खोज

Vatican News
रात के समय मनिला महागिरजाघर का दृष्य रात के समय मनिला महागिरजाघर का दृष्य 

छः माह बाद अब मनिला का महागिरजाघर विश्वासियों के लिए खुल जाएगा

कोविड-19 प्रतिबंधों में ढील दिये जाने के साथ ही फिलीपींस की कलीसिया 16 सितम्बर को अपने महागिरजाघर को विश्वासियों के लिए खोल देगी जहाँ सीमित संख्या में विश्वासी प्रवेश कर पायेंगे।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

मनिला, मंगलवार, 14 सितम्बर 20 (वीएन)- धार्मिक सभाओं में प्रतिबंध पर सरकार द्वारा ढील दिए जाने की घोषणा के साथ  निष्कलंक गर्भागमन महागिरजाघर, जिसको मनिला का महागिरजाघर भी कहा जाता है, खोल दिया जाएगा।

महागिरजाघर के फेसबुक पेज पर जारी एक संदेश में महागिरजाघर खोले जाने की जानकारी देते हुए कहा गया है, "मनिला महागिरजाघर में, देश की माता कलीसिया, यूखरिस्तीय समारोह में आपका स्वागत करती है, जब हम अपना द्वारा सार्वजनिक रूप से बुधवार 16 सितम्बर 2020 को खोलने वाले हैं।"

सीमित संख्या

सरकार के नियम अनुसार, देश की राजधानी क्षेत्र में पड़नेवाले गिरजाघर अभी भी आम सामुदायिक तालाबंदी के अंदर आते हैं और अतः इसकी शक्ति से मात्र 10 प्रतिशत लोग ही ख्रीस्तीयाग में भाग ले सकते हैं।

फेसबुक पोस्ट में कहा गया है कि मनिला महागिरजाघर में करीब 800 व्यक्ति के लिए स्थान है अतः हर मिस्सा में 80 विश्वासी भाग ले सकेंगे। रविवार के दिन विश्वासी प्लाजा रोमा से भी ख्रीस्तयाग में भाग ले सकते हैं जहाँ पवित्र परमप्रसाद का वितरण किया जाएगा।   

महागिरजाघर में दैनिक मिस्सा अर्पित किया जाएगा जहाँ गिरजाघर के अंदर मास्क और चेहरे का कवच होना अनिवार्य बताया गया है।

मिस्सा का सीधा प्रसारण

उन विश्वासियों के लिए जो व्यक्तिगत रूप से महागिरजाघर के ख्रीस्तयाग में भाग नहीं ले पायेंगे, महागिरजाघर के फेसबुक पेज और यूट्यूब चैनल पर ख्रीस्तीयाग का सीधा प्रसारण जारी रहेगा।

महागिरजाघर में सामुहिक ख्रीस्तयाग समारोह पिछले मार्च महीने से ही स्थगित था जब कोरोना वायरस महामारी के कारण सरकार ने तालाबंदी की घोषणा की थी।

मंगलवार को धन्य कुँवारी मरियम के जन्म दिवस के अवसर पर एक दिन के लिए महागिरजाघर के द्वार को खोल दिया गया था।

कोरोना वायरस टोल

फिलीपींस में सोमवार को कोरोना वायरस से 259 लोगों की मौत हुई। यह कोविड-19 शुरू होने के बाद से एक दिन में मरनेवालों की सबसे बड़ी संख्या है। इसके साथ ही मरने वालों की कुल संख्या 4,630 हो गई है। सोमवार को 24 घंटे के अंदर 4,699 लोग संक्रमित हुए और कुल संक्रमितों की संख्या 2,65,888 है। मनिला में अब तक 154 लोगों की मौत हुई है।

मनिला महागिरजाघर

मनिला महागिरजाघर का इतिहास 16वीं शताब्दी पुराना है जिसका दौरा दो संत पापाओं ने किये हैं, संत पापा जॉन पौल द्वितीय पहले संत पापा थे जिन्होंने 17 फरवरी 1981 को यहाँ ख्रीस्तीय अर्पित किया था। उसके 34 साल बाद संत पापा फ्राँसिस ने 16 जनवरी 2015 को महागिरजाघर में ख्रीस्तयाग अर्पित किया, जब वे श्रीलंका एवं फिलीपींस में प्रेरितिक यात्रा पर थे।

मनिला महागिरजाघर मनिला महाधर्मप्रांत का मुख्य गिरजाघर है। कार्डिनल लुईस अंतोनियो ताग्ले, लोकधर्मियों के सुसमाचार प्रचार हेतु गठित परमधर्मपीठीय धर्मसंघ अध्यक्ष एवं कारितास इंटरनैशनल के अध्यक्ष, इस महागिरजाघर के पूर्व महाधर्माध्यक्ष हैं। पिछले फरवरी माह में उनके वाटिकन जाने के बाद, सहायक धर्माध्यक्ष ब्रोडरिक पाबिल्लो, प्रेरितिक विकर के प्रशासक का कार्य भार संभाल रहे हैं।

15 September 2020, 16:40