खोज

Vatican News
अमेरिका के धर्माध्यक्ष अमेरिका के धर्माध्यक्ष 

काथलिक अलग तरह का जीवन जीने हेतु बुलाये गये हैं

वाटिकन न्यूज के साथ एक साक्षात्कार में, अमेरिकी काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन (यूएससीसीबी) की धार्मिक स्वतंत्रता समिति की अध्यक्ष ने, काथलिक संस्थाओं पर हिंसक हमलों के लिए कलीसिया की प्रतिक्रिया के रूप में "प्यार करने की आज्ञा को शामिल करते हुए समाधान" को प्रोत्साहित किया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

मियामी,शनिवार 25 जुलाई 2020 (वाटिकन न्यूज) : पुलिस हिरासत में मिनियापोलिस में जॉर्ज फ्लॉयड की हत्या के बाद अशांत महीनों का जिक्र करते हुए मियामी के महाधर्माध्यक्ष थॉमस वेन्स्की कहते हैं, "हम देश के तनावपूर्ण समय में जी रहे हैं।"

संयुक्त राज्य अमेरिका के शहरों में दैनिक गड़बड़ी देखी गई है जो अभी भी चल रही है, जिसमें " गिरजाघरों को अपवित्रीकरण करना और संपत्ति को नष्ट करना" शामिल है। वाटिकन न्यूज के साथ एक साक्षात्कार में महाधर्माध्यक्ष वेन्स्की कहते हैं कि निरंतर हिंसा और बर्बरता "चिंता का विषय है।" हालांकि, वे कहते हैं, “जैसा कि  हम समझते हैं कि इस तरह की प्रतिक्रिया का जवाब नहीं देना चाहिए और इसलिए, हम एक समाधान की तलाश करते हैं जो हमारे पड़ोसी को प्यार करने की आज्ञा को शामिल करता है,उन्हें सच्चाई से प्यार करना है और उन्हें दूसरों के लिए वही करने हेतु प्रोत्साहित करना है जैसा कि वे दूसरों द्वारा खुद के लिए कराने की इच्छा रखते हैं।"

सांस्कृतिक संघर्ष का समय

गुरुवार को यूएससीसीबी की धार्मिक स्वतंत्रता समिति की प्रमुख महाधर्माध्यक्ष वेन्स्की और यूएससीसीबी की घरेलू न्याय और मानव विकास समिति की अध्यक्ष महाधर्माध्यक्ष पॉल कोक्ले ने काथलिक साइटों पर बर्बरता और विनाश की निंदा करते हुए एक बयान जारी किया।

अपने बयान में, महाधर्माध्यक्षों ने कहा कि संयुक्त राज्य अमेरिका "सांस्कृतिक संघर्ष के एक असाधारण समय" का सामना कर रहा है। उस पुष्टिकरण के बारे में पूछे जाने पर, महाधर्माध्यक्ष वेंस्की ने स्पष्ट किया कि संयुक्त राज्य में राजनीतिक विभाजन "अभी काफी मजबूत है, और यह केंद्र में मिलने के प्रयास के बजाय दोनों तरफ चरम सीमा तक पहुंचता है।" इस तरह के ध्रुवीकरण के बाद, अगर हम एक राष्ट्र के नागरिकों के रूप में एक साथ रहने जा रहे हैं तो यह वास्तव में टिकाऊ नहीं है।"

मानवविज्ञान में अंतर

महाधर्माध्यक्ष वेन्स्की ने मानवविज्ञान में अंतर या मानव जाति की प्रकृति की समझ को सांस्कृतिक युद्ध का श्रेय दिया है। "हमारी काथलिक मानवविज्ञान, प्राकृतिक कानून परंपरा द्वारा गठित ... सच्चाई की निष्पक्षता पर मजबूत विश्वास है।" उन्होंने कहा कि विश्वास को हम विवाह जैसे संस्कारो में कैसे देखते हैं, हम यह देखते हैं कि मानवीय उत्कर्ष और परिवारों के लिए सबसे अच्छा क्या है, आदि।

उन्होंने कहा, "इन विश्वासों को जिसे संत पापा बेनेडिक्ट 'सापेक्षतावाद के वैश्वीकरण' और संत पापा फ्राँसिस 'वैचारिक उपनिवेशवाद' कहते हैं, हमले के तहत रखा गया है।" दुर्भाग्य से, महाधर्माध्यक्ष वेन्स्की कहते हैं कि विश्वास में मतभेदों को अब शांति से "शिक्षाविदों द्वारा या अन्य कार्यक्रमों" पर बहस नहीं की जा रही है। इसके बजाय, "वे इन दिनों सड़कों पर बहस कर रहे हैं।"

समाज में रहने का एक अलग तरीका

हिंसा के विरोध में, महाधर्माध्यक्ष वेंस्की कहते हैं, कि कलीसिया को "खुद को अहिंसक प्रतिक्रिया के लिए फिर से प्रतिबद्ध होना चाहिए। हम बुराई का बदला बुराई से नहीं लौटाएं।" इसलिए, "हमें समाज में रहने का एक अलग तरीका तैयार करना होगा।"

महाधर्माध्यक्ष वेंस्की ने जोर देकर कहा, "हमें सतर्क रहना होगा ताकि एसी घटनाएँ और न हो। इसका मतलब यह है कि नागरिक अधिकारियों के साथ मिलकरकाम करना होगा और यह सुनिश्चित करना होगा कि विश्वासियों और  कलीसिया की संपत्ति की रक्षा हो।

25 July 2020, 14:25