खोज

Vatican News
संत गाब्रिएल मिशन गिरजाघर पर हमला के बाद पल्लीवासी प्रार्थना करते हुए संत गाब्रिएल मिशन गिरजाघर पर हमला के बाद पल्लीवासी प्रार्थना करते हुए  (ANSA)

काथलिक गिरजाघरों में हमला अमरीकी धर्माध्यक्षों का जवाब

अमेरिका के काथलिक धर्माध्यक्षों ने गिरजाघरों के तोड़फोड़ एवं आगजनी की बढ़ती घटनाओं के प्रति प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए भ्रम और घृणा का जवाब समझदारी और प्यार से देने का आग्रह किया है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

अमरीका, बृहस्पतिवार, 23 जुलाई 20 (वीएनएस)- अमरीका के काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन ने काथलिक गिरजाघरों, प्रतिमाओं और अन्य धार्मिक प्रतीकों पर हो रहे हमलों की अनेक घटनाओं के जवाब में एक बयान जारी किया है।

मियामी के महाधर्माध्यक्ष थॉमस वेनस्की और ओक्लाहोमा सिटी के महाधर्माध्यक्ष पौल कोआक्ले के बयान में कहा गया है कि हमारा देश अपने आपको, संस्कृतिक संघर्ष के एक असाधारण समय में पा रहा है।

तोड़-फोड़ एवं विनाश की घटनाएँ

अमरीका के काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के धार्मिक स्वतंत्रता समिति एवं घरेलू न्याय एवं मानव विकास समिति के अध्यक्ष ने हाल में हुई हिंसक घटनाओं की याद दिलायी जिसमें फ्लोरिडा में हुआ हमला भी शामिल है जब एक चालक ने अपने कार से गिरजाघर पर टक्कर मारा था तथा उसपर आग लगाने की कोशिश की थी। धर्माध्यक्ष ने कहा कि विगत दिनों येसु ख्रीस्त एवं धन्य कुँवारी मरियम की कई प्रतिमाओं को तोड़ा और अपवित्र किया गया था।     

जुलाई माह के शुरू में लोस एंजेल्स में संत गाब्रिएल के ऐतिहासिक मिशन गिरजाघर को भी आग द्वारा नष्ट किया गया था और इसके कारण का पता अब भी नहीं लग पाया है।

उद्देश्य अस्पष्ट

महाधर्माध्यक्ष ने कहा, "क्या इन कामों को अंजाम देनेवाले लोग परेशान थे, जो मदद की खोज कर रहे थे या नफरत फैलाने वाले एजेंट थे जो डराने-धमकाने की कोशिश कर रहे थे। हमले संकेत हैं कि समाज को चिकित्सा की जरूरत है।"

यह स्वीकार करते हुए कि घटनाओं के पीछे की मंशा स्पष्ट नहीं है, महाधर्माध्यक्ष का कहना है कि वे जिम्मेदार लोगों के लिए प्रार्थना कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम इसके लिए सतर्क रहें।

जवाब घृणा से नहीं, प्रेम से

बयान में महाधर्माध्यक्ष ने जोर दिया है कि आगे बढ़ने का रास्ता येसु और उनकी माता द्वारा सिखलायी गई करुणा एवं समझदारी होना चाहिए। उन्होंने तोड़-फोड़ के बदले, येसु के प्रेम पर चिंतन करने का प्रोत्साहन दिया।    

उन्होंने कहा, "हमारे प्रभु के उदाहरणों का अनुसरण करते हुए हम भ्रांति को समझदारी और घृणा को प्रेम से जवाब दें।"

23 July 2020, 16:40