खोज

Vatican News
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर  (AFP or licensors)

15 जुलाई से स्कॉटलैंड के गिरजाघरों में सामूहिक धर्म-विधि शुरु

स्कॉटलैंड में कोविद -19 संकट के कारण लगाए गए प्रतिबंधों में अब ढील दे दी गई है। 15 जुलाई से सभी गिरजाघरों में पवित्र मिस्सा सम्पन्न किये जा सकते हैं।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

स्कॉटलैंड, बुधवार 15 जुलाई 2020 (वाटिकन न्यूज) : स्कॉटलैंड के काथलिक धर्माध्यक्षों ने सरकार द्वारा बुधवार 15 जुलाई से गिरजाघऱों में सामूहिक मिस्सा समारोह को फिर से शुरू करने की अनुमति का स्वागत किया है।

9 जुलाई को, स्कॉटिश फर्स्ट मिनिस्टर निकोला स्टर्जन ने कोविद-19 संकट के कारण लगाए गए प्रतिबंधों को शिथिल करने की घोषणा की।

स्कॉटलैंड में महामारी के दूसरे चरण में प्रतिबंधों की छूट के रूप में गिरजाघऱों को निजी प्रार्थनाओं के लिए मध्य जून में आंशिक रूप से खोल दिया गया था, हालांकि, सांप्रदायिक पूजन विधियों पर प्रतिबंध लगा दिया गया था।

नवीनतम कदम पर टिप्पणी करते हुए, स्कॉटिश धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के अध्यक्ष, बिशप ह्यूग गिल्बर्ट ने कहा, "पिछले महीने से, हमारी पल्लियाँ मिस्सा समारोह के लिए तैयारी कर रहे हैं। मिस्सा समारोह कलीसियाई जीवन के केंद्र में है।

प्रतिबंध का पालन जरुरी

 गिरजाघरों में सांप्रदायिक प्रार्थना की अनुमति है लेकिन वहाँ अभी भी प्रतिबंधों का पालन किया जाना जरुरी है।

गिरजाघरों में विश्वासियों को शारीरिक दूरी बनाये रखना है, और पांच साल से कम उम्र के बच्चों को छोड़कर, सभी को मास्क पहनना जरुरी है। गिरजाघरों में अधिकतम उपस्थिति 50 लोगों तक सीमित है, और पल्लियों को उपस्थित लोगों के नाम और संपर्क जानकारी दर्ज करनी चाहिए। अन्य सामुदायिक समारोहों, जैसे अंत्येष्टि, विवाह और बपतिस्मा के लिए अधिकतम 20 लोगों की उपस्थिति निर्धारित की गई है।

कृतज्ञता

धर्माध्यक्ष गिल्बर्ट ने "सार्वजनिक पूजा के लिए गिरजाघरों को तैयार करने वाले सभी लोगों के प्रति अपना आभार व्यक्त किया।"

उन्होंने उन लोगों के प्रयासों को भी मान्यता दी जिन्होंने "अपने विचारों को अपने संसदीय प्रतिनिधियों और सरकार को सांप्रदायिक पूजा के विषय में जानकारी दी।"

हालाँकि, धर्माध्यक्षों ने विश्वासियों को याद दिलाया कि वे अभी भी "रविवारीय मिस्सा में शामिल होने की अनिवार्यता से निलंबित है," जो मिस्सा में भाग लेनाचाहते हैं उनका पल्लियों में स्वागत है। "प्रत्येक पल्ली में संक्रमण नियंत्रण उपायों का पालन करते हुए, अपनी और दूसरों की रक्षा करें।”

15 July 2020, 14:14