खोज

Vatican News
लातीनी अमरीका के धर्माध्यक्ष लातीनी अमरीका के धर्माध्यक्ष 

संत पापा को लातीनी अमरीका के धर्माध्यक्षों का पत्र

लातीनी अमरीका के धर्माध्यक्षों (CELAM) ने संत पापा फ्राँसिस को पत्र लिखा है तथा उनके प्रशासन को एक अमानवीयता की राह पर बढ़ती दुनिया में, नबी का कार्य और निर्णायक परिमाण कहा है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

लातीनी अमरीका, मंगलवार, 30 जून 2020 (वीएन)- लातीनी अमरीका के धर्माध्यक्षों ने कहा है कि "जब विश्व अमानवीयता के खतरे में है तब ऐसे समय में संत पापा फ्राँसिस का, बच्चों, बुजूर्गों, रोगियों और गरीबों के प्रति सामीप्य, एक महत्वपूर्ण नबी का भाव है। यह संत पापा फ्राँसिस के प्रशासन की विशेषता है जिसपर लातीनी अमरीकी धर्माध्यक्षों ने एक खुले पत्र द्वारा प्रकाश डाला है।

29 जून को संत पेत्रुस एवं संत पौलुस का पर्व मनाया गया। पत्र में इस बात को रेखांकित किया गया है कि आज हम किस तरह "कलीसिया में एक नई जलवायु को सांस ले रहे हैं : जिसमें संत पापा फ्राँसिस की सादगी, धर्मशिक्षा एवं मनोभाव दिखा पड़ते हैं कि वास्तव में, एक कलीसिया सुसमाचार प्रचार और ख्रीस्त के लिए है, जिसके केंद्र में गरीब, छोटे और दुर्बल लोग हैं।  

उन्होंने लिखा है, "हम उस उत्साह की सराहना करते हैं जिसमें आप हमें प्रेरितिक मिशन के महत्व पर ध्यान देते हुए, आनन्द के साथ सुसमाचार का प्रचार करने के लिए अपने आप से बाहर निकलने एवं भौगोलिक और अस्तित्वगत परिधि की ओर बढ़ने के लिए प्रेरित करते हैं।"

लातीनी अमरीका के धर्माध्यक्षों ने संत पापा के प्रति इसलिए भी आभार प्रकट किया है कि उन्होंने महाद्वीप में कई यात्राएँ की हैं तथा अमाजोन के लोगों एवं वहाँ के गरीबों के लिए प्रार्थना की है और उनकी चिंता करते हैं।

उन्होंने उनके उपदेशों एवं दस्तावेजों (क्वेरिदा अमाजोनिया) के माध्यम से उनकी उत्तम शिक्षा के लिए भी धन्यवाद दिया है।  

काथलिक कलीसिया के प्रेरित संत पेत्रुस एवं संत पौलुस के पर्व दिवस पर उनके उत्तराधिकारी संत पापा फ्राँसिस को लातीनी धर्माध्यक्षों ने अपने सहयोग का आश्वासन है। उन्होंने पत्र में लिखा है, "यदि आप अपने कठिन काम से थकान महसूस करें, तब हम आपको बतलाना चाहते हैं कि विश्व में लाखों हाथ आपको मदद करने के लिए तैयार हैं, लाखों हाथ स्वर्ग की ओर उठकर प्रतिदिन आपके लिए प्रार्थना कर रहे हैं।" धर्माध्यक्षों ने संत पापा को अपनी निरंतर प्रार्थनाओं का आश्वासन दिया है।

30 June 2020, 15:57