खोज

Vatican News
ग्रीस के शरणार्थी ग्रीस के शरणार्थी  (AFP or licensors)

धर्माध्यक्षों द्वारा शरणार्थियों की सुरक्षा की अपील

विश्व अंतर्राष्ट्रीय शरणार्थी दिवस के दिन अमेरिकी धर्माध्यक्षों ने इस समय सबसे अधिक संवेदनशील लोगों की सुरक्षा और उनका साथ देने की अपील की।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार 20 जून 2020 (वाटिकन न्यूज) : आज विश्व अंतर्राष्ट्रीय शरणार्थी दिवस की 20वीं वर्षगांठ है, पूरे विश्व में इस दिन को शरणार्थियों की समस्याओं को उजागर करने के रूप में मनाया जा रहा है। अमेरिका के काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन की शरणार्थी समिति के अध्यक्ष धर्माध्यक्ष मारियो ई डोर्सनविल ने अंतर्राष्ट्रीय शरणार्थी दिवस के अवसर पर कहा,"पहले से कहीं ज्यादा इस समय हमें अपने शरणार्थी भाइयों और बहनों की रक्षा करने और उनका साथ देने की आवश्यकता है। "बहुत से संवेदनशील लोग हैं जो वर्तमान में उत्पीड़न से बचने में असमर्थ हैं और जो भयानक परिस्थितियों में रहते हैं। धर्माध्यक्ष ने कोविद -19 महामारी द्वारा बढ़ाए गए संकट को रेखांकित करते हुए संत पापा फाँसिस के हवाले से कहा, "हम इतने सारे निर्दोष लोगों के दुख का सामना करने के लिए संवेदनाहारी हृदय के साथ असंवेदनशील नहीं रह सकते हैं। हम मदद नहीं कर सकते तो भी उनके साथ रो सकते हैं। हम प्रतिक्रिया करने में विफल नहीं हो सकते" (प्रवासी और शरणार्थी के विश्व दिवस के लिए पवित्र मिस्सा)। 29 सितंबर 2019) "।

धर्माध्यक्ष डोर्सनविल कहते हैं कि शरणार्थियों के बीच सबसे अधिक चिंताजनक स्थिति महिलाओं, बच्चों, बुजुर्गों, बीमारों की है। यहां तक ​​कि धार्मिक उत्पीड़न से भागे शरणार्थियों की हिंसा जारी है और कुछ मामलों में, उनके विश्वास के कारण उनहें मौत का सामना करना पड़ता है। धर्माध्यक्ष डोर्सनविल ने कहा, ʺहम शरणार्थियों की नाजुकता और हमारी खुद की मानवीय क्रूरता को पहचानते हैं। हम अपने समुदाय, समाज और देश में शरण मांगने वालों के साथ मानवीय और दयालुता के साथ पेश आने का आग्रह करते हैं।ʺ

20 वीं अंतर्राष्ट्रीय शरणार्थी दिवस

संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा 1951 में शरणार्थी सम्मेलन को मंजूरी की गई। इसी की याद में वर्ष 2000 में संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा अंतर्राष्ट्रीय शरणार्थी दिवस स्थापित किया गया। हम इस वर्ष अंतर्राष्ट्रीय शरणार्थी दिवस की 20 वीं वर्षगांठ मना रहे हैं। अमेरिका के काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन की वेबसाइट पर लिखा गया है, "दुनिया दूसरे विश्व युद्ध के बाद 70 मिलियन से अधिक विस्थापित लोगों के साथ, 25 मिलियन शरणार्थियों और 13 मिलियन बच्चों सहित सबसे बड़े प्रवासन संकट का सामना कर रही है।" वर्तमान में संयुक्त राज्य अमेरिका में शरँर्शियों की संख्या 18 हजार से उपर है।

20 June 2020, 15:12