खोज

Vatican News
विरोध प्रदर्शनकारियों को खिलाफ़ ट्रम्प प्रशासन ने तैनात किये सुरक्षा कर्मी विरोध प्रदर्शनकारियों को खिलाफ़ ट्रम्प प्रशासन ने तैनात किये सुरक्षा कर्मी 

अमरीकी धर्माध्यक्षों द्वारा काथलिक स्थलों पर हमलों की निन्दा

संयुक्त राज्य अमरीका के काथलिक धर्माध्यक्षों ने गिरजाघरों के अपवित्रीकरण तथा आगजनी की बढ़ती घटनाओं की रिपोर्टों पर प्रतिक्रिया दर्शाते हुए, भ्रम और घृणा के जवाब में समझदारी और प्रेम का आग्रह किया है।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

वाशिंगटन, शुक्रवार, 24 जुलाई 2020 (सी.एन.आ.): संयुक्त राज्य अमरीका के काथलिक धर्माध्यक्षों ने गिरजाघरों के अपवित्रीकरण तथा आगजनी की बढ़ती घटनाओं की रिपोर्टों पर प्रतिक्रिया दर्शाते हुए, भ्रम और घृणा के जवाब में समझदारी और प्रेम का आग्रह किया है।

अमरीकी काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन ने काथलिक गिरजाघरों, प्रतिमाओं एवं अन्य धार्मिक प्रतीकों पर हमलों को दृष्टिगत रख बुधवार को एक वकतव्य जारी कर कहा, "हमारा राष्ट्र सांस्कृतिक संघर्ष की एक असाधारण घड़ी से गुज़र रहा है।"

बर्बरता और विनाश के कृत्य

मैयमी के महाधर्माध्यक्ष थॉमस वेन्स्की तथा ओखलाहोमा सिटी के महाधर्माध्यक्ष पौल कॉकली ने वकतव्य में हाल के दिनों में धार्मिक स्थलों के खिलाफ़ अनगिनत हमलों पर खेद व्यक्त किया। इन हमलों में वह हमला भी शामिल है जिसमें, फ्लोरिडा में एक गाड़ी चालक ने अपनी कार को एक गिरजाघर में घुसा कर गिरजाघर को आग के हवाले करने का प्रयास किया था। धर्माध्यक्षों ने इस बात की ओर ध्यान आकर्षित कराया कि हाल के सप्ताहों में प्रभु येसु मसीह एवं मां मरियम की कई प्रतिमाओं को या तो "विरूपित कर दिया गया या फिर उनका सिर काट दिया गया"।     

इसी सिलसिले में, जुलाई माह के आरम्भ में लॉस एन्जेलस स्थित सन्त गाब्रिएल मिशन चर्च को भी आग के हवाले कर दिया था, जिसके कारणों का अभी भी पता नहीं लगाया जा सका है।  

अभिप्राय अस्पष्ट

महाधर्माध्यक्षों ने कहा, "जो लोग इन कृत्यों को करते हैं, वे या तो मदद के लिए रोते हैं अथवा  लोगों को परेशान करने एवं नफरत फैलाने वाले होते हैं जिनका मकसद लोगों में दहशत फैलाना होता है।"

यह मानते हुए कि घटनाओं के पीछे की मंशा स्पष्ट नहीं है, महाधर्माध्यक्षों ने कहा कि वे ज़िम्मेदार लोगों के लिए प्रार्थना कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि ये हमले इस बात का संकेत हैं कि समाज को चंगाई की नितान्त आवश्यकता है।

घृणा का उत्तर प्रेम

अपने बयान में, महाधर्माध्यक्षों ने इस तथ्य पर बल दिया कि  "आगे का रास्ता येसु और उनकी पवित्र माँ द्वारा  सिखाई गई करुणा और समझदारी के माध्यम से होना चाहिए।" हमलावरों के विनाश के बजाय महाधर्माध्यक्षों ने "ईश्वर के प्रेम के इन उदाहरणों की छवियों" पर चिंतन को प्रोत्साहित किया।

24 July 2020, 10:55