्तियों की आवश्यकता है किन्तु अन्य तरह की सहायता एवं पीड़ितों के लिए उनकी आजीविका को जल्द बहाल करने और भविष्य में प्राकृतिक आपदाओं से बचने के लिए सतत विकास समाधान भी आवश्यक हैं। धर्माध्यक्ष होप ने कहा कि पल्लियाँ जो बाढ़ से प्रभावित नहीं हैं वे 1 नवम्बर को सब संतों के पर्व के दिन फंड जमा करेंगे। धर्मप्रांत उस फंड को पीड़ितों के जीवन को  सामान्य स्थिति में लाने के लिए प्रयोग करेगा।

उन्होंने काथलकों का आह्वान किया है कि वे सभी लोगों को चाहे वे किसी भी आस्था के क्यों न हों राहत सहायता प्रदान करें क्योंकि वे हमारे भाई और बहन हैं एवं ईश्वर की संतान हैं।

लौदासो सी और जलवायु परिवर्तन

हा तिन्ह और क्वांग बिन्ह प्रांतों के धर्माध्यक्ष ने काथलिकों का आह्वान किया है कि वे संत पापा फ्राँसिस के विश्व प्रेरितिक पत्र लौदातो सी को पढ़ें एवं उसका अभ्यास करें। उन्होंने कहा कि विश्व पत्र, पर्यावरण, हमारी माता का सम्मान, उसकी देखभाल एवं रक्षा करना सिखलाती है क्योंकि ऐसा करने के द्वारा ही हम सारी सृष्टि के साथ सौहार्द एवं शांति से जी सकते हैं।  

धर्माध्यक्ष होप ने बड़े पैमाने पर वनों की कटाई, जलविद्युत बांधों के निर्माण और बांधों से जल की गैर-जिम्मेदाराना प्रवाह की निंदा की है। उन्होंने बाढ़ पीड़ितों के लिए प्रार्थना करने का आग्रह किया है ताकि वे इस कठिन समय का सामना कर सकें। उन्होंने उपकारकों के लिए ईश्वर के आशीष की कामना की है।

काथलिक उदारता संगठन कारितास

हा तिन्ह कारितास के अनुसार पीड़ितों को पैसे की जरूरत है ताकि वे अपनी चिकित्सा करा सकें, घरों का निर्माण और मरम्मत कर सकें, बीज खरीद सकें और अपनी जीविका के लिए उपाय कर सकें।

कारितास निदेशक फादर जॉन बपतिस्त गुएन हे तुअन ने उका समाचार को बतलाया कि उनका पहला काम था बाढ़ पीड़ित 39 पल्लियों के लोगों को मुफ्त में चिकित्सा प्रदान करना जो प्रदूषित बाढ़ के जल में कई दिनों से रह रहे हैं।

उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य कार्यक्रम के लिए करीब 50,000 डॉलर की जरूरत है जिसको उनके कार्यकर्ता 31 अक्टूबर से शुरू कर रहे हैं। फादर तुअन ने सभी लोगों से आग्रह किया है कि वे कार्यक्रम के लिए उदारता पूर्वक दान करें।

31 October 2020, 13:10