खोज

Vatican News
अमाजोन वर्षावन अमाजोन वर्षावन  (AFP or licensors)

हम व्यक्तिगत एवं सामाजिक मन-परिवर्तन के लिए प्रार्थना करें, चेलम

सृष्टि की देखभाल हेतु विश्व प्रार्थना दिवस के लिए प्रेषित संदेश में लातीनी अमरीका के काथलिक धर्माध्यक्षों (चेलम) ने हमारे आमघर की देखभाल हेतु काम करने की प्रतिबद्धता को पुष्ट किया है। संत पापा फ्राँसिस के प्रेरितिक विश्व पत्र लौदातो सी की प्रकाशना के पाँच साल पूरा होने पर चेलम ने भी विश्वासियों को निमंत्रण दिया है कि वे इस मिशन को आगे बढ़ाने के लिए बल, आशा और प्रेरणा प्राप्त करने हेतु प्रेरितिक पत्र को पुनः पढें।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

लातीनी अमरीका, बृहस्पतिवार, 3 सितम्बर 20 (वीएन)- लातीनी काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन ने सृष्टि की देखभाल हेतु विश्व प्रार्थना दिवस को मनाने के लिए, कलीसियाई समुदाय को प्रोत्साहन दिया है कि वे समर्पण एवं ठोस भाव के साथ सृष्टि की अच्छाई के कार्य में संलग्न हों।

उन्होंने दो चीजें करने की सलाह दी हैं – प्रार्थना जो आमघर की देखभाल हेतु आधारभूत उपाय है तथा संत पापा फ्राँसिस के प्रेरितिक विश्व पत्र लौदातो सी का पुनः अध्ययन।

चेलम के अध्यक्ष त्रुतिल्लो के महाधर्माध्यक्ष मिग्वेल काब्रेजोस विदीते ने संदेश में कहा, "संत पापा के मनोरथ के साथ जुड़कर हम प्रार्थना द्वारा सृष्टि की देखभाल सुनिश्चित करते हैं, साथ ही साथ, कई अन्य गतिविधियों को करते हैं जो हमारे महादेश में आमघर की देखभाल को बढ़ावा देने के लिए पहले से विद्यामान है।"

एक नया रचनात्मक प्रतिबद्धता

पेरू के महाधर्माध्यक्ष ने याद किया कि संत पापा फ्राँसिस ने जोर दिया है कि यह वार्षिक दिवस सभी विश्वासियों और समुदायों को याद दिलाता है कि यह सृष्टि के रक्षक के रूप में हमारे व्यक्तिगत समर्पण को नवीकृत करने का बहुमूल्य अवसर है। ईश्वर को उनके अनुठे कार्यों के लिए धन्यवाद देना है कि उन्होंने उसकी देखभाल करने का कार्य हमें सौंपा है।

प्रेरितिक पत्र लौदातो सी जिसका पाँचवाँ वर्षगाँठ है, चेलम के अध्यक्ष के लिए यह प्रेरणा का स्रोत है कि हम निर्माण के लिए हमारी जिम्मेदारी के बारे में अधिक से अधिक जागरूकता की खोज में सहयोग करने के लिए हमारे नैतिक दायित्व पर चिंतन करें।

अंततः महाधर्माध्यक्ष काब्रजोस ने यह आम जागरूकता लाने को कहा है कि पर्यावरण संकट लोगों के कार्यों का परिणाम है। अतः उन्होंने लोगों को प्रार्थना करने का प्रोत्साहन दिया है कि वे प्रभु से आध्यात्मिक बल प्राप्त करें, जो हरेक व्यक्ति और समाज में मन-परिवर्तन लाता है।

03 September 2020, 15:42