खोज

Vatican News
पृथ्वी दिवस ब्राजील पृथ्वी दिवस ब्राजील 

आम घर की देखभाल में हम सबकी भूमिका, यूके धर्माध्यक्ष

इंग्लैंड और वेल्स धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के लिए पर्यावरण के प्रमुख धर्माध्यक्ष जॉन अर्नोल्ड ने ‘सृष्टि के मौसम’ के बारे में और अपने धर्मप्रांत सलफोर्ड में आम घर की देखभाल हेतु किये गये कामों के बारे में साझा किया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वेल्स, बुधवार 09 सितम्बर 2020 (वाटिकन न्यूज) : सृष्टि का मौसम अब अच्छी तरह से चल रहा है, विभिन्न कलीसियाई समुदायों द्वारा हमारे आम घर के संरक्षण में अनेक कार्यों और प्रार्थनाओं का आयोजन किया जा रहा है।

 मौसम के बारे में संत पापा फ्राँसिस ने कहा, "यह हमारी प्रार्थना को प्रेरित करने वाला मौसम है," हमारी जीवन शैली पर विचार करने के लिए एक मौसम "और एक मौसम" भविष्यवाणियां करने के लिए ... साहसी निर्णयों के लिए ... पृथ्वी मृत्यु की ओर नहीं, लेकिन जीवन की ओर निर्देशित करती है।”

पारिस्थितिक जागरूकता

केवल पिछले सप्ताह, पारिस्थितिक विशेषज्ञों के एक समूह के साथ दर्शकों के दौरान, संत पापा फ्राँसिस ने इस तथ्य का स्वागत किया कि "पारिस्थितिकी का मुद्दा तेजी से सभी स्तरों पर सोचने के तरीकों और राजनीतिक तथा आर्थिक विकल्पों को प्रभावित करने लगा है, भले ही वह कितना भी जल्दी किया जाए, हम अभी भी बहुत धीमी गति से कर रहे हैं। ”

इंग्लैंड के उत्तर पश्चिम में स्थित सल्फोर्ड धर्मप्रांत के धर्माध्यक्ष जॉन अर्नोल्ड हैं, तथा इंग्लैंड और वेल्स के धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के लिए पर्यावरण समिति के प्रमुख भी हैं। वाटिकन न्यूज से हुए साक्षात्कार में उनहोंने बताया कि पिछले दो वर्षों में धर्माध्यक्ष ने अपने प्रेरितिक पत्र में पल्लियों और स्कूलों को पर्यावरण संकट को और अधिक गंभीरता से लेने के लिए और अपने दैनिक जीवन में छोटे बदलाव करने हेतु प्रेरित किया है।

उन्होंने पर्यावरणीय स्थिरता को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से अपने धर्मप्रांत में, सृष्टि की देखभाल पर एक परियोजना शुरू करके संत पापा फ्राँसिस की चुनौती का भी जवाब दिया है।

यह पूछे जाने पर कि क्या लोगों को ग्रह पर होने वाले नुकसान और पृथ्वी की देखभाल के महत्व के बारे में पता है, धर्माध्यक्ष अर्नोल्ड ने कहा कि लोग अब अधिक जागरूक हो रहे हैं। निश्चित रूप से ब्रिटेन में मीडिया में अक्सर बहुत अधिक समाचार होते हैं, न केवल मौसम के बारे में, बल्कि जलवायु परिवर्तन के संदर्भ में मौसम का प्रभाव: तूफान, सूखा, जंगल इत्यादि पर भी। "

शिक्षा का महत्त्व

धर्माध्यक्ष ने बताया कि  पर्यावरण के प्रति जागरुकता को आगे बढ़ाने का सबसे पुरस्कृत पहलुओं में से एक है, स्कूलों और विशेष रूप से प्राथमिक स्कूलों में प्रतिक्रिया।

"मुझे लगता है कि हर स्कूल पर्यावरण के बारे में बहुत अधिक जागरूक है, इसके बारे में बहुत ज्यादा उत्साहित है, सभी को पर्यावरण के नुकसान के बारे में बहुत सकारात्मक तरीके से शिक्षित किया जा रहा है। उन्हें प्रकृति की देखभाल किस तरह से करना है उसके बारे बताया जाता है। सात और आठ साल के बच्चे बड़ी उत्सुकता और आनंद के साथ परियोजना में भाग लेते हैं।"

‘लौदातो सी’ परियोजना

पांच साल पहले संत पापा फ्राँसिस का प्रेरितिक उद्बोधन लौदातो सी': हमारे आम घर की देखभाल, प्रकाशित हुआ था।

दस्तावेज़ पूरे वैश्विक समुदाय को यह पहचानने के लिए प्रेरित करता है कि हर व्यक्ति कैसे एक दूसरे से जुड़ा हुआ है और एक-दूसरे पर निर्भर है, साथ ही साथ उस पृथ्वी पर भी जिसमें हम सभी रहते हैं।

इस 5 वीं वर्षगांठ को चिह्नित करते हुए, समग्र मानव विकास हेतु गठित परमघर्मपीठीय विभाग ने लौदातो सी का विशेष वार्षिक उत्सव शुरू किया है जो 24 मई 2021 तक चलेगा।

उन्होंने कहा, "पल्लियों और स्कूलों में पर्यावरण और जैव विविधता जैसे मुद्दों के बारे में बताया जाता है। फिलहाल हम अपने कार्बन पदचिह्न को मापने के उद्देश्य से एक परियोजना को बढ़ावा दे रहे हैं ताकि हम इंग्लैंड और वेल्स में अपने कार्बन उत्सर्जन को कम करने की नीति का पालन करने के लिए उम्मीद कर सकें।"

09 September 2020, 15:11