खोज

Vatican News
नाइजीरिया के धर्माध्यक्ष नाइजीरिया के धर्माध्यक्ष 

नाइजीरिया: 40 दिन की प्रार्थना स्वतंत्रता दिवस की संध्या तक

नाइजीरिया में ख्रीस्तियों की लगातार हत्याओं को देखते हुए काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन ने देश में 40 दिवसीय प्रार्थना-काल घोषित किया है जो 22 अगस्त से शुरू हुआ और 30 सितंबर 2020 को देश की स्वतंत्रता दिवस समारोह की पूर्व संध्या तक जारी रहेगा।

माग्रेट सुनीता मिंज - वाटिकन सिटी

आजूबा, सोमवार 24 अगस्त 2020 (वाटिकन न्यूज) : “नाइजीरिया में हत्याएं लंबे समय से चली आ रही हैं। वे बहुत चिंताजनक हैं। नाइजीरिया के धर्माध्यक्षों ने चालीस दिन की प्रार्थना की अवधि घोषित की है जो सितंबर के अंतिम दिन समाप्त होगी। फिर 1 अक्टूबर को देश भर में आम प्रार्थना सभा का आयोजन किया जाएगा, जो देश की स्वतंत्रता दिवस भी है।” उक्त बात वाटिकन न्यूज के एंड्रिया डी एंजेलिस के साथ एक साक्षात्कार में अबूजा महाधर्मप्रांत के काथलिक संचार निदेशक फादर पैट्रिक अलुमुकु ने कही। वे नाइजीरियाई काथलिक-सीसीटीवी के निदेशक भी हैं।

नाइजीरिया को बचाने के लिए प्रार्थना

प्रार्थना की अवधि के दौरान, नाइजीरियाई धर्माध्यक्षों ने सभी काथलिकों से रोज एक ‘हे पिता हमारे’, तीन ‘प्रणाम मरिया’ और ‘पवित्र त्रित्व की बड़ाई’ की प्रार्थना करने को कहा। उन्होंने 1 अक्टूबर (नाइजीरिया के स्वतंत्रता दिवस) पर, सभी विश्वासियों को "नाइजीरिया को बचाने हेतु ईश्वर से "दुख के भेद की रोजरी माला प्रार्थना करने का आग्रह किया है। नाइजीरियाई लोग अपनी सुरक्षा को लेकर सरकार की अक्षमता से निराश हैं।

चालीस दिन की प्रार्थना अवधि ज्यादातर लगातार बोको हराम और फुलानी चरवाहों और अन्य अपराधिक गिरोहों द्वारा किए गए आतंकवादी हमलों की पृष्ठभूमि के खिलाफ आती है। हमले उत्तरी नाइजीरिया में विशेष रूप से उग्र हैं जिसमें अक्सर ईसाई ही अंधाधुंध हिंसा का शिकार होते हैं। तबाही और हिंसा के कारण हजारों निर्दोष नागरिक अब आंतरिक रूप से नाइजीरिया में विस्थापित हो गए हैं या उन्होंने पड़ोसी देशों में शरण ली है। गांवों और सार्वजनिक स्थानों पर साधारण नाइजीरियाई महिलाओं और लड़कियों की हत्याओं, बम विस्फोटों और अपहरण के विरोध में लगातार असुरक्षा की भावना से ग्रस्त हैं।

फादर अलुमुकु ने वाटिकन न्यूज को बताया कि नाइजीरिया में हत्याएं सरकार के हस्तक्षेप के बिना लंबे समय से चली आ रही हैं। नाइजीरियाई, विशेष रूप से ईसाई, अब संघर्ष करते-करते थक गए हैं और निराश हैं क्योंकि कई वादों के बावजूद, अधिकारी व्यापक असुरक्षा को रोकने में विफल रहे हैं।

उन्होंने कहा कि नाइजीरियाई सरकार में कुछ तत्व देश की सुरक्षा स्थिति को संभालने के लिए सरकार की जड़ता को देखते हुए आतंकवादियों का समर्थन कर सकते हैं।

नाइजीरिया में शांति के लिए अपील

संत पापा फ्राँसिस की प्रार्थना नाइजीरियाई लोगों के विश्वास को बनाए रखती है।

फादर एलुमुक ने जोर देकर कहा, "संत पापा फ्राँसिस ने 15 अगस्त माता मरिया के स्वर्गारोहन के दिन देवदूत प्रार्थना के उपरांत नाइजीरिया में शांति के लिए अपील करते हुए प्रार्थना की थी। संत पापा ने कहा, "आज मैं विशेष रूप से नाइजीरिया के उत्तरी क्षेत्र की आबादी, हिंसा और आतंकवादी हमलों के शिकार लोगों के लिए प्रार्थना करना चाहूंगा।"   फादर अलुमुकु ने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से नाइजीरिया सरकार पर दबाव बनाने में शामिल होने की अपील की कि नाइजीरिया में ईसाई (भी) शांति से रह सकें।"

24 August 2020, 13:22