खोज

Vatican News
प्रार्थना करते हुए काथलिक  परिवार प्रार्थना करते हुए काथलिक परिवार  (ANSA)

पाकिस्तान: कलीसिया द्वारा भेदभावपूर्ण नौकरी विज्ञापन का विरोध

पाकिस्तानी कलीसिया के अधिकारियों ने स्थानीय पत्रिकाओं में नौकरी के विज्ञापन पर अपनी आपत्ति व्यक्त की जिसमें विशेष रूप से गैर-मुसलमानों के लिए सफाई की नौकरी की पेशकश की गई है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

कराची, बुधवार 17 जून 2020 (वाटिकन न्यूज) : कलीसिया के अधिकारियों ने अल्पसंख्यकों के प्रति भेदभावपूर्ण नौकरी विज्ञापन के प्रकाशन पर पाकिस्तान की सिंध सरकार के प्रति अपनी अस्वीकृति व्यक्त की है।

राज्य के नगर निगम (पश्चिम) कराची ने 1 जून को स्थानीय समाचार पत्रों में विभिन्न श्रेणियों की 28 नौकरियों की घोषणा की। हालांकि, इसने विशेष रूप से गैर-मुस्लिमों के लिए सफाई संबंधी नौकरियों को आरक्षित कर दिया।

इस पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए, कराची महाधर्मप्रांत के विक्टर जनरल और इसके राष्ट्रीय न्याय और शांति आयोग के निदेशक, फादर सालेह डिएगो ने अल्पसंख्यक मामलों के सरकार के प्रतिनिधि नावेद एंथोनी से मुलाकात कर आपत्तियों को व्यक्त किया और कानून निर्माता से इस मामले को देखने का अनुरोध किया।

पहली बार नहीं

फादर डिएगो ने कहा, “यह पहली बार नहीं है कि सरकारी विज्ञापनों ने धार्मिक अल्पसंख्यकों की भावनाओं को आहत किया है। यह पूरी तरह अस्वीकार्य है, ”

जून 2019 में, पाकिस्तानी सेना के अल्पसंख्यक समुदाय के प्रति भेदभावपूर्ण विज्ञापन के विरोध में ईसाई कार्यकर्ताओं ने प्रतिक्रिया दिखाई थी। बाद में सेना द्वारा विज्ञापन को वापस ले लिया गया।

फादर डिएगो ने कहा,“हमने बार-बार सरकारी अधिकारियों से अपील की है कि वे विज्ञापन देने की संस्कृति को खत्म कर दें, जो हाशिए के अल्पसंख्यकों को और अधिक कलंकित करते हैं। सिंध सरकार को विज्ञापन पर ध्यान देना चाहिए और जो लोग इसमें शामिल हैं उनके खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए। ”

अल्पसंख्यकों की नौकरी की स्थिति

ओपन डोर्स यूएसए के एक अध्ययन के अनुसार, पाकिस्तान के ईसाई अल्पसंख्यक देश के स्वच्छता कार्यबल का 80 प्रतिशत हिस्सा बनाते हैं। यह इस तथ्य के बावजूद है कि वे पाकिस्तान की कुल जनसंख्या का मात्र 1.6 प्रतिशत हैं।

उदाहरण के लिए, 2015 में, लाहौर अपशिष्ट प्रबंधन कंपनी ने अकेले 7,894 सफाईकर्मियों को नियुक्त किया, जिनमें से अधिकांश ईसाई हैं। इसी अध्ययन के अनुसार राजधानी विकास प्राधिकरण इस्लामाबाद के लिए 1,500 सफाईकर्मियों को नियुक्त किया, जो सभी ईसाई हैं।

17 June 2020, 15:19