खोज

Vatican News
बेरुत में सरकार का विरोध करते देशवासी बेरुत में सरकार का विरोध करते देशवासी  (AFP or licensors)

अंतरराष्ट्रीय कारितास के महासचिव लेबनान में

बेरुत के पीड़ित लोगों के साथ कलीसिया की एकजुटता और राहत प्रयासों के समन्वय के लिए, अंतरराष्ट्रीय कारितास के महासचिव अलोसियुस जॉन लेबनान में हैं और वे 17 सितम्बर तक वहाँ रहेंगे।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

बेरुत, सोमवार 14 सितम्बर 2020 (वाटिकन न्यूज) : बेरूत के बंदरगाह में विनाशकारी विस्फोट की घटना को हुए एक महीने से अधिक हो गया है। इस घटना में 220 से अधिक लोग मारे गए, 6000 घायल हुए और कम से कम 300,000 विस्थापित हुए। काथलिक कलीसिया की मौजूदगी बेरुत शहर और आसपास के क्षेत्रों में जारी है, जो जमीनी स्तर पर जरूरतमंद लोगों की हर तरह से सहायता प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

इसी वजह से अंतरराष्ट्रीय कारितास के महासचिव अलोसियुस जॉन ने शनिवार को लेबनान की यात्रा की। वहां वे धार्मिक नेताओं और स्थानीय और क्षेत्रीय कारितास कार्यालयों के सदस्यों के साथ बैठकों में भाग लेंगे। । जॉन गुरुवार, 17 सितंबर तक बेरूत में रहेंगे, ताकि मानवीय सहायता के साथ-साथ पुनर्निर्माण और विकास कार्यक्रमों को बेहतर ढंग से व्यवस्थित और समन्वित किया जा सके जहां उन्हें सबसे ज्यादा जरूरत है।

 4 अगस्त को बेरुत के बंदरगाह क्षेत्र में बड़े पैमाने पर विस्फोट ने घरों, स्कूलों, देखभाल केंद्रों और अस्पतालों को नष्ट या क्षतिग्रस्त कर दिया। वहाँ के लोग पहले से ही गंभीर राजनीतिक और आर्थिक संकट और कोविद -19 के कारण एक मानवीय संकट के घेरे में थे।

संत पापा की निकटता

संत पापा फ्राँसिस ने बार-बार लेबनान के लोगों के प्रति अपनी निकटता व्यक्त की है। संत पापा द्वारा लेबनान के लिए प्रार्थना और उपवास के दिन का आह्वान और विस्फोट के ठीक एक महीने बाद वाटिकन राज्य सचिव, कार्डिनल पिएत्रो पारोलिन की यात्रा से देश में ठोस एकजुटता आई है।

दुनिया भर के कई कलीसियाओं ने भी प्रार्थना और एकजुटता के विशेष क्षणों का आयोजन किया है, जबकि दुनिया भर में स्थानीय कारितास कार्यालयों ने जरूरतमंद लोगों के लिए एक धन उगाहने वाला अभियान शुरू किया है।

बैठकें और रसद

मारोनाइट प्राधिधर्माध्यक्ष कार्डिनल बेचरा बुतरोस रा बिश और धर्माध्यक्ष माइकेल अवोन उन धार्मिक नेताओं में से हैं जिनके साथ जॉन का मुलाकात करना तय है।

वाटिकन रेडियो के साथ एक साक्षात्कार में, अंतरराष्ट्रीय कारितास संचार निदेशक, मरथा पेट्रोसिलो ने कहा कि जॉन की उपस्थिति ने स्थानीय कलीसियाओं के साथ मिलकर काम करने के वाटिकन की प्रतिबद्धता को उजागर किया है।

उसने कहा कि हालांकि बेरूत में लेबनान कारितास कार्यालय विस्फोट से प्रभावित हुआ था, लेकिन इसके स्वयंसेवक लोगों की मदद करने के लिए जुट गए हैं।

मरथा पेट्रोसिलो ने कहा कि लोगों की मदद के लिए दिन-रात 800 से अधिक युवा काम कर रहे हैं। वे एक दिन में लगभग 10,000 लोगों के लिए भोजन तैयार कर वितरित करते हैं और बहुत आवश्यक दवाओं को भी वितरित करते हैं। मनोवैज्ञानिक सहायता की भी गारंटी है। स्वयंसेवक लोगों को अपने घरों को साफ करने में और जहां भी संभव हो, उन्हें टिकाऊ परिस्थितियों में वापस लाने में मदद कर रहे हैं।

दाताओं की एकजुटता

पेट्रोसिलो ने कहा कि विस्फोट से पहले ही, देश में गंभीर आर्थिक संकट और राजनीतिक अस्थिरता के कारण सामाजिक-आर्थिक स्थिति काफी बिगड़ गई थी। देश की 70% आबादी बेरोजगार थी। उन्हें अपनी जीविका के लिए सहायता की आवश्यकता थी। इसके अलावा, विस्फोट से 140 से अधिक स्कूल क्षतिग्रस्त हो गए हैं और अब मदद की बहुत आवश्यकता है।

पेट्रोसिलो ने दाताओं की उदारता और एकजुटता के लिए आभार व्यक्त किया, जो कारितास के काम को संभव बना रहे हैं।

14 September 2020, 15:33