खोज

Vatican News
मालावी के राजदूत महाधर्माध्यक्ष जॉनफ्रांको (दांये) मालावी के राजदूत महाधर्माध्यक्ष जॉनफ्रांको (दांये) 

मलावी : 2 महीने में डाकुओं द्वारा तीसरे गिरजाघर पर हमला

नानासमा समुदाय पर सशस्त्र डाकुओं के हमले के बाद, मंगोची के धर्माध्यक्ष मोंटफोर्ट स्टिमा ने अपने नागरिकों और काथलिक गिरजाघर की रक्षा के लिए मालावियन सरकार से अपील किया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

मालावी, बुधवार 14 अक्टूबर 2020 (वाटिकन न्यूज) : मालावी में कलीसिया के नेताओं ने सरकारी अधिकारियों से अपने नागरिकों का सुरक्षा उपायों को बढ़ाने और काथलिक गिरजाघरों की रक्षा हेतु अपील की। पिछले कुछ महीनों में अपराधियों के हमलों में तेजी आयी है।

यह अपील पिछले सप्ताह सशस्त्र डाकुओं द्वारा हमले के मद्देनजर हुई है, जिन्होंने मालावी के मंगोची धर्मप्रांत में मचिंगा जिले के नानसामा में एक पल्ली समुदाय पर हमला किया और गिरजाघर को अपवित्र किया था।

दो महीने के अंतराल में काथलिक पल्लियों और संस्थानों पर यह तीसरा हमला है।

नानासमा पर हमला

नानासमा में पल्ली पुरोहित, फादर मैथ्यू लिकंबेल के रिपोर्ट अनुसार, 7 अक्टूबर की रात, घुसपैठियों ने गार्ड पर धातु की छड़ से हमला किया और परिसर में प्रवेश करने से पहले उसे रोक दिया।

तब सशस्त्र डाकुओं ने कनोसियन धर्मबहनों के कॉन्वेंट का दरवाजा तोड़ा और अंदर घुस गये। उन्होंने कीमती सामान ले लिया, साथ ही पवित्र यूखारिस्ट को भी ले गये। उन्होंने पल्ली पुरोहित का ठिकाना जानने के लिए धर्मबहनों पर भी दबाव डाला।

फादर लिकंबेल ने कहा "डाकुओं द्वारा कनोसियन धर्मबहनों पर हमला करने के बाद, मैं डर में रात बिताता था। “वे मुझे ढूंढ रहे थे। उन्होंने यह जानने के लिए उनपर दबाव डाला कि मैं कहाँ था, लेकिन वे कहती रहीं कि मैं कॉन्वेंट में नहीं था।”

अंत में डाकुओं ने नकदी, एक लैपटॉप, सेल फोन और पवित्र यूखारिस्ट को लेकर भाग गये।

धर्माध्यक्ष की अपील

इस खबर से परेशान होकर, मंगोची के धर्माध्यक्ष मोंटफोर्ट स्टिमा ने सरकार से "काथलिक गिरजाघरों सहित मालावी के नागरिकों की सुरक्षा के लिए हर संभव प्रयास करने का आह्वान किया।" उन्होंने कहा, "हालांकि मुझे पता है कि सरकार और पुलिस हर निजी घर की सुरक्षा नहीं कर सकती है।"

इसलिए, धर्माध्यक्ष ने सभी से इस तरह के हमलों की पुनरावृत्ति को रोकने के लिए मिलकर काम करने की अपील की।

दो महीने में तीसरा हमला

सितंबर में, लिलोंग्वे महाधर्मप्रांत में संत पाट्रिक पल्ली और मैंगोची के धर्मप्रांत में कांकाओ पल्ली में सशस्त्र डाकुओं ने हमला किया था।

कांको की पल्ली पर सितंबर के हमले के बाद, धर्माध्यक्ष स्टिमा ने एक बयान जारी किया जिसमें मानगो धर्मप्रांत में विश्वासियों को एक नौविना प्रार्थना में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया था। 14 सितंबर से प्रार्थना शुरु हुई। 

14 October 2020, 14:53