खोज

Vatican News
फादर माइकेल मैकगिवनी फादर माइकेल मैकगिवनी 

फादर माईकेल : कोरोनावायरस के शिकार व जल्द ही धन्य घोषणा

कोविड-19 के संकट काल में क्या आप किसी संत की खोज कर रहे हैं? तब फादर माइकेल मैकगिवनी आपके लिए उपयुक्त सहायक हो सकते हैं। वे नाइट्स ऑफ कोलम्बस के संस्थापक थे जिनकी मृत्यु 1890 में कोरोनावायरस महामारी के दौरान हुई थी।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

अमरीका, मंगलवार, 2 जून 2020 (वीएन)- कोरोना वायरस महामारी ने हमारे जीवन को बिलकुल बदल डाला है और उन सुरक्षाओं को भी ले लिया है जिनपर हमारा समाज कुछ हद तक टिका हुआ था।

इस कठिन समय में बहुत सारे लोग मदद करने में अर्थ की तलाश कर रहे हैं। काथलिक कलीसिया की परम्परा के अनुसार सिद्ध स्त्री और पुरूष पिता ईश्वर से विश्वासियों के लिए प्रार्थना करते हैं ताकि वे शांति के मार्ग में आगे बढ़ सकें और ईश्वर पर विश्वास में सुदृढ़ रह सकें।

कोरोना वायरस के शिकार

इस बात को ध्यान में रखते हुए पूजनीय फादर माईकेल मैकगिवनी एक अच्छे उदाहरण हैं। इस अमरीकी पुरोहित का निधन सन् 1890 में निमोनिया से हुआ था, जो कुछ विशेषज्ञों के अनुसार कोरोना वायरस के समान ही एक महामारी थी। उस समय करीब 1 मिलियन लोगों की मौत हो गयी थी।

संत पापा फ्राँसिस ने कुछ दिनों पहले फादर मैकगिवनी के योगदान को मान्यता दी है और उनकी धन्य घोषणा के रास्ते को साफ कर दिया है। फा. मैकगिवनी ने कोलम्बस के शूरवीर (नाईट ऑफ कोलम्बस) की स्थापना की थी जो भ्रातृ सेवा में काथलिक लोकधर्मियों का एक संगठन है।

फा. मैकगिवनी, हमारे लिए प्रार्थना कर

वाटिकन न्यूज के साथ एक साक्षात्कार में सुप्रीम नाईट कार्ल अंदेरशन ने बतलाया कि चमत्कार को पहचान कलीसिया के अनुकूल समय में मिली है।

उन्होंने कहा, "फादर मैकगिवनी, कई अमरीकियों और विश्व के अन्य लोगों की तरह दुःख सहे और मर गये।" इस प्रकार आज जब हम कहते हैं फादर मैकगिवनी हमारे लिए प्रार्थना कर, तब हम एक ऐसे व्यक्ति के पास जा रहे हैं जो अपनी पीड़ा के साथ यहाँ उपस्थित हैं। मैं सोचता हूँ कि उनकी प्रार्थना बिलकुल व्यक्तिगत होगी।  

उनकी पवित्रता  की पुष्टि

अंदेरशन ने कहा कि फादर मैकगिवनी की आनेवाले दिनों में धन्य घोषणा, उनके पवित्र जीवन की पुष्टि देता है और उनका जीवन लाखों लोगों के लिए एक सदी तक प्रेरणा का स्रोत रहा है। 1882 में न्यू हेवन, कनेक्टिकट में एक पल्ली में विनम्र शुरुआत से, अब कोलंबस के शूरवीरों की गिनती दुनिया भर के देशों में 16,000 से अधिक परिषदों में होती है।

अमरीका, फिलीपींस, मेक्सिको, फ्राँस, पोलैंड, यूक्रेन और कोरिया के नाईट, अपने संगठन के संस्थापक को संतत्वपूर्ण उदाहरण में विश्वास के साथ देख सकते हैं।

उन्होंने कहा, "लगभग हर दिन, हम एकता एवं भाईचारा के साथ जीने के अर्थ को गहरा करते हैं और उसमें देशभक्ति के सिद्धांत को भी जोड़ते हैं जो फादर मैकगिवनी के लिए महत्वपूर्ण था।"  

भाईचारापूर्ण उदारता

अधिक भाईचारापूर्ण समाज के निर्माण हेतु संत पापा फ्राँसिस के आह्वान के संदर्भ में नाईट ने कहा कि उनकी धन्य घोषणा जल्द ही हो जाएगी क्योंकि उदारता में उसकी अच्छी पहुँच थी।

नाईट ने कहा कि "यह सिर्फ एक बड़ा चेक लिखने या दान पेटी में कुछ और डॉलर या यूरो डालने के बारे में नहीं है बल्कि अपने पड़ोसी को भाई अथवा बहन के रूप में देखना है और जब वे कठिनाई में हैं तो उनकी मदद करना है।

काथलिक लोकधर्मियों का संगठन

इतिहास में की धार्मिक संस्थाओं की स्थापना हुई जिससे कि कलीसिया की आवश्यकताओं को पूरा किया जा सके, किन्तु काथलिक लोकधर्मी कौन हैं? उनका क्या महत्व है जो गरीबी का व्रत नहीं ले सकते क्योंकि वे विवाह करते हैं, जिनके परिवार हैं और जिन्हें काम करना एवं अपने परिवार का भरण-पोषण करना है?

नाईट ने कहा कि फादर माइकेल मैकगिवनी ने काथलिक लोकधर्मियों के लिए भ्रातृत्व का एक समुदाय बनाया, जहाँ वे दूसरे व्यक्ति से मिल सकते हैं और उन्हें अपना भाई मान सकते हैं जो एक-दूसरे को मदद करते हैं, एक-दूसरे का ख्याल रखते और कुछ हद तक एक साथ आध्यात्मिक जीवन जीते हैं।  

सुप्रीम नाईट कार्ल ने कहा कि नाईट ऑफ कोलम्बस की सफलता का यही राज है।

02 June 2020, 18:00