खोज

Vatican News
वेनेजुएला  के धर्माध्यक्ष वेनेजुएला के धर्माध्यक्ष 

वेनेजुएला धर्माध्यक्षों ने विरोध प्रदर्शन का समर्थन किया

वेनेजुएला में फैली सार्वजनिक सेवाओं में गिरावट के खिलाफ प्रदर्शनों में, देश के धर्माध्यक्षों ने आर्थिक और राजनीतिक संकट से बाहर निकलने के लिए सरकार की अक्षमता की निंदा की है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वेनेजुएला, शनिवार 17 अक्टूबर 2020 (वाटिकन न्यूज) :  वेनेजुएला के काथलिक धर्माध्यक्षों ने दक्षिण अमेरिकी राष्ट्र में विरोध प्रदर्शनों के प्रति अपना समर्थन प्रकट किया है। गुरुवार को जारी एक प्रेरितिक पत्र में, धर्माध्यक्षों ने कहा कि प्रदर्शनकारी अपने "शांतिपूर्ण विरोध के संवैधानिक अधिकार" का प्रयोग कर रहे हैं।

जमीनी स्तर पर विरोध आंदोलन

सार्वजनिक सेवाओं में गिरावट और पुरानी ईंधन की कमी के खिलाफ ग्रामीण कस्बे उराकीके में सितंबर के अंत में विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया। बुनियादी सेवाओं और खाद्य आपूर्ति न मिलने के कारण शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने वालों ने अपना गुस्सा जाहिर किया।

एक सप्ताह के भीतर आंदोलन वेनेजुएला के अन्य हिस्सों में फैल गया था। निकोलस मादुरो की सरकार ने आंसू गैस और रबर की गोलियों का उपयोग करते हुए प्रदर्शनों को तोड़ने के लिए सैनिकों को बुलाया।

पीड़ित नागरिक

वेनेजुएला के धर्माध्यक्षों का सम्मेलन 13 से 15 अक्टूबर तक था। इस सम्मेलन में धर्माध्यक्षों ने अपनी आवाज उठाते हुए कहा कि विरोध आंदोलन स्थानीय और स्वाभाविक तरीके से उभरा था। वेनेजुएला के लोग "अपने सही बुनियादी दावों का जवाब नहीं मिलने के कारण थक गए थे और बार-बार किए गए वादों या प्रस्तावों से ठगा हुआ महसूस करते हैं। राष्ट्रीय कार्यकारी संगठनों ने देश की गंभीर समस्याओं के समाधान खोजने में असमर्थता का प्रदर्शन किया है और उनके कार्य बदतर होते जा रहे हैं।

धर्माध्यक्षों ने भी विपक्षी दलों को भी फटकारा, जो कि विभाजित हैं। "दोनों पक्षों ने एक राष्ट्रीय परियोजना पेश की है जो वेनेजुएला के अधिकांश लोगों को एकजुट होकर न्याय, स्वतंत्रता और शांति में जीने के लिए प्रेरित कर सकती है।"

बेवजह  चुनाव

वेनेजुएला के धर्माध्यक्षों ने भी 6 दिसंबर को होने वाले चुनाव के लिए अपना विरोध व्यक्त किया।

उन्होंने कहा, "राजनीतिक स्थिति के लिए एक लोकतांत्रिक समाधान में योगदान करने की बजाय, वे इसे बदतर बना रहे हैं,"

"जब लोगों को महामारी के प्रभाव का सामना करना पड़ रहा है तो चुनाव कराना अनैतिक है, निर्वाह के लिए आवश्यक परिस्थितियाँ बढ़ रही हैं, और चुनावी प्रक्रिया में नियमों और निगरानी प्रणाली में कोई पारदर्शिता नहीं है।"

शांतिपूर्ण विरोध को समर्थन

अंत में, धर्माध्यक्षों ने वेनेजुएला के सभी क्षेत्रों के नागरिकों के लोकतांत्रिक अधिकारों को बहाल करने के लिए मिलकर काम करने का आह्वान किया।

इसीलिए, उन्होंने निष्कर्ष निकाला, "हमें शांतिपूर्ण, नागरिक और सामाजिक विरोध का समर्थन करना चाहिए, जो आज पूरे देश में फैला हुआ है।"

17 October 2020, 14:59